UP की कानून व्यवस्था ध्वस्त-अखिलेश

139
झूठ दावा करती भाजपा-अखिलेश यादव
झूठ दावा करती भाजपा-अखिलेश यादव

राजेन्द्र चौधरी

उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त है। गुंडे और अपराधियों के हौसले बुलन्द है। फर्जी एनकाउण्टर वाली सरकार को बताना चाहिए कि तमंचे की आपूर्ति कहां से हो रही है। अब तो मुख्यमंत्री के आवास के पास भी गोलीबारी की घटनाएं हो रही है। जब राजधानी लखनऊ में अपराधी बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं तो प्रदेश के अन्य जिलों में क्या स्थिति होगी इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है। प्रदेश के जिलों-जिलों में हर दिन हत्या, लूट, बलात्कार, छेड़छाड़ की घटनाएं हो रही है। UP की कानून व्यवस्था ध्वस्त-अखिलेश

कानून व्यवस्था ध्वस्त-अखिलेश


UP बना जंगलराज-नीलम यादव

    लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के निकट हजरतगंज इलाके में बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर नरही में  मोबाइल सेन्टर संचालक को गंभीर रूप से घायल कर दिया। बागपत के छपरौली में धारदार हथियार से हमला कर व्यक्ति की हत्या कर दी गयी। बीते मंगलवार को दिल्ली-मेरठ मार्ग पर दो बदमाशों ने दिन दहाड़े घर में घुस कर व्यापारी की हत्या कर दी। शामली के थानाभवन में सोमवार को नकाबपोश बदमाशों ने परिवार को गन प्वाइंट पर लेकर डकैती डाली। ये तो कुछ चंद उदाहरण है। भाजपा राज में अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा है। अपराधियों को सत्ता का संरक्षण मिला हुआ है। सत्ता के संरक्षण में हिस्ट्रीसीटर और अपराधी थानों में और पुलिस पर भारी पड़ते दिखाई देते हैं।


    अपराधों की संख्या कम दिखाने के लिए पुलिस एफआईआर दर्ज करने से कतराती है। पुलिस अपराधियों को दण्ड देने और उनके खिलाफ मामले दर्ज करने के बजाय निर्दोषों और असहायों पर रौब दिखाती है। भाजपा सरकार में लोग थाने और पुलिस के पास जाने से डरने लगे हैं। प्रदेश की जनता भाजपा सरकार के अन्यायी और अत्याचारी शासन से ऊब चुकी है। जनता 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा सरकार के अन्याय का मुंहतोड़ जवाब देगी। कानून और संविधान के साथ खिलवाड़ करने वालों का सफाया होगा। UP की कानून व्यवस्था ध्वस्त-अखिलेश