योगी के खास आईएएस रेणुका कुमार का इस्तीफा

उत्तर प्रदेश में लगातार आईएएस अधिकारी इस्तीफा दे रहे हैं, कुछ आईएएस अधिकारी समय से पूर्व VRS लेने को आतुर हैं । आखिर ऐसा क्या योगी सरकार का खौफ है कि आईएस अब घर जाने की सोच रहे हैं।

लखनऊ। यूपी कैडर की सीनियर IAS हैं रेणुका कुमार।एक हफ्ते के भीतर 3 IAS ने इस्तीफा दिया।IAS रेणुका कुमार ने इस्तीफा दिया,प्रदेश वापसी की जगह रेणुका का इस्तीफा।IAS अफसरों के इस्तीफे से ब्यूरोक्रेसी में हलचल।जूथिका पाटणकर ने भी इस्तीफा दे दिया था ।इसके पहले विकास गोठलवाल ने इस्तीफा दिया था।केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर गईं और अचानक इस्तीफा।योगी सरकार के पसंदीदा अफसरों में थीं रेणुका।यूपी के IAS कैडर में इस्तीफों की बौछार।पॉवर कॉरिडोर में IAS अफसरों के इस्तीफे की चर्चा।

यूपी कैडर के IAS अफसर घर लौटने से हिचक रहे हैं। तीन IAS अफसरों ने एक सप्ताह में नौकरी छोड़ने के लिए इस्तीफा दे दिया है। एक सप्ताह पहले यूपी कैडर में केंद्र की प्रतिनियुक्ति से वापस भेजी गईं सीनियर IAS रेणुका कुमार ने इस्तीफा दे दिया है।

योगी सरकार के पसंदीदा अफसरों में शुमार IAS रेणुका कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जिसके बाद से ब्यूरोक्रेसी में हलचल मची हुई है।​​ रेणुका कुमार​ यूपी कैडर की सीनियर​​ IAS​ अफसर रही​ हैं ​।
बता दें कि एक हफ्ते के भीतर 3 IAS अधिकारियों ने इस्तीफा दिया है। इस्तीफा देने वालों में जूथिका पाटणकर, विकास गोठलवाल, वहीं अब रेणुका कुमार ने इस्तीफा सौंपा है। मिली जानकारी के मुताबिक वो केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर गईं उसके बाद उन्होंने अपना इस्तीफा सौप दिया। वहीं इसके पहले चर्चा थी कि वो योगी सरकार में फिर वापसी करेंगी। लेकर उनके इस्तीफे ने सभी को चौंका दिया है​​। पॉवर कॉरिडोर में IAS अफसरों में इस्तीफे को लेकर तरह तरह कह चर्चा हो रही है।

जूथिका पाटणकर ने भी मांगा VRS
1988 बैच की IAS जूथिका पाटणकर ऐसी IAS हैं, जो अपनी 34 साल की नौकरी में सिर्फ 2 महीने ही DM पद पर तैनात रहीं। नियुक्ति विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, वह अपनी पूरी सर्विस में सिर्फ दो महीने रामपुर की DM रहीं। उत्तर प्रदेश में उनकी अंतिम तैनाती प्रमुख सचिव, राज्यपाल के रूप में रही। उत्तर प्रदेश में 1947 से लेकर अब तक के 26 राज्यपालों के कार्यकाल में जूथिका पाटणकर प्रमुख सचिव के रूप में कार्य करने वाली प्रथम महिला अधिकारी हैं। उन्होंने तीन राज्यपालों के साथ काम किया है।

विकास गोठलवाल ने मांगा VRS
2003 बैच के IAS विका गोठलवाल ने VRS के लिए यूपी सरकार के नियुक्ति विभाग में आवेदन किया है। विकास गोठलवाल ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए VRS मांगा है। वह फिलहाल स्टडी लीव पर हैं। इससे पहले सचिव, अवस्थापना और औद्योगिक विकास विभाग के पद पर तैनात थे। वे सितंबर, 2021 से स्टडी लीव पर हैं।