लोकतंत्र के विरूद्ध साजिश-अखिलेश

50
लोकतंत्र के विरूद्ध साजिश-अखिलेश
लोकतंत्र के विरूद्ध साजिश-अखिलेश

अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा प्रबंधन का षड्यंत्र करके लोकतंत्र के विरूद्ध साजिश करने में लगी रहती है। उसकी नीतियां जनविरोधी हैं और लगातार वादा खिलाफी करके उसने जनता को अपने खिलाफ कर लिया है। पीडीए एजेंडा के सामने भाजपा एनडीए टिक नहीं सकती है। भाजपा को जनता इस बार करारा जवाब देगी। उक्त उद्गार आज पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी मुख्यालय, लखनऊ के डॉ0 राममनोहर लोहिया सभागार में एकत्र पार्टी कार्यकर्ताओं के समक्ष, व्यक्त किए। श्री अखिलेश यादव ने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी भाजपा सरकार की कुनीतियों का फल है। भ्रष्टाचार चरम पर है। भाजपा सिर्फ झूठे दावों और झूठे आंकड़ों के सहारे विकसित भारत का सपना दिखा रही है।

प्रधानमंत्री का दावा है कि विश्व में भारत की पांचवी अर्थव्यवस्था है। यदि देश पांचवी अर्थव्यवस्था के पायदान पर है तो फिर 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन क्यों देना पड़ रहा है? किसान कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या क्यों कर रहा है? भाजपा सरकार ने किसान की आय दुगनी करने का वादा किया था। आज तक उसने अपना ‘संकल्प‘ पूरा नहीं किया? इसकी जगह भाजपा ने किसान के उपयोग में आने वाली खाद-बीज, बिजली सब महंगी कर दी। अखिलेश यादव ने कहा कि सन् 2022 में जनता ने समाजवादी सरकार बनाने के लिए वोट दिया था। भाजपा ने सत्ता का दुरुपयोग करके जनता के साथ विश्वासघात किया। जनता भाजपा का चालाकियों से भली भांति परिचित हो गई है। अब 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा की सरकार जनता दोबारा नहीं बनने देगी। जनता इस बार पूरी ताकत से समाजवादी पार्टी को विजयी बनाएगी।

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की नीतियां जनहित की है। समाजवादी पार्टी की सरकार में प्रदेश में विकास के कार्य हुए थे। भाजपा सरकार में तो एक यूनिट बिजली का उत्पादन नहीं हुआ। समाजवादी सरकार में जो विकास कार्य हुए थे, उन्हीं कार्यों को भाजपा अपना काम बताकर झूठी वाहवाही लूट रही है। भाजपा को सन् 2024 में केन्द्र से बेदखल करने के लिए सभी कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर पीडीए को जिताना जरूरी है। इसमें कोई कोरकसर नहीं रहनी चाहिए क्योंकि यह लोकतंत्र और संविधान बचाने की अंतिम लड़ाई है।