गोरखपुर में 62.03 करोड़ रु0लागत की 237 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने जनपद गोरखपुर में कुल 62.03 करोड़ रु0लागत की 237 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया।इसमें 40.66 करोड़ रु0 लागत की 133 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा21.37 करोड़ रु0 लागत की 104 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल।मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अर्न्तगत11 लाभार्थियों को आवास की प्रतीकात्मक चाभी प्रदान की।जनता का प्रतिनिधित्व अच्छा होता है, तो विकास को गति मिलती हैऔर विकास की योजना का बेहतर लाभ आम जनमानस को प्राप्त होता है।हर गरीब को अपना आवास मिले, इसके लिए बिनाकिसी भेदभाव सभी को आवास मुहैया कराए जा रहे।गोरखपुर महानगर में 25 हजार लोगप्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) से लाभान्वित हुए,सरकार बिना किसी भेदभाव के स्वास्थ्यसुविधाओं का लाभ सभी को उपलब्ध करा रही।


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद गोरखपुर में कुल 62.03 करोड़ रुपये लागत की 237 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। इसमें 40.66 करोड़ रुपये लागत की 133 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 21.37 करोड़ रुपये लागत की 104 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के अर्न्तगत 11 लाभार्थियों को आवास की प्रतीकात्मक चाभी प्रदान की।


इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने एक साथ कुल 237 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास के लिए सभी को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि यदि जनता का प्रतिनिधित्व अच्छा होता है, तो विकास को गति मिलती है और विकास की योजना का बेहतर लाभ आम जन मानस को प्राप्त होता है। गोरखपुर नगर निगम द्वारा विकास के लिए उपलब्ध धनराशि का प्रयोग जन-सुविधाओं के लिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने हर गरीब को आवास उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री आवास योजना प्रारम्भ की। हर गरीब को अपना आवास मिले, इसके लिए सरकार द्वारा बिना भेदभाव सभी को आवास मुहैया कराए जा रहे हैं। विकास की योजना का लाभ पाना जनता का हक है। उन्होंने बताया कि गोरखपुर महानगर में 25 हजार लोग प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) से लाभान्वित हुए हैं।

गोरखपुर नगर निगम को नई पहचान मिल रही,नगर निगम का नया भवन निर्माणाधीन, जो शीघ्र पूर्ण होगा।कोरोना काल खण्ड में पार्षदों/जन प्रतिनिधियोंद्वारा प्रतिबद्धता के साथ बेहतर कार्य किया गया।सभी को सुरक्षा प्रदान करना सरकार की प्रतिबद्धता।विकास की योजना बनाते समय जनता की प्राथमिकता कोध्यान में रखा जाये तथा उसको समयबद्ध ढंग से पूर्ण किया जाये।गोरखपुर महानगर में जल जमाव की समस्या सेनिजात हेतु एक विस्तृत कार्य योजना बनायी जाये।


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा हर घर में शौचालय उपलब्ध कराया गया है, क्योंकि अशुद्ध पेयजल एवं गंदगी मस्तिष्क ज्वर जैसी बीमारियों को जन्म देती है। सरकार सभी को बिना भेदभाव स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ उपलब्ध करा रही है, जिसके कारण इंसेफलाइटिस एवं कोरोना जैसी बीमारियों को नियंत्रित किया गया है। गोरखपुर नगर निगम को नई पहचान मिल रही है। नगर निगम का नया भवन निर्माणाधीन है, जो शीघ्र पूर्ण होगा। उन्होंने कहा कि बेहतर कार्य पद्धति ही किसी की पहचान होती है और आने वाली पीढ़ी को प्रेरणा देती है। कोरोना काल खण्ड में पार्षदों/जन प्रतिनिधियों द्वारा प्रतिबद्धता के साथ बेहतर कार्य किया गया है, जिसका परिणाम अच्छा आया है। हमें इसी कार्य पद्धति के माध्यम से निरन्तर आगे बढ़ना होगा।

हम सबको एक सजग नागरिक के रूप में विकास एवं सुरक्षा के प्रति सदैव सजग रहना चाहिए। थोड़ी सी सजगता बहुत लोगों का जीवन बचाने में बड़ी भूमिका का निर्वहन कर सकती है। जनता के साथ सतत संवाद आवश्यक है। सजगता किसी भी व्यवस्था को सुरक्षित रखती है। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों का बहिष्कार किया जाना चाहिए। कानून व्यवस्था में व्यवधान करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। सभी को सुरक्षा प्रदान करना सरकार की प्रतिबद्धता है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास की योजना बनाते समय जनता की प्राथमिकता को ध्यान में रखा जाये तथा उसको समयबद्ध ढंग से पूर्ण किया जाये। समयबद्धता से कार्य करने में विचलन की छूट न दी जाये। कार्य की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए। पात्रता का चयन सही हो। उन्होंने यह भी कहा कि गोरखपुर महानगर में जल जमाव की समस्या से निजात हेतु एक विस्तृत कार्य योजना बनायी जाये।इस अवसर पर गोरखपुर के महापौर सीताराम जायसवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।