भ्रष्टाचारियों से बेखौफ नहीं करेंगे मुकाबला-खाबरी

192
भ्रष्टाचारियों से बेखौफ करेंगे मुकाबला-खाबरी
भ्रष्टाचारियों से बेखौफ करेंगे मुकाबला-खाबरी

बीजेपी पिछड़ों की दुहाई देकर आर्थिक घोटालेबाजों की मोदी सरकार से सांठगांठ को छुपाने का कुत्सित प्रयास कर रही। सरकार कितना भी जुल्म कर ले, ‘‘ना हम डरे हैं ना कभी डरेंगे’’ भ्रष्टाचारियों से बेखौफ डटकर मुकाबला करेंगे। भ्रष्टाचारियों से बेखौफ करेंगे मुकाबला-खाबरी

 विकास श्रीवास्तव 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की संसद सदस्यता समाप्त किए जाने को पूर्णतया मोदी सरकार का षड्यंत्र और लोकतंत्र पर घातक हमला बताया है। आज यहां लखनऊ स्थित शहीद स्मारक पर आक्रोशित हजारों कांग्रेसियों ने देर शाम तक ‘‘संकल्प सत्याग्रह’’ आयोजित कर विशाल धरना दिया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बृजलाल खाबरी जी और सीएलपी लीडर आराधना मिश्रा के नेतृत्व में हजारों कांग्रेसजनों ने राहुल गांधी की सदस्यता रद्द किये जाने पर जमकर सरकार विरोधी नारेबाजी की। सत्याग्रह के दौरान शामिल पूर्व मंत्रियों/विधायकगण और वरिष्ठ प्रदेश पदाधिकारियों ने सरकार पर तीखे हमले करते हुए अपना विरोध दर्ज कराया। दिल्ली राजघाट में चल रहे राहुल गांधी जी के ‘‘संकल्प सत्याग्रह’’ के समर्थन में उत्तर प्रदेश के समस्त जिलों में भी कांग्रेसजनों ने महापुरुषों के प्रतीक स्थल और शहीद स्मारक स्थलों पर धरना प्रदर्शन व सरकार विरोधी नारेबाजी कर अपना व्यापक समर्थन दिया। यहां लखनऊ में सत्याग्रह कार्यक्रम में पूर्व मंत्री प्रदेश प्रभारी नसीमुद्दीन सिद्दीकी और नकुल दुबे जी भी प्रमुखता से उपस्थित रहे।

प्रदेश अध्यक्ष पूर्व सांसद बृजलाल खाबरी ने मोदी सरकार पर तीखे हमले करते हुए कहा कि आज हमारे नेता पूर्व कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष मा. राहुल गांधी जी को निडरता व तथ्य के साथ सच बोलने की और जनता की आवाज बुलंद करने की कीमत चुकानी पड़ी है। हम कांग्रेसजनों का हौसला इससे पस्त होने वाला नहीं है। कांग्रेस पार्टी इस भ्रष्ट सरकार के जनविरोधी मामलों को सदैव उठाती रहेगी। मोदी सरकार की एक-एक नाकामियों को जनता के बीच प्रत्येक ब्लाक, ग्राम स्तर तक जमीन पर ले जाने के लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस संगठन व्यापक जन आंदोलन के लिए कमर कस चुका है। सरकार कितना भी जुल्म कर ले। ‘‘ना हम डरे हैं ,ना कभी डरेंगे’’ हम इन भ्रष्टाचारियों से बेखौफ डटकर मुकाबला करेंगे।

श्री खाबरी ने कहा कि मोदी सरकार विघटनकारी नीतियों के आधार पर दो हिंदुस्तान बना रही है, एक अमीरों का, एक गरीबों का। कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार ने देश को फूड सिक्योरिटी बिल के तहत मुफ्त राशन मुहैया कराने का संवैधानिक अधिकार दिया था। परंतु आज मोदी काल में मुफ्त सरकारी राशन के नाम पर अति पिछड़ों ,दलितों के आत्मीय स्वालंबन पर लगातार कुठाराघात की खबरें मीडिया,सोशल मीडिया में देखने को मिल रही है। पिछड़े वर्गों को संवैधानिक अधिकार के तहत मिलने वाले सरकारी राशन का वास्ता देकर स्वयं प्रधानमंत्री मोदी को भी चुनावी रैलियों में वोट मांगते हुए समूचे देशवासियों ने सोशल मीडिया एवं मीडिया में देखा है।

READ MORE-नेस्तनाबूत होंगे नशे के सौदागर

भ्रष्टाचारियों से बेखौफ करेंगे मुकाबला-खाबरी

कांग्रेस अध्यक्ष श्री खाबरी ने इस अवसर पर बताया कि संविधान से मिली हुई आरक्षण व्यवस्था में सभी कमजोर तबकों को समुचित सामाजिक न्याय मिल सके। इसके साथ ही राज्यवार स्थिति, उनकी राजनीतिक, सामाजिक व आर्थिक समीक्षा हो सके इसको लेकर महात्मा गांधी के जन्म दिवस 2 अक्टूबर 2017 को गठित ‘‘रोहिणी आयोग’’ का कार्यकाल मोदी सरकार ने पिछले 9 वर्षों में 15 से ज्यादा बार बढ़ा चुकी है। वहीं योगी सरकार के पिछले कार्यकाल में ही गठित जस्टिस राघवेंद्र कमेटी की 400 पन्ने की रिपोर्ट सदन में 5 साल पहले ही सार्वजनिक हो चुकी है। जिसमें पिछड़ा, अति पिछड़ा और सर्वाधिक पिछड़ा के रूप में वर्गीकृत करने की बात सामने आई। सरकार इस पूरे मामले पर पटाक्षेप कर अति पिछड़ों के हकों को मार रही है। 69 हजार शिक्षक भर्ती घोटाला इसका ज्वलंत उदाहरण है। श्री खाबरी ने आगे कहा कि संसद में जातीय जनगणना से साफ इंकार करने के बाद ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित कई दलों ने अपने आप को भाजपा गठबंधन से अलग कर लिया हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी समेत सभी राजनैतिक दल जातीय जनगणना के पक्ष में हैं।

कांग्रेस विधानमंडल दल नेता आराधना मिश्रा ने सत्याग्रह कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा कि नीरव मोदी, ललित मोदी और मेहुल चौकसी इन आर्थिक भ्रष्टाचारियों में से कोई भी पिछड़ी जाति का नहीं है। फिर भी बीजेपी पिछड़े की दुहाई देकर इन आर्थिक घोटालेबाजों की केंद्र सरकार के साथ सांठगांठ को छुपाने का कुत्सित प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि क्रोनोलॉजी समझिए, 7 फरवरी 2023 को राहुल गांधी जी ने अडानी के कारपोरेट भ्रष्टाचार पर लोकसभा में भाषण दिया, प्रधानमंत्री की नीतियों और नियति पर सवाल खड़े किए। कथित मानहानि मामले में 16 फरवरी 2023 को शिकायतकर्ता गुजरात हाई कोर्ट से खुद का ही लिया हुआ स्टे वापस लेता है। 27 फरवरी 2023 को सुनवाई शुरू, 17 मार्च निर्णय रिजर्व और 23 मार्च 2023 को निर्णय आता है कि उन्हें दो साल की सजा । 24 मार्च 2023 को आनन-फानन में राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द कर दिया गया। श्रीमती आराधना मिश्रा ने कहा कि हम मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों और देश विरोधी षंडयंत्र को बेनकाब करेंगे विश्व के सबसे बड़े आर्थिक घोटाले को उजागर करने में सदन से लेकर सड़क तक व्यापक संघर्ष करेंगे, हम चुप नहीं बैठने वाले।

नकुल दुबे ने मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाया कहा कि बीजेपी की मोदी सरकार अति पिछड़े दलितों को उनके सामाजिक राजनैतिक उत्थान से वंचित रखना चाहती है। इस सरकार में विगत 9 वर्षों से राजनैतिक षड्यंत्र के तहत लगातार पिछड़ों, अतिपिछड़ों, दलितों को मिले हुए संविधानिक अधिकारों, उनके हक हकूक को छीना जा रहा है। नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि बीजेपी की सोच है कि आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़े तबके को भारतीय राजनीति में केवल वोट बैंक तक ही सीमित रखना। श्री सिद्दीकी ने आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी का सीधा आरोप है कि पिछले 9 वर्षों से बीजेपी शासित प्रदेशों में अति पिछड़ों, दलितों को उनकी आर्थिक व सामाजिक स्थिति के आधार पर प्रताड़ित किया जा रहा है। एनसीआरबी के आकड़ों के मुताबिक बीजेपी शासित राज्यों में सबसे ज्यादा महिला, दलित उत्पीड़न के मुकदमें ही दर्ज हुए हैं। आज आरएसएस बीजेपी सरकारों द्वारा उनके संवैधानिक हकों को और आरक्षण की व्यवस्था को लगातार छीना गया है और अभी भी षड़यंत्र जारी है।

विकास श्रीवास्तव ने बताया कि आज आयोजित हुए संकल्प सत्याग्रह के दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस के समूचे नेतृत्व ने व्यापक विचार विमर्श कर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी की सदस्यता समाप्त किये जाने के पीछे मोदी सरकार की मंशा एवं षड्यंत्र को जनमानस के बीच बेनकाब करने के लिए व्यापक रणनीति तय किया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने जन मुद्दों को लेकर समूचे प्रदेश में ब्लाक से लेकर जिला मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन मशाल जलूस, राज्यपाल को ज्ञापन समेत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करके पर्दाफाश आंदोलन करेगी। श्री श्रीवास्तव ने बताया कि यह लड़ाई अब थमने वाली नहीं है।

लखनऊ, शहीद स्मारक स्थल पर आयोजित ‘‘संकल्प सत्याग्रह’’ में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पूर्व सांसद बृजलाल खाबरी, सीएलपी लीडर आराधना मिश्रा ‘‘मोना’’, प्रांतीय अध्यक्ष पूर्व मंत्री नकुल दुबे व पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व एमएलसी दीपक सिंह पूर्व मंत्री डा मसूद, पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला, सतीश अजमानी, इंदल रावत, धीरेंद्र सिंह धीरू, जिला अध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी, महानगर अध्यक्ष दिलप्रीत सिंह, डा.लालती देवी, तनुज पुनिया जी ने अपने सम्बोधन में मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों और श्री राहुल गांधी जी की संसद सदस्यता समाप्त किये जाने को लेकर भारी आक्रोश व्यक्त किया और इसे पूरी तरह से तानाशाही और आलोकतांत्रिक कदम बताया। भ्रष्टाचारियों से बेखौफ करेंगे मुकाबला-खाबरी