नोडल अधिकारियों को आवंटित जनपद में 04 दिन का भ्रमण

शासन की प्राथमिकताओं एवं विकास कार्यों के प्रभावी अनुश्रवण एवं स्थलीय निरीक्षण हेतु समस्त जनपदों के नोडल अधिकारियों को प्रदेश सरकार द्वारा विस्तृत दिशा-निर्देश निर्गत । 

लखनऊ।  शासन की प्राथमिकताओं एवं विकास कार्यों के प्रभावी अनुश्रवण एवं स्थलीय निरीक्षण हेतु नामित समस्त जनपदों के नोडल अधिकारियों को प्रदेश सरकार द्वारा विस्तृत दिशा-निर्देश निर्गत किये गये हैं।  उक्त जानकारी देते हुए मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने बताया कि शासन की प्राथमिकताओं एवं विकास कार्यों के प्रभावी अनुश्रवण एवं स्थलीय निरीक्षण तथा जन समस्याओं का प्रभावी निराकरण सुनिश्चित कराने हेतु वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को प्रत्येक जनपद का नोडल अधिकारी नामित किया गया है। उन्होंने बताया कि नोडल अधिकारियों को अपने आवंटित जनपद में 04 दिन का भ्रमण करके शासनादेश दिनांक 19.09.2019 मेें अंकित बिन्दुओं की समीक्षा के अतिरिक्त डेंगू आउटब्रेक/स्क्रब टाइफस के प्रभावी नियन्त्रण हेतु समीक्षा, डेंगू मलेरिया आदि के नियत्रंण हेतु, बाढ़/अतिवृष्टि की आपदा से निपटने हेतु बचाव व राहत कार्यों के सम्बन्ध में समीक्षा, गांव में पूर्ण स्वच्छता (सॉलिड/लिक्विड वेस्ट मैनेजमेन्ट), गांव में नियमिट एन्टी लार्वा स्प्रे तथा फॉगिंग, जल जमाव की स्थिति का निस्तारण, आबादी वाले इलाके में झाड़ियों की साफ-सफाई, पेयजल व्यवस्था, निकाय के प्रत्येक वार्ड के गलियों/नालियों/मुख्य मार्गों पर नियमित साफ-सफाई/डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन एवं सैनेटाइजेशन/फॉगिंग की स्थिति, पड़ाव घरों से नियमित रूप से कूड़ा उठान/निस्तारण की स्थिति, प्रत्येक वार्ड में जल भराव क्षेत्र को चिन्हित कर एन्टी लार्वा छिड़कावों, ब्लीचिंग पाउडर, मेलथियान डस्ट नियमित रूप से छिड़काव की स्थिति एवं अधिकारियों/कर्मचारियों के दायित्व निर्धारण की स्थिति, निकाय में शुद्ध पेयजल आपूर्ति के स्त्र्रोतों (हैण्डपम्प, टैंकर, नलकूप) की स्थिति, शुद्ध पेयजल पाइप लाईन में लिकेज की नियमित जांच/मरम्मत एवं क्लोरिनेशन की स्थिति, पेयजल के नमूनों की नियमित क्लोरिन के टैबलेट का वितरण की स्थिति, District Environment plan/Air quality एवं Water quality  के लिए एक्शन प्लान की स्थिति की समीक्षा की जायेगी।

 मुख्य सचिव ने यह भी बताया कि नोडल अधिकारियों द्वारा प्रदेश में बेसिक एवं माध्यमिक विद्यालयों के परिसर एवं शौचालयों के साफ-सफाई व्यवस्था की समीक्षा, विद्यालयों में शुद्ध पेयजल की समीक्षा भी की जायेगी। उन्होंने बताया कि सभी नोडल अधिकारियों को अपने आवंटित जनपद में 03 सितम्बर, 2021 की सायं तक अवश्य पहुंचना होगा एवं अपने आवंटित जनपद में 04 दिन तक समीक्षा एवं स्थलीय निरीक्षण करने के उपरान्त 07 सितम्बर, 2021 को मुख्यालय प्रस्थान करना होगा। नोडल अधिकारियों द्वारा जनपदों में की गयी समीक्षा की रिपोर्ट सम्बन्धित विभागों यथा चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के ई-मेल आई.डी [email protected], राजस्व विभाग के ई-मेल आई.डी. [email protected], पंचायतीराज विभाग के ई-मेल आई.डी. [email protected] एवं नगर विकास विभाग के ई-मेल आई.डी.[email protected] पर अवश्य प्रेषित कराएंगे तथा विकास कार्यों की समीक्षा एवं स्थलीय निरीक्षण की रिपोर्ट कार्यक्रम कार्यान्वयन विभाग की वेबसाइट upkkv.in पर 05 खण्डों में अपलोड करायी जायेगी। उन्होंने समस्त मण्डलायुक्तों, पुलिस महानिरीक्षकों एवं पुलिस उप महानिरीक्षकों, पुलिस आयुक्त लखनऊ, कानपुर, वाराणसी एवं गौतमबुद्ध नगर, समस्त जिलाधिकारियों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों एवं पुलिस अधीक्षकों को उक्त निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश दिये हैं।