Friday, December 2, 2022
Advertisement

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश

अखिलेश का समाजवाद अवसरवादी-योगी

मुख्यमंत्री बोले- चुनाव हराने के लिए डिंपल को आगे करते हैं समाजवादी। करहल में दूसरी बार नहीं गए आपके विधायक जी, 27 बार गए...

यूपी स्टेट मेडिकल फैकल्टी ने संस्थानों के साथ मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन पर किए हस्ताक्षर

नर्सिंग एवं पैरामेडिकल संस्थानों की गुणवत्ता में सुधार के लिए स्टेट मेडिकल फैकल्टी ने 12 संस्थानों से किया करार। यूपी स्टेट मेडिकल फैकल्टी...

सियासत

अखिलेश का समाजवाद अवसरवादी-योगी

मुख्यमंत्री बोले- चुनाव हराने के लिए डिंपल को आगे करते हैं समाजवादी। करहल में दूसरी बार नहीं गए आपके विधायक जी, 27 बार गए...

मनोरंजन

दुनिया में बजता है भोजपुरी का डंका 

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री को लेकर पूनम दुबे का बड़ा बयान- पूरी दुनिया में बजता है भोजपुरी का डंका ।  प्रयागराज की रहनेवाली पूनम दुबे ने भोजपुरी फिल्म...

‘रुद्रदेव’ धमाल मचाने को तैयार

रवि यादव-ऋतू सिंह, देव सिंह-तृषाकर मधु की रोमैंटिक जोड़ी एक साथ फिल्म 'रुद्रदेव' से धमाल मचाने को तैयार। कान्हा पिक्चर्स एंड प्रोडक्शन के बैनर तले...

खुशी की तलाश

53वें इफ्फी, गोवा में कजाकिस्तान की फिल्‍म हैप्पीनेस (बकित) प्रदर्शित की गई। हैप्पीनेस हमें महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा की तकलीफदेह सच्चाई की...

‘शिवा का सूर्या’ मुंबई और यूपी में हुई रिलीज़

पाखी हेगड़े की दमदार फिल्म 'शिवा का सूर्या' मुंबई और यूपी में हुई रिलीज़।  भोजपुरी फिल्मो की खूबसूरत अदाकारा पाखी हेगड़े ने भोजपुरी इंडस्ट्री में अब...

विद्यापीठ’ को लेकर अरविन्द अकेला कल्लू ने जताई

'विद्यापीठ' को लेकर अरविन्द अकेला कल्लू ने जताई ख़ुशी, की योगेश मिश्रा की जमकर तारीफ़. भोजपुरी फिल्मो के चोकलेटी हीरो कहे जाने वाले एक्टर अरविन्द...

ई -मैगज़ीन

Subscribe to our newsletter

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

STAY CONNECTED

2,500FansLike
2,500FollowersFollow
1,500FollowersFollow
10,000SubscribersSubscribe

विशेष

गंगा एवं गीता दोनों में साम्यता…..

0
भगवान श्रीकृष्ण ने गीता जयंती एवं इस माह की महत्ता का प्रतिपादन अपनी गीता के 10वें अध्याय के 35वें श्लोक में...

अपराध

कानपुर चिड़ियाघर में दर्दनाक हादसा,महिला की मौत

0
कानपुर चिड़ियाघर में दर्दनाक हादसा, टॉय ट्रेन की बोगी में फंसकर महिला की मौत। अजय सिंह कानपुर। कानपुर चिड़ियाघर में एक महिला की टॉय ट्रेन...

स्वास्थ्य

साहित्य जगत

खेल

खेल हमेशा खेल भावना से खेलना चाहिए:संदीप सिंह

डा. रज्मी यूनुस मेमोरियल अन्तर विद्यालयी टूर्नामेन्ट सम्पन्न। खेल हमेशा खेल भावना से खेलना चाहिए। बेसिक शिक्षा मंत्री ने किया पुरस्कार वितरण। लामार्टिनियर कॉलेज...

लाइफ स्टाइल

पर्यटन

शिवखोड़ी गुफा जिसमें भगवान शिव पूरे परिवार के साथ हैं विराजमान

0
शिवखोडी धाम जम्मू कश्मीर में ही है कहते है शिव के इस धाम में शिव के दर्शन मात्र से सारे कार्य पूर्ण होते है और साथ ही साथ सभी देवी देवताओ का आशीर्वाद भी मिलता है। शिवखोड़ी ऐसी अलौकिक और अद्भुत गुफा है जिसमें भगवान शिव अपने पूरे परिवार के साथ वास करते हैं और मान्यता है कि इसी गुफा का रास्ता सीधा स्वर्ग लोक की और जाता है क्योंकि यहाँ स्वर्ग लोक की ओर जाने वाली सीढ़ियां भी बनी हुई हैं। जम्मू-कश्मीर स्थित भगवान शिव के विश्व प्रसिद्ध धाम अमरनाथ...

जानें भस्मासुर से जुडी शिवखोड़ी का इतिहास एवं कहानी

0
पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में शिवखोड़ी का वर्णन मिलता है इस गुफ़ा को एक  गड़रिये ने खोजा था कहानियो के अनुसार यह गड़रिया अपनी खोई हुई बकरी खोजते हुए इस गुफ़ा तक पहुँच गया था वहा उसको जिज्ञासा हुई की आखिर गुफा के अंदर क्या है तो वह गुफ़ा के अंदर चला गया गुफा के अंदर उसने एक बड़ा सा शिवलिंग देखा धार्मिक ग्रंथों के अनुसार भगवान शंकर इस गुफ़ा में योग मुद्रा में बैठे हुए हैं गुफ़ा के अन्दर अन्य देवी-देवताओं की आकृतिया भी मौजूद हैं इस गुफा का आकार भी...

काशी तमिल संगमम

0
'काशी तमिल संगमम' के दूसरे दिन तमिलनाडु के प्रतिनिधियों के पहले जत्थे ने सारनाथ और गंगा घाटों का अवलोकन किया। काशी तमिल संगमम में शामिल होने के लिए तमिलनाडु से काशी आए प्रतिनिधियों के पहले जत्थे ने पवित्र नदी गंगा के घाट, श्री काशी विश्वनाथ मंदिर, तथागत घाट और मूलगंधा कुटी विहार सारनाथ और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के विशाल परिसर में स्थित प्रदर्शनी स्थलों का अवलोकन किया। प्रतिनिधि सुबह-सुबह गंगा नदी के तट पर पहुंचे ।प्रतिनिधियों ने तेज धूप में सुबह की ठंडक का आनंद लेते हुए हनुमान घाट पर स्नान किया। स्नान के बाद वे बाबा दरबार पहुंचे जहां उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर में ध्यान किया।पवित्र गंगा में स्नान और बाबा का ध्यान उनके लिए अत्यंत संतुष्टिदायक रहा था।प्रतिनिधियों ने सारनाथ का भी दौरा किया। यह स्थल चार प्रमुख बौद्ध तीर्थ स्थलों में से एक है।  सारनाथ के निकट सराय मोहना में स्थित तथागत घाट का भ्रमण कर वे बहुत प्रसन्न हुए और सांस्कृतिक संध्या का आनंद लिया,उन्होंने भगवान बुद्ध के पहले उपदेश के स्थल पर जाकर हजारों वर्ष पुराने इतिहास और विरासत के बारे में जानकारी प्राप्त की। प्रतिनिधियों ने पुरातात्विक परिसर, 'मूलगंधा कुटी विहार' और इसके आसपास के आकर्षणों को देखकर प्रसन्नता व्यक्त की। प्रतिनिधियों, जिनमें ज्यादातर तमिलनाडु के विद्यार्थी शामिल थे, ने सुबह बनारस हिंदू विश्वविद्यालय परिसर और "काशी तमिल संगमम" स्थल पर स्थित विभिन्न प्रदर्शनी स्थलों का भी दौरा किया। उन्होंने दो पवित्र शहरों के समृद्ध सांस्कृतिक और इतिहास के बारे में जानने और ज्ञान इकट्ठा करने में सफलता प्राप्त की। शिवमय (काशी) और शक्तिमय (तमिलनाडु) ने मिलकर "संगम" को प्रज्ज्वलित किया और इसकी आभा के अन्तरगत पूरी घटना का उत्साह हर पीढ़ी के दिल में उतर गया।इस कार्यक्रम में अब तक तमिलनाडु के मेहमानों और प्रतिनिधियों की उपस्थिति न केवल ऐतिहासिक "काशी तमिल संगमम" कार्यक्रम में प्रेरणादायक है, बल्कि बड़ी संख्या में स्थानीय काशी निवासियों की उपस्थिति भी उल्लेखनीय थी।

यूपी बनेगा इको टूरिज़्म हब

0
अजय सिंह यूपी बनेगा इको टूरिज़्म हब, यानी 'इको टूरिज्म' में होगा 'वन डिस्ट्रिक्ट वन डेस्टिनेशन'. योगी सरकार की ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने की शुरू हो रही है 'ओडीओडी' योजना. ●यूपी में जल्द गठित होने जा रहा है इको टूरिज्म बोर्ड. ●अब तक 56 जिलों के इको टूरिस्ट स्थलों का हो चुका है चयन. ●वन विभाग ने अब तक 56 जिलों में चयनित किए स्थल. ●मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर वन विभाग प्रदेश के हर जिले से ऐसे संभावनाओं वाले क्षेत्रों को चिह्नित कर रहा है जिनको 'वन डिस्ट्रिक्ट, वन डेस्टिनेशन' (ओडीओडी) के अंतर्गत विकास किया जाएगा. ●अब तक 56 जिलों में...

पृथ्वी पर एक स्वर्ग है…..

0
कश्मीर को धरती का स्वर्ग कहा गया है और ऐसा कहना भी गलत नही है। यहां की बर्फ से ढकी चोटिया हरे भरे पहाड कल कल करती नदियां झीले इसे धरती की जन्नत का दर्जा दिलाती है। कश्मीर का कोने कोने मे कुदरत ने प्रकृति को इस तरह सजाया है कि मानो साक्षात धरती पर ही स्वर्ग उतार दिया हो। लद्दाख कश्मीर का एक खुबसूरत जिला है। लद्दाख का क्षेत्रफल 97776 वर्ग किलोमीटर है। लद्दाख समुन्द्र तल से लगभग 3524 मीटर की ऊचाई पर बसा है। लद्दाख इतिहास के पन्नो में शुरू से ही रहस्यो से परिपूर्ण भूमि...
hi Hindi
X