यूनिक नम्बर से कर्मचारियों को मिलेगी पहचान

उत्तर प्रदेश के कारखानों और वाणिज्य कर दुकानों आदि में कार्य करने वाले कर्मचारियों को यूनिक नंबर दिया जायेगा।पत्रिका में श्रमिकों के लिए चल रही कल्याणकारी योेजनाओं का विवरण दिया गया।यूनिक नम्बर से दुकानों पर काम करने वाले कर्मचारियों को एक अलग पहचान मिलेगी।

लखनऊ। प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर ने आज यहां मुख्य भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में श्रम कल्याण परिषद के वर्ष 2021-22 में किये गये जनकल्याणकारी कार्यों पर आधारित पत्रिका का विमोचन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस पुस्तिका के माध्यम से सरकार द्वारा श्रमिकों के कल्याण हेतु चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं को जनसामान्य तक पहुंचाने व उनके बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध हो सकेगी।


श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष पं0 सुनील भराला ने मंत्री जी को पत्रिका की प्रति भेंट करते हुये बताया कि उत्तर प्रदेश में श्रमिकों के लिए चल रही कल्याणकारी योेजनाओं का विवरण इस पुस्तिका में दिया गया है। श्रम मंत्री जी ने पुस्तक का अवलोकन किया और श्रम कल्याण परिषद द्वारा किये जा रहे जनकल्याणकारी कार्यों की सराहना की।इस अवसर पर श्री भराला ने बताया कि उत्तर प्रदेश के कारखानों और वाणिज्य कर दुकानों आदि में कार्य करने वाले श्रमिकों, जिनकी संख्या लगभग सवा करोड़ है, को यूनिक नंबर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था से सभी दुकानों पर काम करने वाले श्रमिकों को एक अलग पहचान मिलेगी। इसके अलावा यूनिक नम्बर दिये जाने से यह जानकारी हो सकेगी कि अमुक व्यक्ति को रोजगार मिला है या नहीं।इस अवसर पर श्रम कल्याण परिषद सदस्यगण तथा विभाग के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।