मेट्रो रेल परियोजना के लंबित प्रकरणों का निस्तारण-मुख्य सचिव

  • कानपुर एवं आगरा मेट्रो रेल परियोजना हेतु अपेक्षित भूमि हस्तांतरण के लंबित प्रकरणों के निस्तारण के लिये मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित उच्चाधिकार समिति की बैठक संपन्न।
  • कानपुर मेट्रो परियोजना के रिसीविंग सब-स्टेशन हेतु चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के परिसर की 3000 वर्गमी भूमि उपलब्ध कराई जायेगी।
  • जनपद आगरा की तहसील फतेहाबाद के ग्राम मुटावई के गाटा संख्या-10 रकबा 34.5870 हे0 जो कि राजस्व अभिलेखों में चारागाह श्रेणी की भूमि के रूप में सुरक्षित है, में से 21.00 हे0 भूमि को संरक्षित वन (प्रोटेक्टेड फाॅरेस्ट) अधिसूचित कराये जाने के सापेक्ष तहसील बाह के ग्राम गढ़वार के खाता संख्या-00752 गाटा संख्या-638च रकबा 32.2670 हे0 (बंजर भूमि) में से 21.00 हे0 भूमि चारागाह हेतु आरक्षित करने हेतु मण्डलायुक्त आगरा समस्त अपेक्षित कार्यवाही एक सप्ताह में सुनिश्चित करायें तथा वन विभाग इसी सीजन में उक्त भूमि पर वृहद वृक्षारोपण सुनिश्चित करायें।
  • आगरा मेट्रो रेल परियोजना के काॅरिडोर-1 के प्राथमिक सेक्शन के डिपो निर्माण हेतु
  • 15वीं वाहिनी पीएसी की 8.09 हे0 भूमि उपलब्ध कराई जायेगी

लखनऊ, कानपुर एवं आगरा मेट्रो रेल परियोजना हेतु अपेक्षित भूमि हस्तांतरण के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में उच्चाधिकार समिति की बैठक संपन्न हुई।बैठक में कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के अंतर्गत कानपुर मेट्रो परियोजना के रिसीविंग सब-स्टेशन हेतु चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के परिसर की 3000 वर्गमी0 भूमि उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कानपुर के कुलपति को निर्देश दिये गये कि वह तत्काल चिन्हित भूमि का कब्जा यू0पी0एम0आर0सी0 को दे दे, ताकि परियोजना कार्य बाधित न हो। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि उक्त भूमि के बदले कमिश्नर कानपुर, विश्वविद्यालय के अंतर्गत अन्य जनपदों में संचालित नार्प शोध केन्द्रों/कृषि विज्ञान केन्द्रों से लगी 3000 वर्गमी0 भूमि, विश्वविद्यालय को उपलब्ध कराने के लिये सम्बन्धित मण्डलायुक्तों/जिलाधिकारियों से विचार-विमर्श कर एक सप्ताह में उक्त का निस्तारण कराना सुनिश्चित करेंगे।

आगरा मेट्रो रेल परियोजना के अंतर्गत जनपद आगरा की तहसील फतेहाबाद के ग्राम मुटावई के गाटा सं0-10 की भूमि के रूप में है, में से 21 हेक्टेयर भूमि को संरक्षित वन (प्रोटेक्टेड फाॅरेस्ट) अधिसूचित कराये जाने के सापेक्ष बाह के ग्राम गढ़वार के खाता सं0-00752 गाटा संख्या-638 च रकबा 32.2670 हेक्टे0 (बंजर भूमि) में से 21 हेक्टेयर चारागाह श्रेणी की भूमि को संरक्षित वन अधिसूचित किये जाने के लिये मण्डलायुक्त आगरा को आवश्यक कार्यवाही इसी सप्ताह निष्पादित कराने के निर्देश दिये गये तथा वन विभाग को उक्त भूमि पर इसी सीजन में वृहद वृक्षारोपण कराने के भी निर्देश दिये गये।

आगरा मेट्रो रेल परियोजना के काॅरिडोर-1 के प्राथमिक सेक्शन के डिपो निर्माण हेतु 15वीं वाहिनी पीएसी की 8.09 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया, ताकि मेट्रो डिपो के निर्माण का कार्य अवरुद्ध न हो तथा उक्त भूमि के बदले पीएसी को दूसरी जमीन उपलब्ध कराने हेतु जिलाधिकारी आगरा एवं आगरा विकास प्राधिकरण को आपस में विचार-विमर्श कर इस संबंध में सुसंगत प्रस्ताव शासन को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव ऊर्जा अरविन्द कुमार, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, पुलिस महानिदेशक एच0सी0 अवस्थी, प्रमुख सचिव, आवास एवं नगर विकास दीपक कुमार, प्रमुख सचिव नियोजन आमोद कुमार, सचिव पर्यावरण वन एवं वन्यजीव संजय सिंह, सचिव गृह भगवान स्वरूप, सचिव राजस्व संजय गोयल, विशेष सचिव वित्त पंकज सक्सेना, निदेशक यू0पी0एम0आर0 संजय मित्रा, विशेष सचिव पीडब्ल्यूडी गिरिजेश कुमार त्यागी, एस0ई0 यू0पी0पी0सी0एल0 जी0सी0 द्विवेदी आदि उपस्थित थे। इसके अतिरिक्त जूम एप के जरिये कानपुर एवं आगरा मण्डल के मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी एवं अन्य संबंधित अधिकारियों द्वारा बैठक में प्रतिभाग किया गया। बैठक का संचालन प्रमुख सचिव आवास एवं नगर विकास दीपक कुमार द्वारा किया गया।