सितम्बर 2024 तक एयरपोर्ट का निर्माण पूर्ण करें-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने जनपद गौतमबुद्धनगर में निर्माणाधीन नोएडा इण्टरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट, जेवर के निर्माण कार्यों एवं रनवे का स्थलीय निरीक्षण किया। अधिकारियों को निर्माण स्थल पर मशीनरी व संसाधन बढ़ाए जाने एवं निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश। नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट की स्थापना से औद्योगिक अवसंरचना का विकास होगा, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे, विनिर्माण एवं निर्यात को प्रोत्साहन मिलेगा, हवाई यातायात में सुगमता के साथ ही, पर्यटन में उल्लेखनीय वृद्धि होगी। एयरपोर्ट के निकट कई औद्योगिक सेक्टरों का विकास यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में हुआ, आने वाले दिनों में यह क्षेत्र औद्योगिक और सर्विस सेक्टर की गतिविधियों का सबसे बड़ा केन्द्र बनेगा। एयरपोर्ट का विकास 02 चरणों में होगा, प्रथम चरण में यह एयरपोर्ट 02 रनवे का होगा, दूसरे चरण में बढ़कर 05 रनवे का हो जाएगा। वर्तमान में टर्मिनल बिल्डिंग और रनवे का निर्माण प्रारम्भ हो चुका, सितम्बर 2024 तक एयरपोर्ट का निर्माण पूर्ण हो जाएगा।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद गौतमबुद्धनगर में निर्माणाधीन नोएडा इण्टरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट, जेवर के निर्माण कार्यों एवं रनवे का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्माण स्थल पर मशीनरी व संसाधन बढ़ाए जाने एवं निर्माण कार्य में तेजी लाए जाने के निर्देश दिए। नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट की स्थापना से औद्योगिक अवसंरचना का विकास होगा, जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। विनिर्माण एवं निर्यात को प्रोत्साहन मिलेगा तथा हवाई यातायात में सुगमता के साथ ही, पर्यटन में भी उल्लेखनीय वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि इस एयरपोर्ट के निकट कई औद्योगिक सेक्टरों का विकास यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में हुआ है। आने वाले दिनों में यह क्षेत्र औद्योगिक और सर्विस सेक्टर की गतिविधियों का सबसे बड़ा केन्द्र बनेगा।


एयरपोर्ट का विकास 02 चरणों में होगा। प्रथम चरण में यह एयरपोर्ट 02 रनवे का होगा। दूसरे चरण में बढ़कर 05 रनवे का हो जाएगा। 02 रनवे का यह एयरपोर्ट वार्षिक 07 करोड़ यात्रियों की क्षमता का होगा और इस पर लगभग 30 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। प्रथम चरण में वर्ष 2023-24 में 01 करोड़ 20 लाख वार्षिक यात्रियों की क्षमता का यह एयरपोर्ट प्रारम्भ में 01 रनवे का होगा, जो वर्ष 2031 में बढ़कर 03 करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता और 02 रनवे का हो जाएगा। वर्ष 2036 में यह पांच करोड़ और वर्ष 2040 में 07 करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का हो जाएगा। वर्तमान में टर्मिनल बिल्डिंग और रनवे का निर्माण प्रारम्भ हो चुका है। सितम्बर, 2024 तक एयरपोर्ट का निर्माण पूर्ण हो जाएगा।


मुख्यमंत्री को यह भी अवगत कराया गया कि एयरपोर्ट के विस्तारीकरण के क्रम में दूसरे चरण में 03 रनवे और बनाए जाएंगे। तीसरा रनवे 1365 हे0, चौथा रनवे 1318 हे0 और पांचवां रनवे 735 हे0 क्षेत्र में बनाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि तीसरे रनवे के निर्माण के लिए आवश्यक 1365 हे0 भूमि के अधिग्रहण के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने अनुमति के साथ बजट भी उपलब्ध करा दिया है और अधिग्रहण की प्रक्रिया भी प्रारम्भ हो चुकी है।इस अवसर पर औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’, मण्डलायुक्त/मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण सुरेन्द्र सिंह, जिलाधिकारी सुहास एल0वाई0 सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।