प्रतिज्ञाओं और वादों पर सवाल उठाना दुर्भाग्यपूर्ण-संजय सिंह

100
  • बसपा सुप्रीमो द्वारा प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा की गई प्रतिज्ञाओं और वादों पर सवाल उठाना दुर्भाग्यपूर्ण
  • भाजपा सरकार हो विपक्ष में सपा, बसपा,  उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और प्रियंका गांधी वाड्रा के अलावा सभी दल जनता के मुद्दों पर बात नहीं कर रहे हैं ।
  • सपा और बसपा साढ़े 4 साल तक जनता से दूर रहे और अब चुनाव के वक्त जनता के मुद्दों से दूर हैं । सिर्फ प्रियंका गांधी वाड्रा प्रदेश की जनता की पीड़ा और जनता के अधिकार की लड़ रही है।
  • प्रियंका गांधी वाड्रा जनता से आह्वान कर रही है कि उत्तर प्रदेशवासी जाति और धर्म के आधार पर वोट मांगने वालों से दूर रहें तभी सही मायनों में प्रदेश का विकास होगा ।



लखनऊ
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा की उत्तर प्रदेश में चुनाव आते ही भाजपा सरकार धर्म और जाति की बात करने लगी है । सरकार के मंत्री धु्रवीकरण की कोशिश करने में जुट गए हैं । यह सरकार की विफलता को ही दर्शाता है । ज्यादातर मंत्री अपने मंत्रालय में किए गए कामों को बताने में फेल है । क्योंकि उनके मंत्रालय में सही ढंग से काम नहीं हुआ है और ही ना ही निर्धारित लक्ष्य पूरा किया गया है । सरकार रोजगार देने के लक्ष्य को पूरा नहीं कर पाई । पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर सड़कों में गड्ढे तक नहीं भरवा पाए । अपने मंत्रालय की उपलब्धि बताने के बजाय पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर चुनावी मोड में आ गए हैं और ध्रुवीकरण की कोशिश में लगे हैं । महंगाई चरम पर है, किसान को लागत का मूल्य नहीं मिल रहा है। लोगों की कमाई कम हो गई है और महंगाई बहुत बढ़ गई है मगर सरकार का ध्यान जनता के कल्याण के बजाय चुनाव प्रचार पर है।


इन सारे मुद्दों पर सिर्फ प्रियंका गांधी वाड्रा जी के नेतृत्व में कांग्रेस मुखर है, सड़कों पर लड़ रही है । कांग्रेस के 18500 कार्यकर्ता विगत वर्षों में जेल गए । कोरोना काल में कांग्रेस ने घर वापसी कर रहे प्रवासियों को रेल और बस उपलब्ध कराई और रास्ते में प्रियंका गांधी वाड्रा जी के आदेशानुसार भोजन और दवा का भी इंतजाम किया ।
अब उत्तर प्रदेश चुनाव में प्रदेश के युवाओं, किसानों, महिलाओं के लिए और उत्तर प्रदेश के विकास के लिए प्रियंका गांधी जी द्वारा प्रतिज्ञा ली गई हैं, जिन पर बसपा सुप्रीमो मायावती जी ने सवाल उठाया है  वह दुर्भाग्यपूर्ण है । क्योंकि कांग्रेस पिछले साढे़ 4 साल से उत्तर प्रदेश में लगातार जनता के लिए काम कर रही है और सरकार बनने पर जो प्रतिज्ञाएं प्रियंका गांधी वाड्रा जी ने ली है उसे पूरा करने के लिए दृढ़ संकल्प है ।

मायावती जी विपक्ष में है, उन्हें कांग्रेस के बजाय भाजपा सरकार पर सवाल करना चाहिए। जाति पर वोट पाने का समय अब बीते जमाने की बात है और कल प्रियंका गांधी वाड्रा जी ने भी उत्तर प्रदेश की जनता से अपील की है की जाति और धर्म के आधार पर वोट देने से बचना होगा । महंगाई, बेरोजगारी, कानून व्यवस्था, बिकते हुए सरकारी संस्थानों, फसल की सही कीमत, महिला आरक्षण को मुद्दा बनाना होगा और जनता को भी वोट इन्हीं मुद्दों पर देना होगा, तभी उत्तर प्रदेश के नौजवानों, किसानों, महिलाओं का विकास होगा और साथ साथ उत्तर प्रदेश का विकास होगा ।

जाति और धर्म के आधार पर वोट पाने वाले जनता के प्रति जवाबदेह नहीं होते। भाजपा, सपा और बसपा तीनों ही दल जाति के वोटों के आधार पर सत्ता में आए । जाति और धर्म की राजनीति करते रहे, इसलिए निरंकुश रहे । जनता के प्रति जवाबदेह नहीं रहे । प्रियंका गांधी वाड्रा जी के नेतृत्व में कांग्रेस मुद्दों की बात कर रही है ।उत्तर प्रदेश के विकास की बात कर रही है। सड़कों पर लड़ाई लड़ रही है ।इसलिए हमें उम्मीद है कि जनता का विश्वास जीतने में हम कामयाब होंगे और सरकार बनाएंगे । सरकार बनाने पर कांग्रेस अपनी प्रतिज्ञाएं पूरी करेगी और उत्तर प्रदेश का विकास करेगी ।