हर घर झण्डा अभियान के तहत जनपदों में झंडा वितरण की तैयारी समय से सुनिश्चित करें-मुख्य सचिव

मुख्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों के साथ बैठक की। बारिश के मौसम के दृष्टिगत कहीं भी जलभराव न हो,नालियों, ड्रेनेज की साफ-सफाई की व्यवस्था दुरुस्त रखी जाये। हर घर झण्डा अभियान के तहत सभी जनपदों में झंडा वितरण की तैयारी समय से सुनिश्चित कर ली जाये। थाना दिवस और तहसील दिवस पर आम जनता की समस्याओं का समयबद्ध व गुणवत्तापरक निस्तारण करें। आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत मुफ्त प्रिकॉशन डोज देने के विशेष अभियान में तेजी लायी जाये। श्रम एवं सेवायोजन विभाग द्वारा विकसित किये गये www.sewamitra.up.gov.in पोर्टल एवं कॉल सेण्टर-155330 का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाये। 

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में पशुधन, श्रम, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, नमामि गंगे, ग्रामीण जलापूर्ति और संस्कृति विभाग के कार्यों की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने कहा कि बारिश के मौसम के दृष्टिगत कहीं भी जलभराव न हो। जल भराव होने से विभिन्न प्रकार की संक्रामक बीमारियां फैलने की संभावना बनी रहती है। जल-भराव की स्थिति में प्राथमिकता पर जल निकासी की व्यवस्था कराई जाये। नालियों, ड्रेनेज की साफ-सफाई की व्यवस्था दुरुस्त रखी जाये। उन्होंने कहा कि भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस विशेष तरीके से मनाना है। आजादी के अमृत पर्व पर हर तरफ उत्सव का माहौल रहे। हर घर झण्डा अभियान के तहत सभी जनपदों में झंडा वितरण की तैयारी समय से सुनिश्चित कर ली जाए। इसके लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार करके समय-समय पर समीक्षा करते रहें। 

          उन्होंने कहा कि थाना दिवस और तहसील दिवस पर आम जनता की समस्याओं का समयबद्ध व गुणवत्तापरक निस्तारण करें, ताकि लोगों को अनावश्यक वरिष्ठ अधिकारियों के चक्कर न लगाने पड़ें। आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत आगामी 30 सितम्बर तक मुफ्त प्रिकॉशन डोज देने का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। प्रदेश में एक दिन में पूरे प्रदेश में 2 लाख तथा 60 दिनों में 12 करोड़ लोगों को प्रिकॉशन डोज लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। लक्ष्य प्राप्ति हेतु चलाये जा रहे इस विशेष अभियान की में तेजी लायी जाये। उन्होंने कहा कि कुशल, अर्धकुशल, अकुलशन पेशेवरों को स्थानीय स्तर पर रोजगार तथा लोगों को प्रमाणित सेवायें प्रदान करने के लिये श्रम एवं सेवायोजन विभाग द्वारा www.sewamitra.up.gov.in पोर्टल एवं कॉल सेण्टर-155330 विकसित किया गया है। इसका जनपदों में व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाये। 

         जिलाधिकारी बुलंदशहर ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना के संबंध में प्रस्तुतीकरण दिया। उन्होंने बताया कि यह केन्द्र प्रशिक्षुओं को अलग-अलग अपशिष्ट प्रबंधन तकनीक की कार्य विधि समझने और उसका व्यवहारिक ज्ञान प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। इस प्रशिक्षण केंद्र में 23 जुलाई तक 63 जनपदों से कुल 2924 प्रतिभागी ओडीएफ प्लस के क्रियान्वयन के लिए प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। इसके साथ ही केंद्र ने ग्रामवासियों के लिए रोजगार के नए अवसर खोले हैं। केंद्र पर कुल 27 टन खपत क्षमता के 42 वर्मी खाद गड्ढे हैं जिनका रखरखाव और संचालन गांव की महिलाएं के समूह के द्वारा किया जाता है। वर्मी खाद की ब्रिकी से इन महिलाओं प्रतिमाह 8 हजार रूपये की आय होती है। 

  जिलाधिकारी बहराइच ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बताया कि जनपद में निर्विवादित वरासत का विशेष अभियान चलाया। किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत वरासत प्राप्त कृषकों को नवीन सूची में दर्ज किया जा रहा है। कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के अन्तर्गत 162 पात्र लोगों की समयबद्ध वरासत दर्ज कराकर कुल 2.94 करोड़ रूपये का भुगतान उनके वारिसान बैंक खातों में किया जा चुका है। शहर में विशेष अभियान चलाकर बैंकों के माध्यम से 58690 नवीन किसान क्रेडिट कार्डों की स्वीकृति करायी गई है। 

      जिलाधिकारी शाहजहांपुर ने वेस्ट मैनेजमेंट तथा जिलाधिकारी आजमगढ़ ने नगरीय बाढ़ बचाव एवं समाधान पर प्रस्तुतीकरण दिया। जिलाधिकारी आजमगढ़ ने बताया कि बाढ़ से बचाव के लिये बारिश से पूर्व अभियान चलाकर नालों से अतिक्रमण हटवाया गया तथा पम्प हाउस की मरम्मत का कार्य कराया गया। इसके उपरान्त सीडीओ वाराणसी ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बताया कि शहर में कुपोषित बच्चों को लेकर 100 दिनों का विशेष अभियान चलाया गया, जिसमें बच्चों को मेंटल और फिजिकल फिट रहने के गुण दिए गए। अपर मुख्य सचिव पशुधन रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव श्रम एवं सेवायोजन सुरेश चंद्रा, सचिव नगर विकास रंजन कुमार सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।