मौसम के बदलते मिजाज से फसलों पर लगा ग्रहण

अधिक बारिश होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें, मौसम के बदलते मिजाज से फसलों पर लगा ग्रहण।

अब्दुल जब्बार एडवोकेट व मुदस्सिर हुसैन

भेलसर(अयोध्या)। लगातार हो रही बारिश से किसानों की खड़ी फसलों को नुकसान उठाना पड़ सकता है क्यों कि बारिश रुकने का नाम ही नहीं ले रही है। बदला मौसम किसानों के लिए परेशानी का सबब बनता हुआ दिखाई दे रहा है।जब कि मौसम विभाग ने भी भारी बारिश का संकेत दिया है।ऐसे में किसान के लिए यह बारिश वरदान के बजाए नुकसान साबित सकती है।रुक रुक कर हो रही बारिश से किसानों के माथे पर चिंता साफ दिखाई दे रही है।जहां एक ओर उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत मिली वही किसानों को सोचने पर मजबूर कर रही है।इस बारिश से फसलों के फायदा व नुकसान के बारे में जानना चाहा तो कई वर्षो से खेती कर रहे अनुभवी किसान बल्लन खां ग्राम निवासी सडवा ने बताया कि इस बारिश से फायदा कम नुकसान ज्यादा उठाना पड़ सकता है।

किसानों को।क्यों कि इस समय खेतो में लगी फसल के कटने में कुछ ही समय बचा है ऐसे में यदि बारिश होती रही तो किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।तेज हवा व बारिश से फसलों में लगे फूलों को नुकसान पहुंचने से पैदावार में कमी आ सकती है।वहीँ राम अचल यादव ने बताया कि बारिश अधिक होने से सभी फसलों का नुकसान है तेज हवा व भारी बारिश से गन्ना गिर सकता है इसके साथ ही धान,उरद आदि फसलों का ज्यादा नुकसान उठाना पड़ सकता है।बताया कि अभी बरसात के दो नखत शेष बचे हैं यदि ऐसे ही बारिश होती रही तो फसल को बहुत नुकसान होगा। क्योंकि बरसात के अभी भी २२ दिन है। अब तो हर एक किसान भगवान को याद कर रहा है कि अब बारिश न हो क्योंकि अब फसलों को अधिक पानी की जरूरत नहीं अगले माह से फसल कटने लगेगी।ऐसे में किसान अब भगवान भरोसे खड़ा है।