आरक्षित पदों पर सामान्य वर्ग को नियुक्ति पत्र क्यों..?

स्वामी की दहाड़, कहा योगी जी, अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़ा वर्ग आपकी नजर में हिन्दू नही । 69 हजार शिक्षक भर्ती में 19 हजार आरक्षित पदों पर सामान्य वर्ग को नियुक्ति पत्र क्यों….?

अजय सिंह

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार में हाल ही में मंत्री पद छोड़कर सपा में शामिल होते हुए स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि योगी जी अनुसूचित जाति व जनजाति व पिछडे के लोग हिन्दू नहीं है क्या? उन्होंने कहा कि अभी-अभी 69 हजार शिक्षकों की भर्ती हुई, जिसमें से 19 हजार आरक्षित पदों पर सामान्य वर्गों को नियुक्ति पत्र दे दिया।
स्वामी प्रसाद मौर्या सम्बोधित करते हुए कहा कि 14 जनवरी मकर संक्रांति भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है। भाजपा के बड़े-बडे़ नेता, जिनको मंत्री और विधायकों से बात करने का टाइम नहीं रहता था। आज हमारे इस्तीफा देेते ही उनकी नींद हराम हो गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग कहते हैं कि पांच साल से इस्तीफा क्यों नहीं दिया। उन्होंने कहा कि कुछ बददिमाग लोग कहते हैं कि स्वामी प्रसाद मौर्या ने अपने बेटी के चक्कर में भाजपा से इस्तीफा दिया।

उन्होंने कहा कि गरीबों, मजलूमों, दलितों व अल्पसंख्यकों के आंखों में धूल झोकर सत्ता हथियाई थी। उन्होंने कहा कि भाजपा केशव प्रसाद मौर्या और स्वामी प्रसाद मौर्या का नाम उछालकर पिछडों के बलबूते पर सरकार बनाई थी। उन्होंने कहा कि चर्चा किया था कि केशव प्रसाद मौर्या व स्वामी प्रसाद मौर्या सीएम होंगे। उन्होंने कहा कि पहले गाजीपुर से स्काई लैप उतारने की कोशिश की गई लेकिन स्काई लैप यहां आते-आते ब्लास्ट हो गया। दूसरा स्काई लैप गोरखपुर से लाकर सीएम की कुर्सी पर बैठा दिया और पिछडों वर्गों की आंखों में धूल झोंकने का काम किया।

स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि सरकार बनावे दलित और पिछडे और मलाई खाये जो लोग अगडे, 5 प्रतिशत लोग। उन्होंने कहा कि 80 और 20 नहीं अब होगा 85 और 15 का। उन्होंने कहा कि 85 हमारा है और 15 में भी बंटवारा है। यूपी सरकार को चेतावनी देता हूं कि आप कहते हो कि हम हिन्दू काट पर चुनाव जीतेंगे। उन्होंने कहा कि अगर आप हिन्दू के बडे ही हमदर्द हैं तो अनुसूचित जाति, अनुसूचति जनजाति व पिछडे वर्गों को भारतीय संविधान के तहत आरक्षण की सुविधा दी गई, उसके अजगर की तरह निगलने का पाप आपने क्यों किया? उन्हांेने कहा कि अभी-अभी 69 हजार शिक्षकों की भर्ती हुई, जिसमें से 19 हजार आरक्षित पदों पर सामान्य वर्गों को नियुक्ति पत्र दे दिया। उन्होंने कहा कि योगी जी अनुसूचित जाति व जनजाति व पिछडे के लोग हिन्दू नहीं है क्या? उन्होंने कहा कि 23 प्रतिशत व 54 प्रतिशत वाले आरक्षण को आप क्यो निगल गिये क्यों दूसरे को इनका हिस्सा दे दिया।

स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि योगी जी या बाबा जी कोई भी हो। उन्होंने कहा कि सीएम की कुर्सी पर बैठकर पाप करोगे और साथ ही दुहाई दोगे हिन्दू की। उन्होंने कहा कि आप की नजर में कुछ बड़ी जाति के लोग हिन्दू हैं क्या, अनुसूचित जाति, अनुसूचति जनजाति व पिछडे वर्गों के लोग हिन्दू नहीं हैं क्या? उन्होंने कहा कि अगर आप की नजर में ये 10 या 5 प्रतिशत लोग ही हिन्दू हैं तो आपकी खटिया और बिस्तरा गोल होना तय है क्योंकि बंटवारे की लाइन आपने खींच दी है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचति जनजाति, पिछडे वर्गों व गरीब एक साथ खडे होंगे और जो आपके साथ 8 प्रतिशत बडी जाति के लोग खडे होंग हम उसमें भी बंटवारे करेंगे क्योंकि उनमें भी कुछ समाजवादी चिंतन और अंबेडकर वादी चिंतन के लोग हैं।