हर भारतीय की पहचान तिरंगा निशान और भारत का संविधान

मुल्क की व्यवस्था किसी के फरमान से नहीं, बल्कि भारतीय संविधान से चलेगी।”हर भारतीय की पहचान तिरंगा निशान और भारत का संविधान”।आप ने आज से यूपी में 1000 स्थानों पर शुरू किया तिरंगा शाखा।

लखनऊ। दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने शुक्रवार को पूरे उत्तर प्रदेश में लगभग 1000 स्थानों पर एक साथ तिरंगा शाखा आ आयोजन किया। इस बात की जानकारी देते हुए आप सांसद और उत्तर प्रदेश के पार्टी प्रभारी संजय सिंह ने मंच पर उपस्थित आशुतोष सिंगर, सभाजीत सिंह, जनक प्रसाद अन्य शाखा प्रमुख पदाधिकारियों के साथ तिरंगे के सामने राष्ट्रगान के बाद भारतीय संविधान के रचयिता डॉ. भीमराव अंबेडकर के जीवन और उनके जीवन में किये गए कार्यों और चर्चा के साथ तथा उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस दौरान प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए संजय सिंह ने कहा कि हम लोग प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते है और साथ ही साथ संविधान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जताते हैं। उन्होंने भारतीय संविधान के विभिन्न पहलुओं का जिक्र करते हुए कहा कि संविधान का सार संविधान की प्रस्तावना में मिल जाता है। भारत के संविधान को भारत के लोगों ने अंगीकार किया। उन्होने कहा कि यह हम सब लोगों के द्वारा अपनाया गया संविधान है, इसीलिए इस मुल्क की व्यवस्था किसी के फरमान से नहीं बल्कि डॉ भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाये गए भारतीय संविधान से चलेगी।


संजय सिंह ने कहा कि आजादी के बाद से ऐसे कई मौके सामने आ चुके हैं जब हमे महसूस हुआ कि भारत का संविधान, भारत का लोकतंत्र और भारत की सामाजिक व्यवस्था खतरे में है। लेकिन यह बाबा साहब द्वारा बनाए गया संविधान ही था जिसने भारत के लोकतंत्र और संविधान को बचाने का कार्य किया।उन्होंने कहा कि राजनीतिक दल और सत्ता तो आती जाती रहेंगी लेकिन बाबा साहब ने संविधान लिख कर पहले ही बता दिया कि यह देश किस व्यवस्था से किन कानूनों से चलेगा। इस दौरान संजय सिंह ने भारतीय संविधान के प्रस्तावना को पढा जिसे वहां उपस्थित अन्य लोगों ने दोहराया।