निरीक्षण में हवा हवाई साबित हुआ मुख्यमंत्री का आदेश

जेलमंत्री को जेल मुख्यालय में नदारद मिले अफसर व कर्मचारी।औचक निरीक्षण में हवा हवाई साबित हुआ मुख्यमंत्री का आदेश।

राकेश यादव

लखनऊ। अधिकारी व कर्मचारी समय पर कार्यालय पहुँचे। समय पर कार्यालय नहीं पहुँचने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। कुछ ऐसा ही आदेश प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया। बुधवार को जेलमंत्री ने जेल मुख्यालय का औचक निरीक्षण किया। इस निरीक्षण के दौरान जेलमंत्री को कार्यालय में न तो कोई अधिकारी मिला और न है कोई कर्मचारी। सभी के सभी नदारद मिले। मंत्री ने कार्यालयों की वीडियो रिकार्डिंग की और 10 बजे बैरंग लौट गए।


मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश के कारागार एवम होमगार्ड राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार धर्मवीर प्रजापति सुबह करीब 9.30 बजे अचानक पुरानी जेल रोड स्थित जेल मुख्यालय पहुँच गए। जेल मुख्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों की मौजूदगी का निरीक्षण करने जेलमंत्री को कार्यालय में न तो कोई अधिकारी मिला और न ही कोई कर्मचारी। बताया गया है कि औचक निरीक्षण करने जेल मुख्यालय पहुँचे जेलमंत्री ने मुख्यालय में तैनात कई वरिष्ठ अधिकारियों के कार्यालयों की वीडियोग्राफी करवाई। करीब 45 मिनट तक वह मुख्यालय में रहे। इस दौरान उन्हें कार्यालय में कोई भी अधिकारी व कर्मचारी नहीं मिला।

निरीक्षण को लेकर जेलमंत्री का गोलमोल जवाब- जेल मुख्यालय के औचक निरीक्षण के सवाल पर जेलमंत्री धर्मवीर प्रजापति ने पहले कहा कि वह ट्रेनिगं कर रहे लोगों को देखने गए थे। मुख्यालय में किसी भी अधिकारी कर्मचारी के नहीं मिलने के सवाल पर उन्होंने बताया कि कार्यालय में चित्रलेखा व रवि शंकर छवि मिले थे। जेलमंत्री के औचक निरीक्षण की पुष्टि मुख्यालय में जगह-जगह लगे सीसीटीवी से की जा सकती है। मुख्यालय के कर्मियों ने जेलमंत्री के निरीक्षण की पुष्टि की है।

सूत्रों का कहना है इस औचक निरीक्षण के दौरान जेलमंत्री ने जेल मुख्यालय की सुरक्षा में लगे कर्मियों से अधिकारियों व कर्मचारियों के कार्यालय आगमन के बारे में पड़ताल भी की। पड़ताल में मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने बताया कि अधिकांश अधिकारी एवम कर्मचारी 11 बजे के बाद ही कार्यालय आते है। उन्होंने बताया कि कई अधिकारी व बाबू तो दोपहर 12 बजे तक आते है। करीव 45 मिनट तक जेल मुख्यालय में रहने के बाद जेलमंत्री बैरंग वापस हो गए।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के समस्त कार्यालयों के प्रमुखों को निर्देश दिया था कि सभी कर्मचारी और अधिकारी समय पर कार्यालय पहुँचे। इसमे लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए। जेलमंत्री धर्मवीर प्रजापति के जेल मुख्यालय के औचक निरीक्षण ने मुख्यमंत्री के निर्देशों का कितना अनुपालन सुनिश्चित किया जा रहा है इसकी पोल खोल दी है।