भारत जोड़ो यात्रा से भाजपा में बौखलाहट-विकास श्रीवास्तव

उत्तर प्रदेश ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ में अपनी मजबूत और महत्वपूर्ण भूमिका तय करके भाजपा को मुहंतोड़ जवाब देगा। टीशर्ट और नेकर को लेकर हुई नफरत की राजनीति पूरी तरह फ्लाफ साबित हुई, ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ को लेकर बीजेपी में बौखलाहट।  यात्रा मार्ग में न पड़ने वाले राज्यों में समर्थन में समानांतर ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ निकाल रहे हैं कांग्रेसजन।

देश में भय, कट्टरता, बढ़ती हुई में बेरोजगारी और आसमानता के विरुद्ध कांग्रेस पार्टी द्वारा निकाली जा रहा ‘‘भारत जोड़ो पदयात्रा’’ निकालना भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और मोदी सरकार के लिए बीते 8 दिनों में ही सिरदर्द बन गया। उक्त बयान देते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता विकास श्रीवास्तव ने कहा क्योंकि कांग्रेस पार्टी की इस यात्रा को भारतीय राजनीति में गेम चेंजर के रूप में देखा जा रहा है। बीजेपी की टीशर्ट और नेकर को लेकर हुई नफरत की राजनीति पूरी तरह फ्लाफ साबित हुई। अब भारत जोड़ो यात्रा को लेकर बीजेपी की बौखलाहट लगातर सामने आ रही है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नेतृत्व में लोकतांत्रिक मिशन अर्थात् भारत-जोड़ो और नफरत छोड़ो के नारे के साथ कट्टरता के खिलाफ भारतीय जनमानस की एकजुटता और शानदार जनसमर्थन देखकर भारतीय जनता पार्टी की नींद उड़ गई है। भाजपा आरएसएस की विचारधारा से लड़ने के इस कांग्रेसी तरीके को स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास से जोड़कर दिखाया जा रहा है और लगातार देश विदेश की मीडिया में सकारात्मक खबरें, समीक्षाएं प्रमुखता से आ रही है।

उन्होंने कहा कि कन्याकुमारी से कश्मीर तक जाने वाली इस यात्रा के मार्ग में पड़ने वाले उत्तर प्रदेश की भूमिका को लेकर अब बीजेपी द्वारा भ्रामक और झूठा प्रचार किया जा रहा हैं जो पूरी तरह से झूठ एवं बेबुनियाद है। जबकि सच्चाई यह है कि कांग्रेस पार्टी और हमारे नेता राहुल गांधी विकास परक और मुद्दे पर राजनीति करते हैं। जब जब देश में कांग्रेस कमजोर हुई है, उसका सबसे बड़ा नुकसान उत्तर प्रदेश को झेलना पड़ा है। कांग्रेस पार्टी मुद्दा आधारित राजनीति करती है, जिन मुद्दों को लेकर यह यात्रा निकाली जा रही है, उन मुद्दों से उत्तर प्रदेश के 26 करोड़ की आबादी अछूती नहीं है।

विकास श्रीवास्तव ने आगे कहा कि पार्टी नेतृत्व द्वारा भारत जोड़ो यात्रा के लिए तय किए गए रोड मैप में जिन प्रदेशों से यात्रा नहीं गुजर रही है । वहां से सौ सौ लोग इसमें शामिल होंगे। जिसके तहत उत्तर प्रदेश से भी 100 से ज्यादा लोग इस यात्रा में शामिल है। जिसमें प्रमोद तिवारी राज्यसभा सदस्य पूर्व प्रदेश अजय कुमार लल्लू, विधायक वीरेंद्र चौधरी, पूर्व युवक कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव, महिला कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव शमीना शफीक अल्पसंख्यक कांग्रेस चेयरमैन शाहनवाज आलम, एक दर्जन से ज्यादा प्रदेश कांग्रेस के सचिव समेत उत्तर प्रदेश से जुड़े राष्ट्रीय छात्र संगठन और युवक कांग्रेस महिला कांग्रेस सेवा दल के सैकड़ों नेता यात्रा में अतिथि यात्री के रूप में पैदल चल रहे हैं। वहीं दो दर्जन से ज्यादा लोग ‘‘भारत यात्री’’ के रूप में कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक पैदल जाएंगे। बेरोजगारी ,महंगाई के खिलाफ देश भर के ‘‘शहर गांव  पांव पांव’’ चलकर भारत के संविधान और लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए जनता के बीच जा रहे हैं।

विकास श्रीवास्तव ने बताया कि 150 दिन की इस पदयात्रा में लगभग 1 प्रदेश को कवर करने में कहीं 12, तो कहीं 15 दिन से कम समय नहीं लग रहा है। देश के मात्र 12 प्रदेश और 2 केंद्र शासित राज्य ही कवर हो पा रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि इसका मतलब यह नहीं कि यात्रा के मार्ग से छूटे जा रहे प्रदेश हमारे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। कांग्रेस नेतृत्व ने यह रणनीति तय की है, जिन राज्यों से यात्रा नहीं गुजर रही है। उन राज्यों में ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के समानांतर प्रत्येक राज्य के समस्त जनपदों में स्थानीय जिला शहर अध्यक्ष और वहां के बड़े नेताओं पदाधिकारियों के नेतृत्व में भारत जोड़ो यात्रा निकाली जा रही है। मुख्य यात्रा के साथ ही ऐसे प्रदेशों की भारत जोड़ो यात्रा की तैयारी को लेकर भी एआईसीसी के निर्देशन में मॉनिटरिंग की जा रही। इसके साथ ही नियुक्त विभिन्न प्रदेश यात्रा प्रभारियों एवं जनपद यात्रा प्रभारियों द्वारा सघन जनसंपर्क और बैठकों का सिलसिला जारी है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने साफ किया कि इस ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के मार्ग में मध्य प्रदेश,राजस्थान ,दिल्ली और हरियाणा से जुड़े सीमावर्ती क्षेत्रों बुंदेलखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विशेष अभियान के तहत उत्तर प्रदेश कांग्रेस सांगठनिक दृष्टिकोण से अत्यंत गंभीर है। जिन जन मुद्दों और सवालों को लेकर राहुल गांधी जनता के बीच में जा रहे हैं, उसकी दोगुनी मार ,अगर किसी ने झेला है तो वह उत्तर प्रदेश है। आपको विश्वास दिलाते हैं यह यात्रा उत्तर प्रदेश में मात्र 2 दिन की नहीं है, पश्चिमी उत्तर प्रदेश बुन्देलखण्ड की जनसमस्याओं और नफरत विद्यटन की जो जमीन भाजपा द्वारा तैयार की जा रही है उसको उखाड़ फेंकने के लिए राहुल गांधी जी की इस पदयात्रा में उत्तर प्रदेश महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। यहाँ भाजपा द्वारा जो भ्रम फैलाया जा रहा है उसका उत्तर प्रदेश स्वयं ही यात्रा में अपनी मजबूत और महत्वपूर्ण भूमिका तय करके बीजेपी को मुहंतोड़ जवाब देगा। उत्तर प्रदेश में भी इस ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ का बहुत ही मजबूत और व्यापक प्रभाव देखने को मिलेगा। जिसमें उत्तर प्रदेश का प्रत्येक कांग्रेसजनों का महत्वपूर्ण योगदान होगा और प्रत्येक जनपद के मुद्दों को गंभीरता से उठाया जाएगा।