आईजीआरएस से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण तत्काल करें-मण्डलायुक्त

अयोध्या। मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में शासन के महत्वपूर्ण प्राथमिकता कार्यक्रमों की माह अगस्त 2022 की प्रगति रिपोर्ट पर मण्डलीय समीक्षा बैठक का आयोजन आयुक्त कार्यालय सभाकक्ष में मण्डल के जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों एवं मण्डलीय अधिकारियों के साथ आयोजित की गयी। सर्वप्रथम मण्डलायुक्त ने कहा कि जिला स्तर पर उद्योग बन्धु फोरम की नियमित बैठके की जाय तथा प्राप्त शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता पूर्ण किया जाय, शिकायतकर्ता को बेवजह विभागीय अधिकारियों द्वारा परेशान न किया जाय, जिससे मण्डल में निवेश के अनुकूल माहौल बनाया जा सकें और अधिक से अधिक उद्यमी मण्डल में निवेश करें। उन्होंने विद्युत विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये कहा कि उपभोक्ताओं की शिकायतों के निस्तारण में बेवजह उपभोक्ताओं को परेशान न किया जाय तथा सिविल लाइन क्षेत्र में बार-बार ट्रिपिंग होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा जल्द सुधार लाने के निर्देश दिये तथा कहा कि वर्तमान समय में अयोध्या धाम में विभिन्न कार्य प्रगति पर है इसी समय विद्युत विभाग अपने सभी कार्यो की योजनाएं बनायें, जिससे कि बाद में विद्युत सम्बंधी कोई समस्या न उत्पन्न हो पायें।

मण्डलायुक्त ने सिंचाई विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये उन्होंने निर्देश दिये कि सभी नहरों के टेल तक पानी जरूर पहुुंचे। उन्होंने सभी मुख्य विकास अधिकारियों से कहा कि अपने सभी ब्लाक स्तरीय अधिकारियों से नहरों में पानी की उपलब्धता की स्थलीय जांच करवायें तथा इसकी जानकारी क्षेत्रीय लोगों से भी प्राप्त करें तथा निरीक्षण रिपोर्ट एक सफ्ताह के अंदर प्रस्तुत की जाय। उन्होंने कहा कि सरकारी नलकूप जो खराब होते है उन्हें तत्काल ठीक कराया जाय, यदि नलकूपो के संचालन में विद्युत की कोई समस्या है तो विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर उसका निराकरण तत्काल करवायें। उन्होंने कहा कि जो भी विभाग किसानों से जुड़े है उस विभाग के सभी अधिकारी अलर्ट मोड में रहकर कार्य करें, जिससे कि किसानों को सर्वोत्तम सुविधा दिलायी जा सकें, इस कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुये कहा कि इस योजना के सम्बंध में सभी कृषकों को जागरूक किया जाय तथा अधिकतम कृषकों को इसका लाभ जरूर दिया जाय, जिससे फसल के नुकसान की स्थिति में किसान भाईयों की हरसम्भव मदद हो सकें।

उन्होंने शासन द्वारा संचालित कन्या सुमंगला योजना के प्रगति की भी समीक्षा करते हुये कहा कि इस योजना की नियमित समीक्षा की जाय तथा इस योजना के सम्बंध में आई0जी0आर0एस0 के माध्यम से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापरक किया जाय। इस योजना से जुड़े सभी विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य कर शत प्रतिशत पात्रों को योजना का लाभ दिलायें। वृद्वावस्था पेंशन, दिव्यांग पेंशन, निराश्रित पेंशन के लाभार्थियों के आधार सीडिंग का कार्य इस माह के अन्त तक हर हाल में पूर्ण कर लिया जाय। उन्होंने शासन द्वारा चयनित किये गये आकांक्षी ब्लाकों के कार्यो की समीक्षा की। मण्डलायुक्त ने समीक्षा के दौरान सड़क एवं सेतु निर्माण, ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, विद्यालयों का निरीक्षण, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना सहित शासन की अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की संक्षिप्त समीक्षा की गयी। उन्होंने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी अपने-अपने विभाग से सम्बंधित सभी लाभार्थीपरक योजनाओं से सम्बंधित कार्य तत्परता के साथ करें, जिससे पात्र व्यक्तियों को योजना का लाभ मिल सकें। संयुक्त विकास आयुक्त श्री अरविन्द चन्द्र जैन द्वारा शासन के प्रारूपों के आधार पर बिन्दुवार विवरण प्रस्तुत किया गया।

मण्डलायुक्त ने विकास कार्यो की समीक्षा के पश्चात राजस्व कार्यक्रमों की समीक्षा राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ की गयी। इस अवसर पर जिलाधिकारी बाराबंकी डा0 आदर्श सिंह, जिलाधिकारी सुल्तानपुर रवीश गुप्ता, जिलाधिकारी अमेठी राकेश कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या, मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी, मुख्य विकास अधिकारी सुल्तानपुर, मुख्य विकास अधिकारी अम्बेडकरनगर, मुख्य विकास अधिकारी अमेठी आदि के अतिरिक्त मण्डलीय अधीक्षण अभियन्ता गण, अपर निदेशक, संयुक्त निदेशक, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या एवं अन्य सहायक निदेशक गण व मण्डल स्तरीय अधिकारी एवं सम्बंधित विभाग के प्रतिनिधियों आदि ने भाग लिया।