बलिया में घर त कौन बात का डर

146
बलिया में घर त कौन बात का डर
बलिया में घर त कौन बात का डर

आज व्यापारी और नागरिक सीना तानकर चलते हैं। योगी ने नगर निकाय के लिए बलिया में जनसभा को किया संबोधित। योगी ने कहा- बलिया में घर त कौन बात का डर। बलिया में घर त कौन बात का डर

बलिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज हमारे व्यापारी और नागरिक सीना तानकर चल रहे हैं। अपराधी गले में तख्ती बांधकर जान की भीख मांगता हुआ दिखाई देता है। पहले जिन शहरों में शोहदों का आतंक था, 2017 के बाद वही शहर सेफ सिटी के रूप में उभरकर सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश के व्यापारियों को व्यापारी कल्याण बोर्ड के माध्यम से एक लाख रुपए की बीमा सुरक्षा की गारंटी दे रही है। साथ ही साथ हम पटरी दुकानदारों को पीएम स्वनिधि योजना से जोड़ रहे हैं। विगत छह वर्षों में प्रदेश में यह परिवर्तन देखने को मिल रहा है।

योगी ने नगर निकाय चुनाव प्रचार के तहत बलिया में एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने बलिया की निर्भीकता को प्रदर्शित करती हुई कहावत ‘बलिया में घर त कौन बात का डर‘ के बारे में कहा कि यह कहावत बलिया के ओज को व्यक्त करने वाली है। योगी ने कहा जब-जब देश को जरूरत पड़ी बलिया सबसे पहले खड़ा हुआ। देश को आजादी 1947 में मिली लेकिन बलिया ने 1942 में ही खुद को आजाद घोषित कर दिया था। आपातकाल के दौरान जब लोकतंत्र के गला घोंटा जा रहा था तब जय प्रकाश नारायण के नेतृत्व में चंद्रशेखर जी जैसे इस मिट्टी के लाल देश को बचाने के लिए आगे आए।

बलिया में घर त कौन बात का डर

योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री मोदी के विजन को मिशन मानकर कार्यक्रमों को आगे बढ़ा रहा है। 2017 के पहले जिस प्रदेश में तुष्टीकरण की राजनीति होती थी आज उसी प्रदेश में प्रत्येक नागरिक के सशक्तिकरण की राजनीति हो रही है। छह वर्ष पहले जिन युवाओं के हाथों में तमंचे होते थे आज उन्हीं युवाओं के हाथों में हमारी सरकार ने टैबलेट पकड़ाया है। पूर्ववर्ती सरकारें हमारे युवाओं को कट्टा पकड़ती थीं। हमारी सरकार आज स्कूल और कॉलेज में नियमित सत्र चला करके उन्हें कलम पकड़ाने का कार्य कर रही है। हम प्रदेश के नौजवानों के टैलेंट को टेक्नोलॉजी के साथ जोड़कर उन्हें ट्रेंड कर रहे हैं। यह बदले हुए उत्तर प्रदेश की तस्वीर है।

छह वर्ष में प्रदेश के नगरीय जीवन में परिवर्तन आया है। 2017 के पहले जो नगर कूड़े के ढेर हुआ करते थे आज वह स्मार्ट सिटी के रूप में पहचाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत के साथ उत्तर प्रदेश भी बदल रहा है। बड़े-बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के कार्य हो रहे हैं। हाईवे, एक्सप्रेसवे मेडिकल कॉलेज,आईआईटी,आईआईएम,डिग्री कॉलेज,इंजीनियरिंग,पॉलिटेक्निक कॉलेज और चिकित्सालय बन रहे हैं। हर घर नल योजना के माध्यम से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है। गरीबों को आवास, शौचालय और उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिया जा रहा है।इस अवसर पर प्रदेश सरकार में मंत्री दयाशंकर सिंह, दानिश आजाद अंसारी के अलावा जिले की विभिन्न सीटों से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी भी मौजूद थे। बलिया में घर त कौन बात का डर