फहरेगा हर घर तिरंगा, जगेगी देश भक्ति की भावना

अयोध्या। केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत दिनांक 11 अगस्त से 17 अगस्त, 2022 तक ‘हर घर तिरंगा’ अभियान चलाया जायेगा। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत समस्त सरकारी कार्यालयों, शैक्षणिक संस्थानों, गैर शैक्षणिक संस्थानों, वाणिज्यिक इकाइयों के साथ-साथ प्रत्येक नागरिक को अपने-अपने घरों पर राष्ट्रीय ध्वज को निर्धारित नियमों के तहत फहराने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। यह पहल ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ का एक हिस्सा होगी जिसे 75 साल पूरे होने के जश्न के रूप में मनाया जाएगा।
जिलाधिकारी नितीश कुमार द्वारा दिनांक 07.07.2022 को समस्त विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर उक्त कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु अपने-अपने विभागों से कार्ययोजना बनाकर तत्काल डीपीआरओ, अयोध्या को उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया गया। इसी क्रम में जिला पंचायत राज अधिकारी शीतला प्रसाद सिंह ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत ‘हर घर तिरंगा’ लगाए जाने के संबंध में समस्त पंचायत सचिवों/ग्राम प्रधानों, स्वयं सहायता समूहों, विद्यालयों, कोटेदारों एवं पंचायत सहायकों को निर्देशित किया गया है। उपरोक्त कार्य हेतु राष्ट्रीय ध्वज के निर्माण व आपूर्ति हेतु स्वयं सहायता समूहों को प्रशिक्षित करते हुए झण्डें बनाने के निर्देश भी दिये गये है।

शासन द्वारा जनपद अयोध्या को 3 लाख 90 हजार झण्डे बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभियान अवधि में विभिन्न संस्थाओं में फहराये जाने वाले राष्ट्रीय ध्वज को पूरे सम्मानपूर्वक लगाया एवं सूरज डूबने से पहले तिरंगें झण्डें को सम्मान पूर्वक उतारकर रख लिया जायेगा। तिरंगे झण्डों की बिक्री समस्त कोटेदारों एवं स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से किया जाएगा। पाॅलिस्टर वस्त्र से बने 20×30 की अनुमानित विक्रय मूल्य 25-30 रू0 एवं खादी/सूती वस्त्र से बने 20×30 साईज के झण्डे का लगभग मूल्य 50-150 रू0 शासन से निर्धारित किया गया है। जिला पंचायत राज अधिकारी शीतला प्रसाद सिंह ने सभी ग्राम प्रधानों से अनुरोध किया गया है कि इस कार्यक्रम में बढ़-चढ कर हिस्सा ले एवं आजादी के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत कार्यक्रम हर घर तिरंगा को सफल बनाऐ। मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनीता यादव ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु सभी ग्रामों/वार्डो में जागरूकता हेतु तिरंगा रैली आयोजित की जायें जिसमें अधिक से अधिक व्यक्तियों द्वारा प्रतिभाग किया जाय। साथ ही ग्राम प्रधानों को अपने ग्राम पंचायत के शत-प्रतिशत घरों, दुकानों, कार्यालयों शैक्षणिक संस्थानों तथा नलकूपों इत्यादि स्थानों पर झण्डा फहराने के लिए लोगों को प्रेरित करें। उन्होंने सभी खण्ड विकास अधिकारी एवं एडीओ (पंचायत) को निर्देशित करते हुए कहा कि वह सफाई कर्मियों तथा ग्राम प्रधानों के माध्यम से इस कार्यक्रम की सफलता हेतु गाँव-गाँव पहुँच कर प्रचार प्रसार करें और साथ ही शहरी/नगर क्षेत्र में रहने वाले लोगों को जागरूक करके हर घर तिरंगा फहराने की जिम्मेदारी अधिशासी अधिकारियों को दी गयी है।