भाजपा का बढ़ता ग्राफ

23
भाजपा का बढ़ता ग्राफ
भाजपा का बढ़ता ग्राफ

‘मोदी की गारंटी’ और ‘योगी पर यकीन’ से लगातार बढ़ रहा भाजपा का ग्राफ। आगरा की नौ विधानसभा, दो लोकसभा सीट और नगर निकायों में भगवा। लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने 4.91 लाख से अधिक वोटों से जीती थी फतेहपुर सीकरी सीट। डबल इंजन सरकार के कार्यों से इस बार भी आगरा व फतेहपुर सीकरी सीट भाजपा की झोली में जाने को तैयार। भाजपा का बढ़ता ग्राफ

आगरा। मुख्यमंत्री रूप में योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश की बागडोर संभालने के बाद से भारतीय जनता पार्टी के वोटों का ग्राफ लगातार बढ़ता गया। जनपद आगरा में लोकसभा चुनाव, विधानसभा चुनाव और नगर निकाय चुनाव में योगी मॉडल की बदौलत भाजपा ने सफलता हासिल की। ‘मोदी की गारंटी’ और ‘योगी पर यकीन’ से मतदाताओं ने भाजपा पर एकतरफा विश्वास व्यक्त किया है। यूपी में योगी सरकार के प्रशासनिक मॉडल ने भाजपा के आधार को मजबूत करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसी का परिणाम है कि आगरा की नौ विधानसभा सीट, दो लोकसभा सीट, महापौर और अधिकांश नगर निकायों पर भाजपा का ही कब्जा है।

2014, 2019 के बाद अब 2024 में भी दिखेगा ‘कमल का कमाल’

2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की सुनामी में आगरा लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी रामशंकर कठेरिया की जीत हुई थी। इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी कठेरिया को कुल 5,83,716 मत प्राप्त हुए थे। वर्ष 2017 में\ योगी आदित्यनाथ ने सूबे की कमान संभाली। वर्ष 2019 में हुए चुनाव में आगरा लोकसभा सीट पर भाजपा ने प्रो. एसपी सिंह बघेल को उतारा। इस चुनाव में योगी फैक्टर का असर साफ़ तौर पर दिखाई दिया। प्रो. एसपी सिंह बघेल की जीत हुई। उन्हें कुल 6,44,431 वोट मिले। इस चुनाव में भाजपा प्रत्याशी को पिछली बार की अपेक्षा 60 हजार अधिक मत मिले और बघेल 2,10,053 वोट से जीते। वहीं फतेहपुर सीकरी सीट से प्रत्याशी राजकुमार चाहर ने रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की। भाजपा प्रत्याशी राजकुमार चाहर को कुल 6, 67,147 मत मिले। चाहर को 64.99 प्रतिशत वोट मिले और चाहर ने रिकॉर्ड चार लाख 91 हजार वोट से जीत दर्ज की थी। चाहर ने कांग्रेस प्रत्याशी राज बब्बर को रिकॉर्ड मतों से हराया था।

2022 विधानसभा चुनावों में भी 9 में 9 पर कमल

आगरा जनपद में विधानसभा की 9 सीटें हैं और दो लोकसभा सीटें हैं। आगरा और फतेहपुर सीकरी लोकसभा क्षेत्र हैं। आगरा लोकसभा क्षेत्र में पांच विधानसभा सीट आती है। आगरा उत्तर, आगरा दक्षिण, आगरा छावनी, एत्मादपुर और जलेसर (एटा जनपद) विधानसभा क्षेत्र है। वहीं फतेहपुर सीकरी लोकसभा क्षेत्र में फतेहपुर सीकरी, आगरा ग्रामीण, फतेहाबाद, खेरागढ़ और बाह विधानसभा सीट हैं। वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। 2017 के विधानसभा चुनाव में पार्टी ने सभी 9 सीटें जीतकर जिले में अपना परचम लहरा दिया। हर सीट पर न केवल जीत का अंतर बढ़ा, बल्कि वोट प्रतिशत में भी जबरदस्त उछाल आ गया। भाजपा प्रत्याशियों को 64 फीसदी तक वोट पड़े। वर्ष 2022 में भी योगी मॉडल की बदौलत भाजपा ने एक बार फिर विधानसभा चुनावों में रिकॉर्ड वोट हासिल कर सभी 9 सीटों पर जीत दर्ज की।

नगर निगम चुनाव में सीट के साथ ही भाजपा का वोट भी बढ़ा

नगर निकाय चुनाव में भी योगी फैक्टर ने वोटों में बढ़ोत्तरी का सिलसिला जारी रखा। वर्ष 2017 के नगर निकाय चुनाव में भाजपा के नवीन जैन आगरा नगर निगम के मेयर का चुनाव जीते थे। उन्हें करीब 57000 वोट से जीत मिली थी। 2023 में हुए नगर निकाय चुनाव में आगरा मेयर सीट पर भाजपा की हेमलता दिवाकर कुशवाहा ने 1,08,468 वोट से जीती थी। भाजपा का बढ़ता ग्राफ