प्रधानमंत्री भगवान राम के भव्य मंदिर का 05 अगस्त को करेंगे भूमिपूजन

अयोध्या, उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज 05 अगस्त 2020 प्रधानमंत्री के आगमन को देखते हुए अयोध्या का भ्रमण किया जिसमें प्रथम चरण में श्री राम जन्मभूमि परिसर में रामलला का दर्शन पूजन किया तथा शिलान्यास/भूमि पूजन स्थल का निरीक्षण किया तथा वैदिक पद्धिति से शिलान्यास कार्यक्रम के तैयारी का निर्देश दिया अगले चरण में मुख्य कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया जहाॅ से सन्त महात्माओ का सम्बोधन किया जाना है वहाॅ पर पुराने समय में बनाये गये वाच टावर जिसका उपयोग नही है हटाने का निर्देश दिया। कार्यक्रम भ्रमण के अवसर पर जनपद के प्रभारी मंत्री डा नीलकण्ड तिवारी, राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्ट के महामंत्री एवं विश्व हिन्दू परिषद के महामंत्री चम्पत राय मिश्र सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल, अपर पुलिस महानिदेशक एसएन सावंत, पुलिस महानिरीक्षक डा0 संजीव गुप्ता, ट्रस्ट के पदेन सदस्य/जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी सहित पुलिस एवं सम्बन्धित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री रामलला का पूजा अर्चन वहाॅ के मुख्य पुजारी सहित अन्य पुजारी ने कराया। मुख्यमंत्री जी अगले चरण में हनुमानगढ़ी का पूजन अर्चन किया एवं वहाॅ पर उपस्थित संतो एवं पुजारी से भेट मुलाकात की जिसमें प्रमुख श्री प्रेमदास जी आदि प्रमुख थे। मुख्यमंत्री जी ने भ्रमण के अगले चरण में कार्यशाला का भी भ्रमण किया। उक्त अवसर पर चम्पत राय जी द्वारा मंदिर के दिवारो, स्तम्भो एवं मंदिर के छत, पिलर एवं 1990 में प्रत्येक गाॅव से लाये गये शिलाओ की जानकारी दी तथा वास्तुकार कान्त सोमपुरा से कहा कि अब आपका परिश्रम फलीभूत होने जा रहा है तथा उनको शुभकामना दी। मुख्यमंत्री जी अगले चरण में अयोध्या के कार सेवकपुरम् जहाॅ विश्व हिन्दू परिषद का कार्यालय के हाल में संतो के साथ बैठक किया एवं संतो से मंदिर बनाने के लिए सहयोग मांगा तथा आर्शीवाद लिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सभी संतो के सहयोग आर्शीवाद की आवश्यकता है प्रधानमंत्री का आगमन 05 अगस्त को हो रहा है उस दिन अयोध्या को जन्मोत्सव की तरह भव्यता की तरह सजाया जाए तथा सभी घरो में दीपावली की तरह दीये जलाये जाए और जिस प्रकार एक बच्चे का जन्मोत्सव मनाया जाता है उसी प्रकार शिलान्यास/भूमि पूजन कार्यक्रम को महोत्सव के साथ भव्यरूप प्रदान करते हुए मनाया जाये जिसके लिए उन्होंने सभी से सहयोग का अह्वान किया है। इस अवसर पूज्य महंत नृत्य गोपालदास जी, कमयनयन दास जी, सुरेशदास जी, श्री रामशरणदास जी, राजकुमार दास जी, रामकुमार दास जी, विद्याभास्करदास जी, श्री राघवाचार्यजी आदि सभी संत उपस्थित थें। इस कार्यक्रम का संचालन चम्पतराय जी ने किया। बैठक में अयोध्या के संत महात्माओ के अलावा संसद लल्लू सिंह, विधायकगण, मेयर सहित जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित थे। बैठक के उपरान्त मुख्यमंत्री जी के द्वारा साकेत डिग्री कालेज में प्रधानमंत्री के लिए बनाये जा रहे हेलीपैड स्थल का निरीक्षण किया।

  प्रधानमंत्री मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर के लिए भूमिपूजन करेंगे, इस दौरान 4 और 5 अगस्त को अयोध्या में भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को अयोध्या पहुंचे और मुख्यमंत्री ने पहले हनुमानगढ़ी तथा रामलला में दर्शन किया. दर्शन के बाद सीएम योगी राम मंदिर परिसर में भी गए और उन्होंने भूमिपूजन की तैयारियों की समीक्षा की,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 5 अगस्त को अयोध्या दौरा प्रस्तावित है. इसे देखते हुए भी मुख्यमंत्री तैयारियों का जायजा ले रहे हैं । 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन कार्यक्रम है, इससे पहले ही तैयारियां वहां काफी पहले से शुरू कर दी गई हैं। प्रधानमंत्री मोदी के आगमन पर पूरे अयोध्या को सजाया जाएगा और बिल्कुल दीपावली जैसा नजारा पूरी रामनगरी में होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साधु संतों के साथ भूमिपूजन की तैयारियों पर विचार विमर्श किया। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की योजना है कि ये कार्यक्रम विश्व भर में चर्चित और लोकप्रिय हो सके. साधु संत इसी उद्देश्य में पूरी तन्मयता से जुटे हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मीटिंग करने कार्यशाला पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट और साथ-साथ साधु संतों के साथ मीटिंग करेंगे, 5 अगस्त को अयोध्या के भूमि पूजन में प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर चर्चा होगी।