शासन के निर्देश से मंदिरों में पूजा पाठ

156
शासन के निर्देश से मंदिरों में पूजा पाठ
शासन के निर्देश से मंदिरों में पूजा पाठ

शासन के निर्देश से मंदिरों में पूजा पाठ,जनपद के प्रसिद्ध मंदिरों में दुर्गा सप्तशती का पाठ/देवी गायन/देवी जागरण तहसील व विकास खण्ड स्तर पर सफलतापूर्वक आयोजित किया गया।

प्रतापगढ़। शासन के निर्देशों के क्रम में जनपद के समस्त तहसीलों व विकास खण्डों में स्थित प्रसिद्ध मंदिरों में चैत्र नवरात्रि के पावन अवसर पर दुर्गा सप्तशती का पाठ किये जाने हेतु निर्देशित किया गया गया था। जिसके अनुपालन में जनपद की विभिन्न तहसीलों तथा विकास खण्ड स्तर पर प्रसिद्ध मंदिरों श्री दुर्गन धाम सागीपुर, श्री अम्बिका धाम आमीशंकरपुर सांगीपुर, दुर्गेश्वरी धाम राहाटीकर सांगीपुर, अष्टभुजा धाम जेठवारा लक्ष्मणपुर, माँ काली मन्दिर फूलपुर लक्ष्मणपुर, भद्रकाली धाम बाबागंज, नायर देवी बाबागंज, श्री काली माँ धाम महियामऊ बिहार, माता माईधाम धाम परियांवा कालाकांकर, माँ कामाक्षी देवी धाम कमासिन बिहार, माँ चामुण्डा देवी बिहार, माँ ज्वाला देवी मानिकपुर, खुईलन धाम नेवाड़ी मानधाता, माँ शीतला धाम कटरामेंदनीगंज, माँ बेल्हा देवी धाम प्रतापगढ़, माँ चण्डिका धाम अन्तू, श्री चन्दीपुर धाम मंगरौरा, माँ बाराही धाम शिवगढ़, दुर्गा मन्दिर सर्वजीतपुर पट्टी एवं दुर्गा मन्दिर बहुता में दुर्गा सप्तशती का पाठ/देवी गायन/देवी जागरण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये। चैत्र नवरात्रि के अवसर पर मंदिरों में अधिक से अधिक संख्या में श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की। चैत्र नवरात्रि के अवसर पर माँ दुर्गा के नौ स्वरूपों की विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। वैदिक तथा पुराणों में चैत्र नवरात्रि को विशेष महत्व दिया गया है। इसे आत्मशुद्धि तथा मुक्ति का आधार माना गया है चैत्र नवरात्रि में माँ दुर्गा का पूजन करने से नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है और हमारे चारो ओर एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। जनपद के प्रसिद्ध देवी मन्दिरों पर सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।शासन के निर्देश से मंदिरों में पूजा पाठ