तीसरे इंजन से तेज होगी विकास की रफ्तार-योगी

153
तीसरे इंजन से तेज होगी विकास की रफ्तार-योगी
तीसरे इंजन से तेज होगी विकास की रफ्तार-योगी

डबल के साथ तीसरा इंजन जुड़ते ही बढ़ जाएगी विकास की रफ्तार। योगी ने लखनऊ में निकाय चुनाव जनसभा को किया संबोधित। बिना किसी भेदभाव के जनजन तक पहुंचाया जा रहा लोक कल्याणकारी योजनाओं का लाभ। अन्य बोर्ड सोचते रहे और यूपी बोर्ड का रिजल्ट आ गया। तीसरे इंजन से तेज होगी विकास की रफ्तार-योगी

लखनऊ। लखनऊ प्रदेश का ऐतिहासिक और पौराणिक महानगर है। वही वजह है कि लखनऊ ने अपनी अनेक स्मृतियों से देश और दुनिया में अपना नया स्थान बनाया है। देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को सर्वाधिक समय तक देश की संसद में प्रतिनिधित्व करने का अवसर लखनऊ ने ही दिया है। यह लखनऊ की देन है कि श्रद्धेय अटल जी की इस विरासत को पूर्व राज्यपाल स्व. लालजी टंडन ने आगे बढ़ाने का कार्य किया। अब केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अटल जी की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए लखनऊ को समग्र विकास से जोड़ते हुए आगे बढ़ा रहे हैं। आज लखनऊ एक स्मार्ट सिटी के साथ वर्ल्ड क्लास सिटी के रूप में स्थापित हो रहा है। लखनऊवासियों ने इस दायित्व का निर्वहन जिस तत्परता के साथ किया है मैं इसके लिए आप सभी का हृदय से अभिनंदन करता हूं। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को डालीगंज में नगर निकाय चुनाव प्रचार के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

बिना भेदभाव के जनजन तक पहुंचाई जा रही लोक कल्याकारी योजनाएं


मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पिछले 6 वर्ष के अंदर अकेले लखनऊ शहरी क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 16,598 गरीबों को आवास उपलब्ध करवाया गया है। पहले व्यापारी रंगदारी देता था, आज व्यापारी को स्वनिधि दी जा रही है, पीएम स्वनिधि योजना से उन्हें लाभान्वित किया जा रहा है। लखनऊ में 80,100 वेंडर्स को पीएम स्वनिधि योजना के साथ जोड़ने का कार्य हुआ है। वहीं पूरे प्रदेश में 100000 निराश्रित महिलाएं, दिव्यांगजन और वृद्धजनों को 12000 रुपये सालाना पेंशन की सुविधा का लाभ दिया जा रहा है। अगर बात लखनऊ की जाए तो यहां 5200 से अधिक निराश्रित महिलाओं, 17300 से अधिक दिव्यांगजनों और 10,000 से अधिक वृद्धजनों को 12000 रुपये सालाना पेंशन दी जा रही है। लखनऊ के अंदर दो नगर पंचायतों का सृजन हुआ है और नगर पंचायत मलिहाबाद की सीमा विस्तार का कार्य हो रहा है।

स्मार्ट सिटी के साथ-साथ अमृत मिशन के तहत 1390 करोड़ों रुपये की 28 परियोजनाओं का कार्य प्रगति पर है। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 17623 व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण लखनऊ में हुआ है। इतना ही नहीं कान्हा गौशाला के साथ-साथ दीनदयाल उपाध्याय आदर्श नगर पंचायत योजना के अंतर्गत शहर की पांच नगर पंचायतों को इन सभी सुविधाओं से जोड़ने का कार्य किया गया है। वहीं प्रदेश में पिछले 6 वर्ष के अंदर 54 लाख गरीबों को आवास उपलब्ध कराया गया है। 2 करोड़ 61 लाख गरीबों को शौचालय उपलब्ध कराने के साथ कोरोना काल खंड में पिछले 3 वर्षों से 15 करोड़ गरीबों को फ्री में राशन दिया गया है। इतना नहीं नहीं आज उत्तर प्रदेश के टैलेंट को टेक्नोलॉजी और ट्रेनिंग के साथ जोड़कर के प्रदेश के अंदर हैं नौकरी उपलब्ध करवाने का कार्य भी डबल इंजन की सरकार कर रही है

तीसरे इंजन से तेज होगी विकास की रफ्तार-योगी

6 वर्ष पहले प्रदेश में विकास नहीं दंगे होते थे


योगी ने कहा कि वर्ष 2017 के पहले नौजवान नौकरी के लिए भटकता था, नौकरियों में भेदभाव होता था। आज प्रदेश में सरकारी नौकरी हर नौजवान के लिए उपलब्ध है। कानून व्यवस्था की बेहतरीन स्थिति का परिणाम है कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में 35 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। उन्होंने कहा कि 35 लाख करोड़ का मतलब एक करोड़ से अधिक नौजवानों को सीधे-सीधे नौकरी मिलेगी। पिछले दिनों केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ब्रह्मोस मिसाइल के लिए लखनऊ का ही चयन किया है, जिसका काम चल रहा है। लखनऊ डिफेंस कॉरिडोर के एक महत्वपूर्ण नोड के रूप में विकसित हो रहा है। प्रदेश में इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में हाईवे, रेलवे, एयरपोर्ट, आईआईटी और आईआईएम जैसे संस्थानों का निर्माण जिस स्तर पर हो रहा है वह नए भारत की सामर्थ्य को दुनिया के सामने रखता है।

जब भारत दुनिया के लिए श्रेष्ठ भारत बन रहा है तो ऐसे में उत्तर प्रदेश कैसे चुपचाप बैठ सकता है। भारत की इस स्पीड के साथ उत्तर प्रदेश में उसी गति से बढ़ रहा है। जब डबल इंजन की सरकार के साथ ट्रिपल इंजन लगेगा तो यह गति कई गुना और बढ़ जाएगी। सीएम योगी ने कहा कि 6 वर्ष पहले प्रदेश में विकास नहीं दंगे होते थे। तमंचा लेकर के पार्टी विशेष के लोग व्यापारियों से वसूली करते थे। बहन और बेटियों की सुरक्षा खतरे में थी। व्यापारी खतरे में था और तो और विकास के जयकारे चौपट थे। शहर गंदगी के ढेर थे। वहीं पिछले 6 वर्षों के अंदर माफिया, अपराधी प्रदेश छोड़कर भाग रहे हैं। व्यापारी खुश और हमारी बहन बेटियां बिना किसी डर के कहीं भी किसी भी समय आ जा रही हैं।

अन्य बोर्ड सोचते रहे और यूपी बोर्ड का रिजल्ट आ गया

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शिक्षा को व्यवस्थित रूप से आगे बढ़ाने का काम किया। उसी का नतीजा है कि देश के अन्य बोर्ड रिजल्ट को लेकर सोच ही रहे हैं और यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट निकल गया है। यह नींव उन्होंने ही तैयार की थी। प्रदेश के विकास के लिए मंत्री सुरेश खन्ना का खजाना खुला हुआ है। वहीं डिप्टी सीएम बृजेश पाठक हर डिस्ट्रिक्ट में मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए पूरी ताकत के साथ कार्य कर रहे हैं। इस अवसर पर एमएलसी मुकेश शर्मा, लखनऊ बीजेपी मेयर प्रत्याशी सुषमा खर्कवाल, विधायक डॉ. नीरज बोरा आदि मौजूद थे। तीसरे इंजन से तेज होगी विकास की रफ्तार-योगी