वित्तीय समृद्धि में बैंकिंग का स्थान सर्वोपरि-सांसद संगम लाल गुप्ता

तुलसीसदन सभागार में क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रम का किया गया आयोजन।वित्तीय समृद्धि में बैंकिंग का स्थान सर्वोपरि है।

प्रतापगढ़। आजादी का अमृत महोत्सव के विभिन्न कार्यक्रमों के अन्तर्गत भारत सरकार के वित्त मंत्रालय तथा एस0एल0बी0सी0 के निर्देश के तहत बैंक ऑफ बड़ौदा, भारतीय स्टेट बैंक, बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक, इण्डियन बैंक, यूनियन बैंक तथा जनपद की अन्य बैंकों की शाखाओं के सहयोग से आयोजित क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रम में विभिन्न कृषक, उद्यमी, व्यवसायिक गतिविधियों से जुड़े लोगों को रूपये 112.10 करोड़ की ऋण राशि का वितरण किया गया। जनपद में एक संस्थान को रूपये 5 लाख का ऋण भी वितरित किया गया। कार्यक्रम का आयोजन तुलसीसदन (हादीहाल) सभागार में किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद संगम लाल गुप्ता, विशिष्ट अतिथि के रूप में विधायक सदर राजेन्द्र कुमार मौर्य, मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया, उपायुक्त एनआरएलएम डा0 एन0एन0 मिश्रा, उपायुक्त उद्योग दिनेश कुमार चौरसिया, अग्रणी बैंक प्रबन्धक अमित बाजपेयी सहित बैंक ऑफ बड़ौदा क्षेत्रीय कार्यालय वाराणसी से संजय कुमार, बड़ौदा उ0प्र0 ग्रामीण बैंक प्रतापगढ़ के क्षेत्रीय प्रबन्धक केशवराम, डीडीएम नाबार्ड वृजेन्द्र कुमार आदि उपस्थित रहे।


सांसद संगम लाल गुप्ता ने सभी बैंकों एवं आयोजन के माध्यम से ऋण प्राप्त करने वाले कृषक, उद्यमी आदि के प्रति शुभकामनायें व्यक्त की। उन्होने कहा कि बैंक ऋण के सदुपयोग से और उसके सही प्रकार से अपने कार्यो के संचालन करने से न केवल व्यक्ति आर्थिक रूप से सम्पन्न बनता है बल्कि समाज में भी एक अच्छा मुकाम हासिल कर लेता है। उन्होने कहा कि वित्तीय समृद्धि में बैंकिंग का स्थान सर्वोपरि है। विधायक सदर ने राजेन्द्र कुमार मौर्य ने कहा कि व्यवसायी, उद्यमी या किसी भी क्षेत्र में कार्य करने वाला कोई भी व्यक्ति, महिला को हर रूपये की महत्ता को समझना चाहिये। यह ऋण राशि आपके आर्थिक आधार को मजबूत बनाने के लिये दिया जाता है। उसकी पूरी तन्मयता से हम अपने व्यवसाय या कार्य से जुड़ते है तो निसन्देह अच्छे परिणाम मिलेगें और हमारा मनोबल बढ़ेगा और समाज में हमें एक अच्छा स्थान भी मिलेगा।कार्यक्रम में एलडीएम अमित बाजपेयी ने बताया कि लगभग 415 लोगों को रूपये 112.10 करोड़ का ऋण स्वीकृत कर वितरित किया गया जिसमें से महिलाओं को लगभग 10.22 करोड़, अनुसूचित जाति को 3.12 करोड़ का ऋण वितरण किया गया। उन्होने बताया कि बैंकों द्वारा पीएम एसबीवाई में 31824, पीएम जेजेबीवाई में 17360 तथा एपीवाई में 35145 लाभार्थियों को आच्छादित किया जा चुका है।


तुलसीसदन सभागार परिसर में विभिन्न विषयों पर बैंक ऑफ बड़ौदा, एस0बी0आई0, इण्डियन बैंक, यूनियन बैंक, पीएनबी, बड़ौदा उ0प्र0 ग्रामीण बैंक, इण्डियन बैंक, एचडीएफसी सहित हर्ष टीवीएस, उ0प्र0 राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, बीसी सखी, सावित्री फुले स्वयं सहायता समूह, बाराही महिला आजीविका स्वयं सहायता समूह, उन्नति स्वयं सहायता समूह सण्ड़वा चन्द्रिका, रितु त्रिपाठी के द्वारा निर्मित आर्टिफिशियल ज्वेलरी, जय माँ अम्बे महिला स्वयं सहायता समूह अतरौरा, जय माँ लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह, यूटीएल सोलर निर्मल इलेक्ट्रानिक्स के द्वारा स्टाल लगाये गये जिसकी जानकारी लोगों ने प्राप्त की, समूहों के स्टाल पर खरीददारी भी की गयी। इसके साथ ही विजन इण्डिया के बैंक मित्रों को एपीवाई में उन्नत प्रदर्शन के लिये तथा बीसी सखी तथा बीसी सुपरवाइजर आदि को प्रमाण पत्र वितरण किया गया। कार्यक्रम का संचालन वित्तीय साक्षरता एवं ऋण सलाहकार शिशिर खरे द्वारा किया गया।