कांग्रेस में सभी शक्तियों का केन्द्र सोनिया गांधी

लखनऊ। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की सांगठनिक निर्वाचन प्रक्रिया लगभग अंतिम चरण में है। उत्तर प्रदेश में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्वाचित डेलीगेट्स ( सदस्य ) का अधिवेशन प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के प्रांगण में सम्पन्न हुआ। राज्यसभा सांसद एवं कांग्रेस कार्य समिति सदस्य प्रमोद तिवारी ने प्रस्ताव पेश करते हुए कहा कि प्रदेश अध्यक्ष, राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं समस्त पदाधिकारियों को चुनने का समस्त अधिकार राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिया जाता है। प्रस्ताव का अनुमोदन पूर्व प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री, पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना’’, विधायक वीरन्द्र चौधरी, पूर्व विधानमंडल दल नेता प्रदीप माथुर, पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व सांसद बृजलाल खाबरी, सहित प्रदेश से आये समस्त डेलीगेट्स ने हाथ उठाकर जोरदार समर्थन किया। इस मौके पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस चुनाव प्राधिकरण के सहायक प्रदेश निर्वाचन अधिकारी रामेश्वरम डूडी जी ने अध्यक्षता की।  

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता कृष्णकांत पाण्डेय ने जानकारी देते हुए बताया कि उक्त प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए राज्यसभा सांसद एवं कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य प्रमोद तिवारी जी ने कहा कि आज देश विकट परिस्थितियों से गुजर रहा है। कांग्रेस ही एक ऐसी पार्टी है जहां ब्लाक से लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष तक का चुनाव होता है, केवल कांग्रेस में ही लोकतांत्रिक प्रक्रिया अपनायी जाती है, हम कांग्रेसजनों को इस पर गर्व है। कांग्रेस जब आजादी की लड़ाई लड़ रही थी तब बरतानिया हुकूमत के सामने घुटने टेकने वाले लोग आज देश की हुकूमत में हैं। आज उसी तरह की लड़ाई कांग्रेस पार्टी एक बार फिर भारत जोड़ने के लिए लड़ रही है, ‘‘अंग्रेजों भारत छोड़ो’’ आन्दोलन का विरोध करने वाले लोग आज देश की सत्ता में काबिज हैं, और देश को धर्म, जाति के नाम पर नफरत फैलाकर विखंडित करने का काम कर रहें हैं, ऐसे वक्त में कांग्रेस नेतृत्व सोनिया गांधी जी को मजबूती प्रदान करना हर कांग्रेस डेलीगेट्स का कर्तव्य है।

प्रमोद तिवारी ने पूरे प्रदेश से आये समस्त पीसीसी/एआईसीसी सदस्यों से प्रस्ताव के समर्थन के बारे में पूछा तो सभी ने हाथ उठाकर जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रस्ताव का पुनः समर्थन किया। साथ ही कहा कि हमें अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष पर विश्वास है और देश के लिए कांग्रेस आवश्यक है।प्रस्ताव का अनुमोदन करते हुए पूर्व प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री जी ने कहा कि आज खंडित करने वाली ताकतों से हम लड़ रहें हैं, भारत जोडो यात्रा में राहुल गांधी जी के समर्थन में पूरा देश आज सड़क पर निकल पड़ा है। सोनिया गांधी जी, राहुल गांधी जी, प्रियंका गांधी जी के नेतृत्व में भारत एक जुट होकर किसान, नौजवान, बेरोजगार, विरोधी ताकत को सत्ता से हटाने का काम करेंगे। श्री खत्री ने आगे कहा कि मोदी, मायावती, मुलायम, आवैसी पर कभी भी ईडी, सीबीआई, की रेड नहीं पड़ती, यह एक सिक्के के दो पहलू हैं।

प्रवक्ता कृष्णकांत ने आगे बताया कि अधिवेशन के उपरान्त विधान मंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ‘‘मोना’’ जी ने प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि आजादी के आन्दोलन से अब तक कांग्रेस मजबूती से जनता की भावनाओं के अनुरूप चली आ रही है, सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद लोकतांत्रिक प्रणाली का सम्मान कांग्रेस में ही होता है। आज पीसीसी/एआईसीसी सदस्यों ने सर्वसमत्ति से प्रस्ताव पारित कर राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी जी को अधिकृत किया कि प्रदेश से देश तक समस्त पदों पर पदाधिकारी चयन में जो भी निर्णय आप द्वारा लिये जायेंगे हम सब उसे स्वीकार करेंगें।मोना ने आगे कहा कि यह परम्परा पहले भी रही है। आज हम ऐसे मोड़ पर हैं जहां या तो ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स के भय से डर जायें या भारत की पहचान बचाने के लिए संघर्ष करें। कांग्रेस हमेशा संघर्ष के ही रास्ते पर चली है। पूरे देश की संवैधानिक संस्थाओं का भाजपा सरकार दुरूपयोग कर रही है। आज आवश्यकता है देश बचाने के लिए हमें लड़ना है।अधिवेशन एवं प्रेस वार्ता में प्रस्तावक एवं अनुमोदकगण के अलावा राष्ट्रीय सचिव सत्यनारायण पटेल, प्रदीप नरवाल, तौकीर आलम, नीलांशु चतुर्वेदी, संजय कपूर, पूर्व मंत्री सतीश शर्मा, पूर्व विधायक सतीश अजमानी, हरीश बाजपेई, अनिल अभिताभ दुबे, राजेन्द्र सिंह सोलंकी, प्रज्ञा सिंह, सुधा मिश्रा, इत्यादि प्रमुख रहे।