सफलता छोटे-छोटे प्रयासों का योग है,यह प्रतिदिन दोहराया जाता है

राजू यादव

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर मुख्यमंत्री योगी लखनऊ में आयोजित ‘योगाभ्यास कार्यक्रम’ में पहुंच कर बोले कि हम सब आभारी हैं प्रधानमंत्री मोदी के जिन्होंने भारत की ऋषि परंपरा के इस उपहार को न केवल भारत के अंदर बल्कि दुनिया के अंदर पहुंचाया है।योग दिवस की व्यापकता और स्वीकार्यता भारत की उस अमृत भावना की स्वीकार्यता है, जिसने देश के स्वतंत्रता संग्राम को ऊर्जा दी थी।

अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस प्रतिवर्ष 21 जून को मनाया जाता है। यह दिन वर्ष का सबसे लम्बा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घायु बनाता है। पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमन्त्री श्रीमान नरेन्द्र मोदी नें 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि-“योग भारत की प्राचीन परम्परा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है; मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है; विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है। यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। तो आयें एक अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं।”

“सफलता छोटे-छोटे प्रयासों का योग है, यह प्रतिदिन दोहराया जाता है।”

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर वैलनेस पावर योगा अवेयर के तत्वाधान में आयोजित योग्य कार्यक्रम में अपर्णा यादव ने सपरिवार भाग लिया। राजधानी लखनऊ के महानगर स्थित कल्याण मंडप में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। अपर्णा यादव लगातार योग को बढ़ावा देने के लिए सक्रिय रहती हैं और बढ़ावा देना ही नहीं स्वयं वह नियमित संयमित योग को अपनाती भी हैं। यही नहीं अगर परिवार के सदस्य जागरूक रहते हैं तो उनके बच्चों में भी यह भावना स्वत: विकसित हो जाती है। अपर्णा यादव की सुपुत्री प्रथमा भी योग के गुणों को भलीभांति समझती और जानती हैं और वह भी निरंतर योग करती हैं।आज कार्यक्रम में प्रथमा ने भी संपूर्ण योग में भाग लिया।अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अपर्णा यादव ने बिहार के मुंगेर में स्थित स्कूल ऑफ योग को याद किया और कहा कि आज दुनिया में लगभग उसकी 77 से अधिक शाखाएं चल रही है। अपर्णा यादव ने निष्पक्ष दस्तक के संपादक को यह भी बताया कि आज उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में और देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है। डबल इंजन की सरकार में शिक्षित योगाचार्य भी आगे योग के लिए प्रेरित कर रहे हैं। विगत 8 वर्षों में जिस तरह से हम योग में विश्व गुरु की ओर आगे बढ़े हैं। मोदी जी की प्रेरणा से ही विश्व अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मना रहा है।

योग एक प्रकार की कला है जो हमारे शरीर,मन और आत्मा को एक साथ जोड़ता है। योग हमें मजबूत और शांतिपूर्ण बनाता है। योग आवश्यक है क्योंकि यह हमें फिट रखता है।योग हमारे तनाव को कम करने में मदद करता है और समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखता है। एक स्वस्थ मन ही अच्छी तरह से ध्यान केंद्रित करने में सहायता कर सकता है।योग या प्राणायाम से हमारे फेफड़ों को फैलने व सिकुड़ने की शक्तियों में वृद्धि होती है, जिससे अधिक से अधिक ऑक्सीजन फेफड़ों में जाती है। योग करने से रक्त संचार और रक्त की शुद्धि का कार्य अच्छी तरह होता है। श्वास क्रिया को नियंत्रित कर श्वास को स्थिर एवं शांत करने में सहायता मिलती है।

दुनियाभर में आज 8वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन लोग इकट्ठे होकर योग करते हैं और दुनिया में योग के प्रति जागरुकता फैलाने का काम करते हैं। योग का मानव जीवन में महत्व को देखते हुए हर साल 21 जून को इंटनेशनल योगा डे मनाया जाता है। इस बार भी पूरी दुनिया भारतीय योग के रंग में रंगी नजर आई, फिजी, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों के लोग योग करते नजर आए।आज सुबह करीब सवा तीन बजे सबसे पहले फिजी में योग दिवस मनाया गया। उसके बाद न्यूजीलैंड के स्काई टावर पर योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन हुआ,वहीं ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में क्विंसलैंड क्रिकेट क्लब में योगाभ्यास किया गया।सुबह करीब 4 बजे न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में योग का अभ्यास लोगों ने किया।

दुनिया में दिखा योग के प्रति क्रेज।अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सबसे पहले फिजी में लोगों ने भारतीय समय के अनुसार सुबह करीब सवा तीन बजे योग का अभ्यास किया। ये आयोजन फिजी के एल्बर्ट पार्क में किया गया था। फिजी के बाद न्यूजीलैंड में योग दिवस मनाया गया। यहां स्काई टावर पर योग का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। तो वहीं ऑस्ट्रेलिया में भी सुबह सबेरे लोगों ने योगाभ्यास किया। ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड क्रिकेट क्लब में लोगों ने योगाभ्यास किया,वहीं न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में योग का आयोजन किया गया।

[/Responsivevoice]