उच्चतर शिक्षक भर्ती घोटाले की सीबीआई जांच हो-आप

महेंद्र सिंह

लखनऊ। हाल ही में उच्चतर शिक्षा आयोग,प्रयागराज द्वारा शिक्षक भर्ती के राजनीति शास्त्र के जारी किए गए परिणाम को लेकर बहुत से अभ्यर्थियों ने आयोग पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लागये हैं। अभ्यर्थियों का कहना है कई चयनित छात्र लिखित परीक्षा में 95%-97% तक अंक पाकर टॉप किये है , लेकिन उनके वही तीन प्रश्न गलत हैं जो आयोग ने बदल दिए थे। दूसरा, एक ही परिवार के कई लोगों का, यहां तक कि सगे भाइयों का चयन हुआ है।तीसरा, एक ही क्रम के कई अनुक्रमांक के छात्रों का चयन हुआ है। अभ्यार्थियों का कहना है कि उच्चतर शिक्षा आयोग के कर्मचारियों एवं अधिकारियों की मिली भगत से पेपर आउट कराकर बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया गया है।


पार्टी के शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष प्रोफेसर(डॉ)डी. एन.एन.एस. यादव का कहना है कि उच्चतर शिक्षा आयोग पर अभ्यर्थियों द्वारा लागये गए आरोप बेहद गंभीर हैं, आयोग के अध्यक्ष एवं उच्च शिक्षा मंत्री को सामने आकर भ्रष्टाचार के आरोप स्तिथि साफ करनी चाहिये। साथ ही आम आदमी पार्टी यह मांग करती है कि इस भर्ती घोटाले सहित पूर्व के घोटालों की सी.बी.आई. जांच होनी चाहिए और घोटालेबाजों को कड़ी सजा दी जाये।लगातार हो रहे भर्ती घोटाले बीजेपी सरकार की भ्रष्टाचार के प्रति ज़ीरो टॉलरेंस की पोल खोल रहे हैं।