विकास ही भाजपा का धर्म-डा0 दिनेश शर्मा

  • पिछली सरकारो  में माफिया व्यापारी एवं उद्योग पतियों से वसूली के लिए पर्ची से भेजते थे  संदेश ।
  • यूपी की जनता ने विकास की सुगन्ध को सूंघ लिया है और अब  अपराधियों  की यहां दाल नही गलने वाली  ।
  • विकास ही भाजपा का धर्म है और विकास ही भाजपा का सपना  ।
  • जिन्हे अभी आ रहे है सुहाने सपने उन्हे 10 मार्च के बाद आएगे हार के सपने  ।
  • भाजपा सभी के जातियों के हित को समाहित करनेवाला एक विभिन्न रंगों का गुलदस्ता
  • पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का कार्य किया मोदी सरकार ने किया।

 
उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने जनपद गौतम बुद्ध की जेवर विधानसभा तथा बुलंदशहर की डिबाई विधानसभा क्षेत्र में आयोजित जनसभाओं में कहा कि  पहले यूपी में माफिया व्यापारी एवं उद्योगपतियों से वसूली के लिए पर्ची के जरियें संदेश भेजते थे  पर अब समय बदला है और माफिया को उल्टा संदेश है कि यदि उन्होंने कोई हरकत की तो वे यूपी नही रह पाएंगे, सीधे जेल जाएंगे।  मुजफ्फर नगर और कैराना के दंगों के आरोपी , माफिया और अपराधी जो पिछले पांच साल में बिलों में घुसे रहते थे वे बिलों से बाहर एक बार फिर आ गए हैं क्योंकि विरोधी दल उन्हें अथवा उनके सहयोगी या रिश्तेदारों को अपने दल का प्रत्याशी बना रहे हैं। इन माफियाओं और अपराधियों को प्रत्याशी बनाकर वे यूपी की शांतिप्रिय जनता को चुनौती देना चाहते हैं। विपक्षी दलों को इससे बाज आना चाहिए। आज माफिया यदि जेलों से बाहर भी आता है तो वह योगी बाबा माफ करो की गुहार लगाता है। उत्तर प्रदेश की जनता ने विकास की सुगन्ध को सूंघ लिया है और अब अपराधी या अपराधियों के रिश्तेदारों की यहां दाल नही गलनेवाली है। उन्होंने कहा कि विकास ही भाजपा का धर्म है और विकास ही भाजपा का सपना है।विरोधियों को  अभी भले ही सुहावने सपने आ रहे हों किंतु दस मार्च के बाद हार के सपने आनेवाले हैं। उनका कहना था कि इस चुनाव के बाद सपा बसपा और कांग्रेसी अपने अस्तित्व को बचाने का प्रयत्न करते दिखाई पड़ेंगे । कांग्रेस एक जर्जर ऐतिहासिक इमारत की तरह है। जनता का समर्थन ना होने के कारण कभी भी समाप्त हो सकती है भाजपा आज दुनिया में सबसे अधिक सदस्यता वाली पार्टी है जो सबको साथ लेकर चलती है। चुनाव को  लोकतंत्र का एक यज्ञ बताते हुए  डा शर्मा ने कहा कि इस यज्ञ में भाजपा के पक्ष में वोट देने का काम प्रदेश के हर विकास और शांतिप्रिय इंसान को करना है।

गौतमबुद्धनगर  व  बुुलन्दशहर मे आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि – भारतीय जनता पार्टी सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास के अनुसार काम करती है। उन्होंने मीडिया के प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि जहां तक ब्राह्मण का सवाल है तो वे स्वयं अध्यापक होने के नाते कर्म से तथा जाति से ब्राह्मण हैं लेकिन पहले भारतीय है हिंदुस्तानी हैं बीजेपी का कार्यकर्ता होने के नाते सबका साथ सबका विकास के साथ काम करते हैं विपक्ष का दुष्प्रचार मतदाताओं में जातिगत भ्रम डालने के लिए है ब्राह्मण श्रेष्ठ संस्कार व भारतीय संस्कृति का प्रतिपादन एवं अपने देवी देवताओं का सम्मान चाहता है, वह सबके कल्याण का काम करता है।  ब्राह्मण वह है जो सर्वे भवन्तु सुखिना को आत्मसात करते हुए लोगों की मदद करे। उनका यह भी कहना था कि ब्राह्मण मात्र एक जाति न होकर  एक संस्कार है व जीवन जीने की पद्धति है।वह सबके सुख में अपने सुख की अनुभूति करता है तथा वही सभी के लिए जीवन से लेकर मरण तक मंगल कामना करता है।इसीलिये वह उसी के साथ रहेगा जो पार्टी सभी का सम्मान करती है भाजपा जातियों में विश्वास नही करती है तथा पार्टी के लिए सबका साथ सबका विकास ही मूल मंत्र है जेा एक गुलदस्ते की तरह है जिसमें सभी जाति व वर्ग के हित समाहित हैं।पार्टी ने हर वर्ग को समान स्थान देने का काम किया है तथा विपक्षी दलों की तरह जातिवाद नही फैलाया है।उन्होंने दावा किया कि सपा, बसपा, कांग्रेस, एमआईएम आदि भाजपा का मुकाबला नही कर पा रहे हैं। भाजपा सरकार ने विकास कार्य में कोई भेदभाव नही किया । अगर राशन बटा है तो वह समान रूप से सभी  वर्गों में  बटा है।उन्होंने लखनऊ की घटना का जिक्र किया जिसमें राशन की लाइन में लगी एक महिला से जब उन्होंने पूछा कि क्या हर महीने राशन मिल रहा है तो उसने कहा कि मोदी और योगी  सरकार का शुक्र है  किबगैर भेदभाव के कार्य हो रहे है वह चैन से सो पा रही है।उनका कहना था कि सरकारी योजनाओं का लाभ अनुसूचित पिछड़े एवं गरीब और अन्य वर्ग में जिस प्रकार पहुंचा है यह उसी का परिणाम है  कि वे अब खुलकर भाजपा को वोट देने की वकालत करने लगे हैं। उनका कहना था सरकार ने कोरोनाकाल में करोड़ों को लोगों को इज्जतघर, लाखों लोगों को मकान , करोड़ो लोगों को गैस और बिजली के कनेक्शन तथा करोड़ों को किसान सम्मान निधि देने का काम किया है किंतु इसमें कभी भी अपना पराया नही किया।किसानों को नीम कोटेड यूरिया और खाद सुगमता से उपलब्ध है जब कि इसके लिए पिछली सरकार में उन्हें लाठियां खानी पड़ती थीं। शिक्षा के विकास के लिए सैकड़ों स्कूल खोलें हैं। जेवर में बननेवाला एयर पोर्ट इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था और विकास में मील का पत्थर साबित होगा। यहां पर बननेवाली फिल्म सिटी प्रदेश के युवाओं के सपनों को नये पंख देगी।

  उप मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के बच्चों को आधुनिक तरीके से शिक्षा मिल सके इसके लिए परिषदीय विद्यालयों में स्मार्ट क्लासेज की व्यवस्था की गई। क्षेत्रीय विधायक द्वारा कराये गये कार्यों की सराहना करते हुए शर्मा ने कहा कि विधायक ने अपने क्षेत्र के विकास के लिए कोई कोर कसर नही छोड़ी है। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले जब भाजपा सरकार ने प्रदेश का कार्यभार संभाला था तब उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था  11 लाख करोड़ की थी जो अब बढ़कर 22 लाख करोड़ की हो गई है। सत्ता संभालते समय जो बेरोजगारी 17 प्रतिशत थी वह अब घटकर 4 प्रतिशत पर आ गई है। सरकार ने बिना किसी विवाद के साढ़े 4 लाख लोगों को नौकरी दी हैं तथा इसकी सूचना उनके मोबाइल पर दी गई है। नाॅयडा आज आईटी का हब बन रहा है आईटी की  बड़ी बड़ी कम्पनियां दुनिया के अन्य देशों को छोड़कर यूपी में निवेश के लिए आ रही हैं। भारत आज  सबसे अधिक मोबाइल बनानेवाला दूसरा देश बन गया है। भारत में बननेवाले 100 मोबाइल में से 70 आज उत्तर प्रदेश में बन रहे हैं।

पिछड़ा वर्ग को लेकर सियासत करनेवालों पर पलटवार करते हुए शर्मा ने कहा कि पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का कार्य मोदी सरकार ने ही किया था। पिछड़ों का सही मायने में कल्याण भाजपा सरकार के समय ही हुआ है। उनका कहना था कि बिजली को लेकर सस्ती राजनीति कर रहे लोगों के समय में गांव के लोगों  को ट्रांसफार्मर बदलवाने में पसीने छूट जाते थे और महीने भर बाद यदि वे बदले जाते थे तो उसके लिए पैसा देना पड़ता था । उस सरकार में बिजली का आना खबर होती थी जबकि अब बिजली का जाना खबर होती है। आज शहरों में 24 घंटे बिजली आ रही है जब कि उस समय बिजली कब आएगी इसका पता ही नही रहता था। तब गांव में केवल 6 सात घंटे बिजली आती थी जब कि आज16 से 22 घंटे बिजली आती हैशहरों में 24 घंटे बिजली आती है। बच्चों के भविष्य को संवारने के लिए इस सरकार ने नकलविहीन परीक्षा के साथ ही रोजगार को शिक्षा से जोड़ा है जब कि पिछली सरकारों में नकल उद्योग बन गया था। वर्तमान सरकार ने शिक्षा माफिया का सफाया कर शिक्षा व्यवस्था को पुनः पटरी पर लाने का काम किया है।  कार्यक्रम में जीवक के विधायक धीरेंद्र सिंह राजीव राजौरा विजय भाटी तथा डिबाई विधानसभा में प्रत्याशी चंद्रपाल सिंह उमेश शर्मा पूर्व विधायक हितेश कुमारी पूर्व विधायक राम सिंह उपस्थित थे