निवेश के नाम पर छलावा-अखिलेश

42
चुनावी चंदे की मार अबकी भाजपा की हार-अखिलेश यादव
चुनावी चंदे की मार अबकी भाजपा की हार-अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार ने इन्वेस्टर समिट और निवेश के नाम पर अभी तक जनता के साथ छलावा किया है और उसे धोखा दिया है। पिछले दस साल में भाजपा की केन्द्र और प्रदेश सरकार मिलकर बड़े-बड़े आयोजन कर जनता की आंख में धूल क्यों झोंक रही है? इस सरकार में अभी तक कोई निवेश जमीन पर नहीं दिखाई दिया है। जनता की गाढ़ी कमाई इन बड़े-बड़े आयोजनों में लुटाने के बावजूद प्रदेश में किसी भी जिले में कोई बड़ी फैक्ट्री या उद्योग नहीं लगा सका जिसमें नौजवानों को नौकरी और रोजगार मिला हो। निवेश के नाम पर छलावा-अखिलेश


भाजपा सरकार के दावे हमेशा झूठे रहे। सरकार की कथनी और करनी में भारी अंतर है। भाजपा सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में इन्वेस्टर समिट और ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरमनी पर खूब रूपये लुटाए लेकिन उसका नतीजा शून्य निकला। दूसरे कार्यकाल में भी भाजपा सरकार ने पहले की तरह बड़े-बड़े दावे किये। 40 लाख करोड़ के एमओयू होने का दावा किया और चुनाव करीब देखकर अब ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरमनी का फिर दिखावा किया जा रहा है। इसका भी हश्र पहले जैसा होगा। चमक दमक और दिखावा करने से निवेश नहीं आता है। निवेश और नौकरी, रोजगार के लिए ठोस और स्पष्ट नीति की आवश्यकता होती है। जिसका भाजपा सरकार में अभाव है।


समाजवादी सरकार ने निवेश और उद्योग के लिए जो नीति बनायी थी उसी का नतीजा है कि प्रदेश में स्मार्ट सिटी, अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का इकाना स्टेडियम, हॉस्पिटल बने, अमूल प्लांट लगा, सैमसंग, एचसीएल और अन्य कम्पनियों ने निवेश किया जिससे लाखों युवाओं को अपने प्रदेश में नौकरी और रोजगार मिला। अखिलेश यादव ने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार से त्रस्त जनता को धोखा देने के लिए भाजपा नए-नए इवेन्ट के जरिए मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए चुनाव से पहले नई-नई कसरत करती रहती है। जनता भाजपा की इन चालों को समझती है। लोकसभा चुनाव में जनता भाजपा को हरा कर उसके धोखे का जवाब देगी। निवेश के नाम पर छलावा-अखिलेश