पूर्व मेयर की उपस्थिति में कांग्रेस की बैठक में हंगामा

जयपुर की पूर्व मेयर ज्योति खंडेलवाल की उपस्थिति को लेकर कांग्रेस की बैठक में हंगामा। यह हंगामा प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी महासचिव की उपस्थिति में हुआ।सीडीएस बिपिन रावत के निधन और जयपुर में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए 12 दिसंबर की कांग्रेस रैली को स्थगित करने की मांग ज्योति खंडेलवाल ने की है।जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में रैली के टेंट लगना शुरू।

एस0 पी0 मित्तल

9 दिसंबर को जयपुर में कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय पर जयपुर नगर कांग्रेस के पदाधिकारियों की एक बैठक हुई। यह बैठक 12 दिसंबर को जयपुर में होने वाली कांग्रेस की राष्ट्रीय रैली की तैयारियों को लेकर थी। जयपुर शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और प्रदेश के खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि जयपुर शहर में आठ विधानसभा क्षेत्र हैं। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से पांच हजार कार्यकर्ताओं को लाने का लक्ष्य रखा गया है। ऐसे में रैली में अकेले जयपुर शहर से 40 हजार कार्यकर्ता हो जाएंगे। खाचरियावास ने प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और राष्ट्रीय महासचिव अजय माकन को भरोसा दिलाया कि रैली में जयपुर शहर के कार्यकर्ताओं की जबरदस्त भीड़ रहेगी। खाचरियावास के बाद जब प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा ने भाषण देना शुरू किया तो कुछ पदाधिकारियों ने मंच पर पूर्व मेयर ज्योति खंडेलवाल की उपस्थिति का विरोध किया। नाराज पदाधिकारियों का कहना रहा कि एक ओर ज्योति खंडेलवाल रैली को स्थगित करने के लिए सोनिया गांधी को पत्र लिख रही है तो दूसरी ओर रैली की तैयारियों की बैठक में भी उपस्थित हैं।

खंडेलवाल को इस बैठक से बाहर निकाला जाना चाहिए। इस पर डोटासरा ने पदाधिकारियों को अनुशासन में रहने की सीख देते हुए कहा कि बैठक में कांग्रेस हाईकमान के प्रतिनिधि के तौर पर अजय माकन बैठे हुए हैं, इसलिए उनके पास सभी जानकारियां हैं। अभी जरूरी यह है कि इस बैठक में अनुशासन बना रहे। ज्योति खंडेलवाल के बारे में अजय माकन अपने स्तर पर निर्णय ले लेंगे। डोटासरा के कथन के बाद हंगामा तो शांत हो गया, लेकिन कांग्रेस की राजनीति में इस बात की चर्चा रहा कि ज्योति खंडेलवाल को आखिर मंच पर क्यों बिठाया गया? सूत्रों के अनुसार जयपुर कांग्रेस में एकजुटता दिखाने के लिए प्रताप सिंह खाचरियावास ने ज्योति खंडेलवाल को खास तौर से आमंत्रित किया और मंच पर भी बैठाया। खाचरियावास अजय माकन को यह दिखाना चाहते थे कि ज्योति खंडेलवाल भले ही रैली को स्थगित करने की मांग कर रही है, लेकिन वो तैयारियों में भी जुटी हुई है। यह उल्लेखनीय है कि ज्योति खंडेलवाल ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में सीडीएस बिपिन रावत के निधन और जयपुर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 12 दिसंबर की राष्ट्रीय रैली को स्थिति करने की मांग की है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि जयपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।


टेंट लगना शुरू:- कांग्रेस की रैली जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में होनी है। रैली के लिए 9 दिसंबर से स्टेडियम में टेंट लगाने का काम शुरू हो गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि रैली में एक लाख से ज्यादा लोग आएंगे।