कामाख्या धाम में उमड़ा भक्तों का जनसमूह

54

नवरात्रि के चौथे दिन कामाख्या धाम में उमड़ा भक्तों का अपार जनसमूह।

धर्मेंद्र यादव

अयोध्या/बाबा बाजार। गोमती नदी के तट पर घने जंगलों के मध्य स्थित भक्तो के आस्था का प्रमुख केंद्र सिद्धपीठ मां कामाख्या धाम में नवरात्रि के चौथे दिवस भक्तो का अपार जन समूह दर्शन पूजन करने पहुंचा। नवरात्रि में नौ दिनों में नवदुर्गा की पूजा आराधना किया जाता है उसी क्रम में सिद्धपीठ मां कामाख्या धाम में भी मां कुष्मांडा का ध्यान करके पूजन वंदन किया गया। मंदिर के महंत इंद्रेश कौशिक महाराज ने बताया कि मां कुष्मांडा ऊर्जा की देवी है,इस कलिकाल में संपूर्ण संसार केवल ऊर्जा के कारण संचालित है नवरात्रि के शक्ति में मां कुष्मांडा ऊर्जा का संचार करती है माता कुष्मांडा की पूजा नवरात्रि के चौथे दिन की जाती है और माना जाता है कि यह स्वास्थ्य में सुधार करती है और धन और शक्ति प्रदान करती है।

महंत इंद्रेश कौशिक महाराज ने बताया कि नवरात्रि के साथ साथ शुक्रवार होने की वजह से भीड़ अधिक संख्या में मंदिर पर पहुंची। लाखो की संख्या में भक्तो ने मंदिर पहुंचकर पूजन अर्चन किया, महाराज जी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था भी चाक चौबंद है आने वाले किसी भी श्रद्धालु को किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े इसके लिए पुलिस प्रशासन पूर्ण सहयोग प्रदान कर रही है, पुलिस बल के साथ पीएसी बल भी मेला प्रांगण में पर्याप्त संख्या में तैनात किया गया है। महाराज जी ने कहा कि मंदिर आने सभी श्रद्धालु से निवेदन है कि आप सभी श्रद्धालु भी मंदिर व्यवस्था में अपना सहयोग प्रदान करे कोई अव्यवस्था ना हो इसके लिए आप सभी शांति पूर्ण भक्ति पूर्ण भाव से मां का दर्शन पूजन करके हम सभी का सहयोग प्रदान करे।