विकास खण्ड मुख्यालय से सटे गांव के घर बने टापू

तेज हवा के साथ हो रही लगातार बारिश से सामान्य जनजीवन हुआ अस्त व्यस्त। विकास खण्ड मुख्यालय से सटे भेलसर गांव के कई घर बने टापू। लोगों का घरों से निकलना हुआ मुश्किल।

अब्दुल जब्बार एडवोकेट

भेलसर।अयोध्या । बुधवार की शाम से हवा के साथ लगातार हो रही झमाझम बारिश से रुदौली नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया।तेज हवा व लगातार हो रही बारिश से रुदौली नगर में जगह-जगह कई मार्गों पर जलभराव हो गया जिससे लोगों को आवागमन में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। गुरुवार को लगभग पूरे दिन हुई बारिश के चलते प्रमुख बाजारों व मार्गों पर आमतौर पर सन्नाटा पसरा रहा।ज्यादा तर दुकाने बंद रहीं।गरज चमक के साथ हो रही बारिश के बीच बिजली कड़कने से खेत में काम करने वाले किसान सहमे रहे।वहीं पुराने व जर्जर मकान में अपना जीवन गुजार रहे लोगों में भी दहशत रही।लगातार हो रही बारिश ने मेंथा किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। भारी बरसात के चलते मेंथा फसल की कटाई के साथ-साथ पेराई का कार्य भी पूरी तरह से प्रभावित हो गया है।लगातार दो दिनों से हो रही बारिश का सिलसिला जारी रहा।

बुधवार की शाम से शुरू हुई बारिश पूरे दिन कभी झमाझम तो कभी तेज होती रही।इस बारिश ने नगर में जलनिकासी की पोल खोल दी है नगर में जगह-जगह मार्गों पर पानी भर गया।रुदौली नगर के अमानीगंज रोड,रेजघाट रोड,इक़रा रोड सहित क्षेत्र के कई प्रमुख मार्गों पर पानी भर गया।साथ ही नाले व नालियों का गंदा पानी भी सड़कों पर बहने लगा है।इससे लोगों को आवागमन में भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।जलभराव की इस समस्या से जूझ रहे आमजनमानस ने नाराजगी देखने को मिली।लोगो का कहना है कि जब तक जलनिकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होगी तब तक जनता को इस तरह की परेशानियों का सामना यूँ ही करना पडेगा।तेज़ हवा के साथ इस बारिश में जहां कुढ़ा सादात से नहर-रुदौली मार्ग तथा रौजागांव-अलियाबाद मार्ग पेड़ गिरने से बाधित हो गया।वहीं इस बारिश ने किसानों की काफी चिन्ता बढ़ा दी है।किसानों का कहना है कि तेज हवा के साथ हो रही लगातार बारिश से गन्ने व धान की फ़सल को भी भारी नुकसान हुआ है जहां खेत में खड़ी गन्ने की फसल गिर गयी है वहीं धान में आ रहे फूल भी झड़ गए।

विकास खण्ड मुख्यालय से चंद कदम की दूरी पर भेलसर गांव में जलभराव से लोगों निकलना मुश्किल :-

रुदौली विकास खण्ड मुख्यालय से बिल्कुल सटे हुए ग्राम पंचायत भेलसर के लोग पहले से ही जलभराव की समस्या से जूझ रहे थे लोगों का घर से निकलना मुश्किल था।प्रदूषित गंदगी युक्त जलभराव की वजह से जीना मुहाल हो गया।बच्चे किसी तरह से लकडी की बल्लियों की सहायता से जान जोखिम मे डाल कर आम ज़रूरत पर बाहर निकले।एक दिन एक बच्चे का पैर बल्ली से फिसल गया और वह गहरे पानी मे डूबने लगा ग्रामीणों ने उस बच्चे को किसी तरह से बचाया।ग्रामीणो को भी कही आना जाना हो तो तीन से चार फिट पानी मे उतर कर जाना पड रहा है।पानी दूषित होने की वजह से मच्छरों का भी भयानक प्रकोप देखा जा रहा है।जिसकी वजह से डेंगू जैसी भयानक बीमारी ग्रामीणों को कभी भी अपनी चपेट मे ले सकती है।भेलसर गांव के अमानुल्लाह,फखरूल्ला,सलमा बानो व आफताब अहमद आदि ग्रामीणों का कहना है कि पानी के संक्रमण की वजह से एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है। बुखार की स्थिति लगभग सभी घरों मे बताई जा रही है।ग्रामीणों का कहना है कि हमलोग अपनी इन गम्भीर समस्याओं को लेकर कई बार शिकायत जिम्मेदारों से कर चुके हैं।राष्ट्रीय राजमार्ग से सटा होने के बाद भी अभी तक कोई जिम्मेदार अधिकारी या कर्मचारी उनकी पीड़ा सुनने व समस्या के निस्तारण के लिये नहीं आया।जबकि भेलसर गांव विकास खण्ड मुख्यालय से चंद कदम की दूरी पर ही बिल्कुल सटा हुआ है।दो दिन से लगातार हो रही भारी बारिश के कारण सभी घरों में जलभराव हो गया है लोगों के घर जलभराव से पानी से घिर गए हैं लोगों का घरों से निकलना काफी मुश्किल हो गया है।