महिलाओं को मिले सम्मान चलेगा अभियान

110
नई स्थानांतरण नीति में दिव्यांग कार्मिकों को राहत
नई स्थानांतरण नीति में दिव्यांग कार्मिकों को राहत

महिलाओं को मिले सम्मान, इसलिए चलेगा अभियान। प्रदेश की महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए योगी सरकार ने शुरू किया 10 दिवसीय अभियान।महिलाओं के समर्थन में हर माह 21 से 30 तारीख तक प्रदेश भर में वृहद रूप से अभियान चलाने की बनी कार्ययोजना। अभियान के दौरान महिलाओं को योगी सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में किया जाएगा जागरूक। महिलाओं को मिले सम्मान चलेगा अभियान

ब्यूरो निष्पक्ष दस्तक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान व उनके स्वावलंबन के लिए मिशन शक्ति अभियान पहले से ही क्रियान्वित किया जा रहा है और अब योगी सरकार की ओर से प्रदेश की महिलाओं और बेटियों के सशक्तिकरण के लिए 10 दिवसीय विशेष अभियान की शुरुआत की गयी है। महिलाओं की सुरक्षा और उनके सम्मान के प्रति समर्पित सीएम योगी के निर्देश पर महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन इस अभियान को लीड कर रहा है। इसकी शुरुआत 21 जुलाई से हो चुकी है, जो 30 जुलाई तक चलेगी। यही नहीं, अब हर माह की 21 से 30 तारीख तक इस अभियान को चलाया जाएगा और महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों, उनकी समस्याओं के निराकरण के साथ ही उन्हें समाज में सम्मानित स्थान दिलाने का प्रयास किया जाएगा।

शक्ति दीदी सभी विभाग की समस्याओं का कराएंगी समाधान


महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन की अपर पुलिस महानिदेशक अनुपम कुलश्रेष्ठ ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर मिशन शक्ति के चौथे चरण के तहत प्रदेश भर में महिला सशक्तिकरण को लेकर दस दिवसीय अभियान की शुरुआत की गयी है, जो हर माह चलेगा। इस दौरान प्रदेश की महिलाओं और बेटियों को विभाग की शक्ति दीदी (महिला आरक्षी) की ओर से विभिन्न सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के बारे में बताया जाएगा। इस दौरान उन्हे इन योजनाओं का लाभ लेने में हो रही परेशानी को भी संबंधित विभाग से समन्वय बनाकर दूर किया जाएगा। अपर पुलिस महानिदेशक ने बताया कि विभाग की ओर से महिलाओं और बेटियों को समस्या को दूर करने के लिए रोजाना एक्शन लिया जाता है, लेकिन इस दस दिवसीय अभियान के दौरान शक्ति दीदी फील्ड में उनसे संपर्क करेंगी और उनकी समस्या को तत्काल निस्तारित कराएंगी। उन्होंने बताया कि रूटीन के दिनों में यह संभव नहीं हो पाता है इसलिए यह निर्णय लिया गया है।

शक्ति दीदी बच्चों को देंगी गुड और बैड टच की जानकारी


अभियान के दौरान महिला बीट पुलिस द्वारा बीट क्षेत्र से संबंधित यौन अपराध की पीड़िताओं से मिलकर उनकी आवश्यक काउंसलिंग करते हुए समस्याओं का समाधान किया जाएगा। वहीं वह उनकी आवश्यकता के अनुसार उनकी हर संभव मदद करेंगी। साथ की बीट क्षेत्र के स्कूलों (प्राथमिक/उच्च माध्यमिक/इंटरमीडिएट स्कूल) में दौरा करते हुए बच्चों को विभिन्न बाल अपराध के सम्बन्ध में जागरूक करेंगी। इस बीच बच्चों को गुड टच और बैड टच की भी जानकारी दी जाएगी। इसके लिए विशेषज्ञों की ओर से सेमिनार का आयोजन भी किया जाएगा। इस दौरान वह बीट सूचनाएं को दर्ज करेंगी। इसके अलावा सूचनाओं को अपने अधिकारियों से अवगत कराने के साथ उनके समाधान के लिए विभिन्न विभागों से संपर्क स्थापित करेंगी। अभियान के दौरान शक्ति दीदी अराजक तत्वों के खिलाफ उचित धाराओं के तहत गुण्डा एक्ट की कार्यवाही सुनिश्चित करेंगी। इतना ही नहीं शक्ति दीदी की आेर से अभियान के दौरान शहरी क्षेत्रों में पिंक बूथ तथा चौकी के माध्यम से महिलाओं की समस्यायों के निस्तारण के लिए विशेष कैंप लगाकर कार्यवाही की जाएगी। पिंक बूथ पर लोकल स्तर पर महिलाओं की समस्याओं की समीक्षा करते हुए वन स्टॉप सलूशन कैम्प का आयोजन किया जा सकता है। महिलाओं को मिले सम्मान चलेगा अभियान