बहराइच बनेगा विकास मॉडल

96

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”इस समाचार को सुने”]

बहराइच बनेगा विकास मॉडल

तराई का जिला बहराइच बनेगा विकास का मॉडल, डेढ़ हजार करोड़ से अधिक के मिले निवेश प्रस्ताव। जीआईएस-23 के पहले बहराइच के लेजर रिजार्ट में एक दिवसीय निवेशक एवं निर्यातक शिखर सम्मेलन में उमड़े उद्यमी। 69 उद्यमियों ने 1750.96 करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर लगाई अपनी मुहर, टाटा ग्रुप भी निवेश को आया आगे। टाटा ग्रुप की टीपी रिन्यूवल माइक्रोग्रेड लिमिटेड ग्रामीण क्षेत्र में सौर ऊर्जा को देगी बढ़ावा।

बहराइच/लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 10-12 फरवरी को होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के तहत आकांक्षात्मक जिला बहराइच के चहलारी घाट रोड स्थित लेजर रिजार्ट में एक दिवसीय निवेशक एवं निर्यातक शिखर सम्मेलन में ऑनलाइन और ऑफलाइन माध्यम से 69 उद्यमियों ने 1750.96 करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर मुहर लगाई, जिसमें टाटा गुप की टीपी रिन्यूवल माइक्रोग्रेड लिमिटेड ने सबसे ज्यादा 500 करोड़ के निवेश पर अपनी सहमति दी। सम्मेलन का आयोजन जिला उद्योग प्रोत्साहन एवं उद्यमिता विकास केन्द्र की ओर से इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन चैप्टर एवं उद्योग व्यापार मंडल बहराइच के संयुक्त प्रयास से आयोजित किया गया।

read more-धार्मिक और पौराणिक स्थल चित्रकूट धाम

सम्मेलन को पांच सेशन में विभाजित किया गया था, जिसमें पीपीटी के माध्यम से उद्यमियों को आकर्षित करने के लिए योगी सरकार की विभिन्न सेक्टर की नई पॉलिसियों के बारे में विस्तार से बताया गया। सेशन के तहत विभिन्न सेक्टर की पॉलिसियों में उद्यमियों की सहूलियतें, उद्यम के विकास की योजनाओं पर विस्तार से बताया गया। इस दौरान प्रश्नोत्तर सेशन का भी आयोजन किया गया, जिसमें उद्यमियों ने अपनी समस्याएं और संशय को स्पष्ट किया। इससे पहले सम्मेलन की शुरुआत मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद सांसद कैसरगंज, सांसद बहराइच एवं विधायक ने दीप प्रज्जवलन कर किया। इस दौरान देवी पाटन मंडल के कमिशनर एमपी अग्रवाल, बहराइच जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चंद्र, सीडीओ कविता मीना, जिला उद्योग उपायुक्त वीरेंद्र कुमार समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे

टाटा ग्रुप भी बहराइच में निवेश को आया आगे


शिखर सम्मेलन में आए प्रस्तावों की जानकारी देते हुए डीएम डॉ. दिनेश चन्द्र ने बताया कि टाटा ग्रुप की टीपी रिन्यूवल माइक्रोग्रेड लिमिटेड द्वारा देवी पाटन मंडल में 500 करोड़, कृष्णा कंस्ट्रक्शन एंड ट्रेडर्स द्वारा 195 करोड़, वेयर हाउस एण्ड कोल्ड स्टोरेज हेतु मलानी एग्रो फूड्स प्रोडक्ट प्रा.लि. द्वारा 5 करोड़, राइस मिल यूनिट हेतु श्याम सखा फूड एण्ड बेवरेज्स प्रा.लि. 20 करोड़, देवीपाटन एग्रो प्रा.लि. द्वारा 13 करोड़, मेसर्स तौफीक एग्रो फूड्स प्रा.लि. द्वारा 4.21 करोड़, ए.आर. बालाजी द्वारा फूड्स प्रा.लि. द्वारा 10 करोड़, गोयल इण्डस्ट्रीज़ व शिवम इण्डस्ट्रीज़ द्वारा 15-15 करोड़, जय भगवती राईस मिल, वर्मा ट्रेडर्स व श्रीराम ट्रेडर्स द्वारा 2-2 करोड़, श्री श्याम इण्डस्ट्रीज़ द्वारा 3 करोड़ का निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुआ है।

इसी प्रकार फ्लोर मिल एण्ड दाल मिल यूनिट हेतु राधा मोहन दीपक फूड प्रा.लि. 20 करोड़, आटा प्लान्ट हेतु कृष्ण कुमार द्वारा 2 करोड़, प्रमोद कुमार सिंह द्वारा मैन्यूफैक्चरिंग ऑफ सिमेन्ट बाउण्ड्री वाल हेतु 2 करोड़ तथा गुड़ प्लान्ट हेतु 10 करोड़, श्रीश्याम जी फ्लाई एैश ब्रिक उद्योग द्वारा सभी प्रकार के फ्लाई एैश इण्टरलाकिंग ब्रिक्स यूनिट हेतु 5 करोड़, टी.एम.टी. रिंग यूनिट हेतु 4 करोड़, कैटल फीड यूनिट तथा सभी प्रकार सीड्स निर्माण यूनिट हेतु 5-5 करोड़, श्री निशा इण्टरप्राइजेज़ द्वारा बारबेड वायर यूनिट हेतु 1 करोड़, केन क्रशिंग यूनिट हेतु पारले बिस्क्टि प्रा.लि. 15 करोड़, मस्टर्ड साल्वेन्ट एण्ड राइस ब्राण्ड रिफाइनरी प्लान्ट हेतु अरोहुल इण्टरप्राइजेज़ द्वारा 50 करोड़, आक्सीज़न गैस रिफ्यूलिंग प्लान्ट हेतु कन्हैया इण्डस्ट्रीज़ द्वारा 3.5 करोड़ समेत 69 फर्मों ने 1750.96 करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर मुहर लगाई।

डॉ. दिनेश चंद्र, जिलाधिकारी बहराइच

सम्मेलन में यह रहे शामिल


सम्मेलन में सांसद बहराइच अक्षयवर लाल गोंड, विधायक महसी सुरेश्वर सिंह, विधायक पयागपुर सुभाष त्रिपाठी, विधायक सदर बहराइच अनुपमा जायसवाल, विधायक बलहा सरोज सोनकर, एमएलसी बहराइच डॉ. प्रज्ञा त्रिपाठी, विधायक नानपारा राम निवास वर्मा और जिला पंचायत अध्यक्ष मंजू सिंह आदि मौजूद रहीं। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता आईएएस आयुक्त देवी पाटन मंडल एमपी अग्रवाल ने किया। इस दौरान जिला अधिकारी डॉ. दिनेश चंद्र सिंह, उपायुक्त उद्योग वीरेंद्र कुमार, संयुक्त आयुक्त उद्योग देवीपाटन मंडल एचपी सिंह, मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


बहराइच जनपद अकांक्षात्मक जिला है, यहां विकास को गति देना और आर्थिक गतिविधियों को मजबूत करना हमारी प्राथमिकता है, इस प्राथमिकता को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन और मुख्य सचिव के पर्यवेक्षण में हमने एक छोटा सा प्रयास किया है। ये प्रयास विकास की गतिविधियों को हासिल करने में मील का पत्थर साबित होगा। यहां आए निवेशकों ने जो हमारे साथ कमिटमेंट किया है, उसमे जरूर सफलता मिलेगी, ऐसा हमे पूरा विश्वास है।

निवेशकों से बातचीत

शैलेश कुमार सिंह, प्रोपराइटर, कृष्णा कंस्ट्रक्शन एंड ट्रेडर्स


टाटा ग्रुप की टीपी रिन्यूवल माइक्रोग्रेड लिमिटेड फर्म 500 करोड़ से देवी पाटन मंडल में सौर ऊर्जा के प्लांट लगाएगी। इसका उद्​देश्य ग्रामीण इलाकों के लघु उद्योग, जो आज भी सुचारू रूप से संचालन के लिए डीजल पर निर्भर हैं, उन्हे सौर ऊर्जा के जरिये संचालित किया जा सके। इससे जहां एक ओर लघु उद्योग द्वारा बनाए जा रहे प्रोडक्ट की लागत कम होगी, वहीं दूसरी ओर डीजल पर निर्भरता भी कम होगी और पॉल्यूशन स्तर घटेगा।

मैंने आज इस सम्मेलन में 195 करोड़ का इंटेंट किया है। इंटेंट के तहत बहराइच में दाल, चावल और मसाले की मिलों को लगाया जाएगा। इसके साथ ही यहां पर ऑयल के प्लांट लगाएंगे। योगी सरकार पिछली सरकारों की अपेक्षा उद्यमियों पर ज्यादा ध्यान दे रही है। इसी का नतीजा है कि प्रदेश की ही नहीं, देश के अन्य राज्यों और विदेशों के निवेशक यहां पर अपने प्राेजेक्ट लगाने के लिए बड़ी संख्या में आ रहे हैं। योगी सरकार उद्यमियों को डायरेक्ट सब्सिडी के माध्यम से प्रोत्साहित कर रही है जो काफी सराहनीय है।

[/Responsivevoice]

बहराइच बनेगा विकास मॉडल