राजतंत्र में संन्यासी से अच्छा राजा और लोकतंत्र में संन्यासी से अच्छा मुख्यमंत्री नहीं हो सकताः डॉ निर्मल

– इतिहास में आज तक अनुसूचित जातियों से किसी मुख्यमंत्री ने नहीं किए संवाद।
– योगी आदित्यनाथ ने ऑनलाइन ट्रांस्फर योजना शुरू कर दलितों का जीता दिल।
– विकास की मुख्यधारा से हर दिन जुड़ रहा है उत्तर प्रदेश में निर्बल वर्ग।

लखनऊ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनुसूचित जाति के गरीब व्यक्तियों के सर्वांगीण विकास के लिए नवीन रोजगार छतरी योजना का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री आवास पर एक वीडियो कांफ्रेंसिंग से संवाद कर उन्हें पंडित दीन दयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना के तहत 3484 लाभार्थियों को ऑनलाइन हस्तांतरण मुख्यमंत्री ने किया है। इस दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग में मौजूद रहे अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने विकास की योजनाओं के लिए अनुसूचित जाति एवं जनजाति की ओर से मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया है। 

डॉ0 निर्मल ने आगे कहा है कि राजतंत्र में संन्यासी से अच्छा राजा और लोकतंत्र में संन्यासी से अच्छा मुख्यमंत्री हो ही नहीं सकता। यूपी के राजनीतिक इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा समाज में विपन्न दलितों के लिए अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम द्वारा संचालित नगरीय क्षेत्र के लिए दुकान निर्माण ब्याज मुक्त योजना, लॉड्री निर्माण ब्याज मुक्त योजना, टेलरिंग शॉप ब्याज मुक्त योजना तथा पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री आवास पर किया गया है। इस योजना के माध्यम से 384 परिवारों को 17 करोड़ 42 लाख रुपए की अनुदान धनराशि मुख्यमंत्री जी द्वारा लाभार्थियों के खाते में सीधे भेजी जा रही है।
डॉ. निर्मल ने आगे बताया कि रायबरेली, गोरखपुर, बस्ती, मुरादाबाद, आजमगढ़ तथा मेरठ के लाभार्थियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री ने स्वयं बातचीत कर जानकारी ली है। मुख्यमंत्री को हाशिए के समाज के लिए योजनाओं के शुभारंभ को लेकर अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने कहा कि पहली बार हाशिए के समाज के लाभार्थियों के साथ संवाद स्थापित किया जा रहा है, पहली बार मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति एवं जनजाति के समाज के लोगों के साथ चर्चा कर रहे हैं। डॉ. निर्मल ने अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम द्वारा परिवारों को इसका लाभ दिए जाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सच्चा दलित मित्र बताया है। डॉ. निर्मल ने आगे कहा कि अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम द्वारा इस योजना को हाशिए के समाज को रोजगार का अवसर मिलेगा और उनका सशक्तिकरण होगा। इस संबंध में समाज के निर्बल वर्ग के लोगों के प्रति मुख्यमंत्री की सोच और उनके कार्यों को लेकर डॉ. निर्मल ने कहा है कि राजतंत्र में संन्यासी से अच्छा राजा और लोकतंत्र में संन्यासी से अच्छा मुख्यमंत्री हो ही नहीं सकता।