नए शिखर की ओर अग्रसर बुंदेलखंड-मुख्यमंत्री

213
  • मुख्यमंत्री ने जनपद ललितपुर में बण्डई बांध परियोजना सहित576.86 करोड़ रु0 की कुल 41 योजनाओं का लोकार्पण तथा5.21 करोड़ रु0 की धनराशि से निर्मित किए जाने वाले सीवेज एवंसेप्टेज प्रबन्धन एफ0एस0टी0पी0-21 के0एल0डी0 का शिलान्यास किया।
  • मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित बण्डई बांध परियोजनाकी स्वीकृत लागत 303.54 करोड़ रु0।
  • मुख्यमंत्री द्वारा जनपद ललितपुर में 582.07 करोड़ रु0 कीकुल 42 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास।
  • वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा बुन्देलखण्ड क्षेत्र का विकास कर इसे नई ऊंचाइयों पर ले जाने का कार्य किया जा रहा है।
  • प्रदेश सरकार ने जनपद ललितपुर में सड़कों का बेहतर जाल बिछाया है,अब यहां एयरपोर्ट भी बनाने की कार्यवाही की जा रही।
  • जनपद ललितपुर में मेडिकल कॉलेज भी बनाया जा रहा।
  • ललितपुर में अटल आवासीय विद्यालय का निर्माण कराया जा रहा।
  • वर्ष 2022 तक सभी गरीब परिवारों को आवास उपलब्ध करा दिया जाएगा।
  • हर न्याय पंचायत में एक गौशाला उपलब्ध होगी।
  • कोरोना कालखण्ड में प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व मेंदेश में हर गरीब को राशन उपलब्ध कराया गया।
  • राशन कोटे की दुकान अब महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाएं चलाएंगी।
  • बाल पुष्टाहार को महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम वितरित करने का निर्णय।


लखनऊ ।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा बुन्देलखण्ड क्षेत्र का विकास कर इसे नई ऊंचाइयों पर ले जाने का कार्य किया जा रहा है। ललितपुर एक खुशहाल जनपद है। यहां के लोग सज्जन व मेहनत में विश्वास करने वाले हैं। ललितपुर में विभिन्न प्रकार की विकासपरक परियोजनाआंे को धरातल पर उतारा जा रहा है। सड़क मार्ग का चौड़ीकरण, पेयजल तथा स्वास्थ्य सुविधाओं सहित अन्य योजनाओं के माध्यम से ललितपुर वासियों के जीवन को सहज बनाने का काम किया गया है।


मुख्यमंत्री ने यह विचार जनपद ललितपुर में बण्डई बांध परियोजना के लोकार्पण अवसर पर व्यक्त किए। इस अवसर पर उन्होंने बण्डई बांध परियोजना सहित 576.86 करोड़ रुपये की कुल 41 योजनाओं का लोकार्पण तथा 5.21 करोड़ रुपये की धनराशि से निर्मित किए जाने वाले सीवेज एवं सेप्टेज प्रबन्धन एफ0एस0टी0पी0-21 के0एल0डी0 का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री जी द्वारा लोकार्पित बण्डई बांध परियोजना की स्वीकृत लागत 303.54 करोड़ रुपये है। इस प्रकार मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद ललितपुर में 582.07 करोड़ रु0 की कुल 42 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया।


वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकार जनपद ललितपुर के विकास के लिए तत्परता से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि बण्डई बांध परियोजना सहित विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास आज सम्पन्न हुआ है। इनसे जहां क्षेत्र का सर्वांगीण विकास होगा, वहीं क्षेत्र की जनता भी खुशहाल होगी।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जनपद ललितपुर में सड़कों का बेहतर जाल बिछाया है। अब यहां एयरपोर्ट भी बनाने की कार्यवाही की जा रही है। हवाई सेवा शुरू होने से दिल्ली 01 घण्टे, मुम्बई व बैंगलुरू 02 घण्टे में पहुंचा जा सकेगा। जनपद ललितपुर में मेडिकल कॉलेज भी बनाया जा रहा है।


बुन्देलखण्ड क्षेत्र का विस्तृत भू-भाग है, अच्छी मिट्टी है और पर्याप्त मात्रा में प्राकृतिक संसाधन भी उपलब्ध हैं। आजादी के बाद व्यवस्थित रूप से कार्य न किए जाने के कारण यहां से लोगों का पलायन होता रहा। यह जनपद सूखे से पीड़ित रहा है। बण्डई बांध परियोजना के शुभारम्भ के पश्चात जनपद के 5,000 कृषक सिंचाई की सुविधा प्राप्त कर सकेंगे। साथ ही, यहां के निवासी भी शुद्ध पेयजल प्राप्त करेंगे। हमारे द्वारा ‘हर घर जल योजना’ के तहत बुन्देलखण्ड के प्रत्येक घर में शुद्ध पेयजल पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है। बण्डई बांध परियोजना के माध्यम से भी शुद्ध पेयजल घर-घर तक पहुंचेगा, जिसे पीकर लोग स्वस्थ रहेंगे तथा संक्रामक बीमारियों से भी सुरक्षित रह सकेंगे।  


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद देश में एक बड़ा परिवर्तन आया है। वर्ष 2014 के पहले गरीबां को राशन, बिजली, पानी, स्वास्थ्य तथा आवास जैसी सुविधाएं नहीं मिल पाती थी। वर्तमान सरकार द्वारा वर्ष 2022 तक सभी गरीब परिवारों को आवास उपलब्ध करा दिया जाएगा। छूटे हुए गरीब परिवारों को विद्युत कनेक्शन व रसोई गैस कनेक्शन देने का काम तेजी से किया जा रहा है। इसके साथ ही, आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत प्रत्येक गरीब परिवार को 05 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सारे काम पहले भी हो सकते थे। लेकिन पिछली सरकारों के एजेण्डे में गांव, गरीब नहीं था।


राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि हर न्याय पंचायत में एक गौशाला उपलब्ध हो। जो किसान निराश्रित गोवंश को रखेगा उन्हंे प्रति निराश्रित गोवंश पर 900 रुपये प्रतिमाह दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दूध देने वाली गाय कुपोषित परिवारों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है। ऐसे परिवारों को भी राज्य सरकार द्वारा 900 रुपये प्रतिमाह प्रति गोवंश उपलब्ध कराया जा रहा है।


कोरोना कालखण्ड में प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश में हर गरीब को राशन उपलब्ध कराया गया है। जनधन खाता धारकों को हर माह 500 रुपये उनके खाते में भेजे गये। वृद्धावस्था, दिव्यांगजन तथा निराश्रित महिला पेंशन धारकों को 1000 रुपये डी0बी0टी0 के माध्यम से उनके खाते में भेजे गये। इसी प्रकार ठेला, खोमचा, पल्लेदार आदि को भरण-पोषण भत्ता उपलब्ध कराया गया।


ललितपुर में अटल आवासीय विद्यालय का निर्माण कराया जा रहा है। इस विद्यालय के माध्यम से पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों को आधुनिक शिक्षा दी जाएगी। अटल आवासीय विद्यालय में पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों के साथ-साथ अनाथ बच्चों को भी शिक्षा प्रदान की जाएगी। माताओं का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोग भी महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम से कार्य करें। राज्य सरकार ने तय किया है कि राशन कोटे की दुकान अब महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाएं चलाएंगी। राज्य सरकार द्वारा उन्हें यह जिम्मेदारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने बाल पुष्टाहार को महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम वितरित करने का भी निर्णय लिया है।


प्रदेश सरकार विकास योजनाओं का लाभ प्रत्येक नागरिक को उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि पात्रता की श्रेणी में आने वाले हर गरीब, दिव्यांग, वृद्धजन तथा निराश्रित महिला को पेंशन का लाभ मिलना चाहिए। प्रत्येक गरीब व निराश्रित महिला के पास राशन कार्ड उपलब्ध होना चाहिए। प्रदेश सरकार की मंशा है कि अन्तिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को शासन की योजनाओं का लाभ अवश्य मिले।

जल शक्ति मंत्री डॉ0 महेन्द्र सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि बण्डई बांध परियोजना तहसील मड़ावरा के ग्राम धौरीसागर स्थित बण्डई नदी, जो कि धसान नदी की सहायक नदी है, पर निर्मित की गई है। परियोजना के कार्य वर्ष 2013-14 से प्रारम्भ किए गए थे। इस परियोजना के अन्तर्गत रबी में 1,975 हेक्टेयर तथा खरीफ में 1,050 हेक्टेयर कुल 3,025 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा प्रस्तावित है, जिससे धौरीसागर, पिसनारी, टौरी, देवरा, हसरा, सेमरखेड़ा, बम्हौरीखुर्द, मानपुरा, मर्रौलीमाफ, गिरार एवं भीकमपुर कुल 11 ग्रामों के कृषक लाभान्वित होंगे। साथ ही, ग्रामवासियों को पेयजल की सुविधा भी उपलब्ध होगी।


कार्यक्रम को श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री मनोहर लाल मन्नू कोरी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान सरकार समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति के विकास हेतु प्रतिबद्ध है। आवास एवं शहरी नियोजन राज्यमंत्री गिरीश चन्द्र यादव ने कहा कि बण्डई बांध परियोजना यहां के लोगों के लिए एक वरदान है। विधान परिषद सदस्य स्वतंत्र देव सिंह ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए।