योगी मंत्रिपरिषद के निर्णय

जनपद गोरखपुर में जिला जेल बाईपास मार्ग के चार-लेन चैाड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कराए जाने के सम्बन्ध में।


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद द्वारा निर्णय भी लिए गए.मंत्रिपरिषद ने जनपद गोरखपुर में जिला जेल बाईपास मार्ग के चार-लेन चैाड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण (शहरी अन्य जिला मार्ग) कराए जाने के प्रस्ताव को अनुमति प्रदान कर दी है।
यह मार्ग राष्ट्रीय मार्ग सं0-24 से निकलकर राष्ट्रीय मार्ग सं0-28 के छूटे भाग के बीच संचालित यातायात हेतु प्रयुक्त होता है, जिससे यह मार्ग मुख्य शहर से गुजरने वाले महत्वपूर्ण मार्गों, गोरखपुर-महराजगंज मार्ग (राज्य मार्ग सं0-81) तथा गोरखपुर-पिपराइच मार्ग (प्रमुख जिला मार्ग सं0-573ई) को क्राॅस करता है। इस प्रकार, गोरखपुर शहर में सोनौली, महराजगंज, पिपराइच, देवरिया एवं कुशीनगर, वाराणसी से आने वाले वाहन शहर में न जाकर इसी बाईपास मार्ग का प्रयोग करते हैं, जिसके कारण वर्तमान में प्रश्नगत मार्ग पर यातायात का भारी दबाव एवं वर्ष पर्यन्त भीषण जाम की समस्या बनी रहती है।

यातायात को सुगम बनाने एवं जाम से निजात दिलाने के लिए इस कार्य को अनुमति प्रदान की गई है।मार्ग की लम्बाई 8.560 किलोमीटर है। परियोजना की प्रस्तावित लागत 19939.80 लाख रुपए है। परियोजना के अन्तर्गत सिविल कार्य की लागत 8751.28 लाख रुपए, यूटिलिटी शिफ्टिंग की लागत 4304.00 लाख रुपए है। (इसमें विशेष रूप से शहरी भाग में विद्युत डक्ट केबलिंग का कार्य प्रस्तावित है)। भूमि अध्याप्ति की लागत 4716.00 लाख रुपए है।