भावुक कर गया योगी के भावों का संवाद

81
भावुक कर गया योगी के भावों का संवाद
भावुक कर गया योगी के भावों का संवाद

भावुक कर गया योगी के भावों का संवाद। राजकीय मूक बधिर विद्यालय (संकेत) पहुंचकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिव्यांग बच्चों से मिले। भावुक कर गया योगी के भावों का संवाद

ब्यूरो निष्पक्ष दस्तक

गोरखपुर। अभिव्यक्ति सिर्फ शब्दों से नहीं व्यक्त होती बल्कि सबसे सशक्त और अर्थपूर्ण अभिव्यक्ति तो भावों की होती है। सोमवार को गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मूक बधिर दिव्यांग बच्चों के बीच भावों की अभिव्यक्ति के आदान-प्रदान का ऐसा ही अविस्मरणीय नजारा देखने को मिला। सीएम के भावों का संवाद इन बच्चों को भावुक कर गया। सीएम ने शब्दों के माध्यम से भी संवाद किया जिसे शिक्षक ने संकेतों से बच्चों को समझाया।

गोरखपुर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार पूर्वाह्न हुमायूंपुर स्थित राजकीय मूक बधिर विद्यालय (संकेत) में पढ़ने वाले बच्चों से मिलने पहुंचे। मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर इन मूक व श्रवण बाधित दिव्यांग बच्चों की खुशी का कोई ठिकाना नहीं था। काफी देर तक ताली बजाकर उन्होंने सीएम का अभिनंदन किया। बच्चों के इस आत्मीय उत्साह को देखकर सीएम योगी भी भावुक हो गए और उन्होंने हाथ उठाकर मुस्कुराते हुए सबका अभिवादन स्वीकार किया और बच्चों को खूब आशीर्वाद दिया। संकेतों में बच्चों से उनका कुशलक्षेम जानने के बाद मुख्यमंत्री ने सबको उपहार भेंट किया।

बच्चों से मुलाकात करने के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। बच्चों ने खुद से बेहतरीन कलाकृतियां, सजावटी सामान बनाए थे। मुख्यमंत्री ने बच्चों के हुनर की मुक्तकंठ से सराहना की। इस अवसर पर उन्होंने विद्यालय परिसर समेत क्लास रूम का भी निरीक्षण किया और वहां की व्यवस्था का जायजा लिया। मूक बधिर बच्चों को शिक्षा देने में प्रयोग में लाए जाने वाले उपकरणों व उनकी गुणवत्ता की जानकारी ली।

आवासीय होगा संकेत विद्यालय-मुख्यमंत्री


संकेत विद्यालय में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने छात्रों से संवाद भी किया। एक शिक्षक ने उनकी बातों को संकेतों के जरिये बच्चों तक पहुंचाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस विद्यालय में छात्रावास का निर्माण कर इसे आवासीय बनाएं। इससे आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के दिव्यांग बच्चों को काफी राहत मिलेगी। उनकी प्रतिभा का विकास होगा। आवासीय विद्यालय में बच्चों को सुरक्षित वातावरण दिया जाएगा। संकेत विद्यालय तक आवागमन की कतिपय दिक्कतों पर उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी व नगर निगम यह सुनिश्चित करें कि इस विद्यालय तक आवागमन का रास्ता मिले।


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विकलांग की बजाय दिव्यांग नाम देकर सभी दिव्यांगजन के जीवन में परिवर्तन लाने का काम किया है। पीएम मोदी के मार्गदर्शन में राज्य सरकार दिव्यांग लोगों के सम्मान व उन्हें समाज की मुख्य धारा में शामिल करने के लिए लगातार काम रही है। सीएम योगी ने कहा कि काफी दिनों बाद इस विद्यालय आकर उन्हें बेहद खुशी हो रही है। पहले इसका भवन जर्जर था, सरकार ने यहां नया भवन बनवा दिया है।मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के प्रमुख सचिव सुभाष दूबे ने कहा कि इस विद्यालय में 100 बच्चे पढ़ रहे हैं। मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुरूप जल्द ही इसे आवासीय विद्यालय कर दिया जाएगा। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं एमएलसी डॉ. धर्मेंद्र सिंह, भूपेंद्र एस. चौधरी, संकेत विद्यालय के प्रधानाचार्य व शिक्षक उपस्थित रहे। भावुक कर गया योगी के भावों का संवाद