स्वास्थ्य विभाग के तबादलों पर जारी हो श्वेत पत्र-अशोक सिंह

स्वास्थ्य विभाग के तबादलों पर जारी हो श्वेत पत्र।विभागीय मंत्री की बिना अनुमति के कैसे हुए तबादले बताये सरकार।योगी सरकार में मंत्री अधिकार विहीन, किसके आदेश से हुए तबादले।

लखनऊ।
उत्तर प्रदेश सरकार में तवादलो का उद्योग व्यापक रूप ले चुका है, विभागीय मंत्री की अनुमति छोड़िए उनकी जानकारी के बिना जिस तरह तबादले हुए वह योगी मॉडल के सच की सच गवाही दे रहे है। पारदर्शी व निष्पक्षता पूर्ण शासन के दावे हवा में है मंत्रिमंडल की सामूहिक जिम्मेदारी व दायित्व इस सरकार के लिये मायने नही रखते यह आरोप कांग्रेस मीडिया विभाग के संयोजक व प्रवक्ता अशोक सिंह ने लगते हुए कहा कि योगी शासन में स्वास्थ्य विभाग बेपटरी हो चुका है। स्वास्थ्य सेवाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुकी है उस पर दावा यह कि कोरोना काल मे बेहतर व्यवस्था की थी यह सच सबके सामने है कि झूठे आंकड़ों के बल पर अपनी पीठ यह थपथपाते रहे जनता तड़पती रही।

श्री सिंह ने राज्य की योगी सरकार की तबादला नीति पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि विभागीय मंत्री की बिना अनुमति के यह सब कैसे हुआ यह सरकार को बताना होगा सरकार स्वेतपत्र जारी कर अपनी स्थित स्पष्ट करे।उन्हांेने कहा कि योगी सरकार में मंत्री अधिकार विहीन है वह जनकल्याण की योजनाओं पर अमल करने में असमर्थ है सभी फैसले सत्ता प्रतिष्ठान से बाहर कौन कैसे ले रहा है नियमो की धज्जियां उड़ाई जा रही है स्वास्थ्य सेवाओं के साथ खिलवाड़ जनता के साथ सरकार का एक मजाक है।