नो वेण्डिंग जोन में किसी तरह का अतिक्रमण न होने दें-जिलाधिकारी

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला उद्योग बन्धु, व्यापारी बन्धु एवं श्रमिक बन्धु की बैठक सम्पन्न।

प्रतापगढ़। जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला उद्योग बन्धु, व्यापारी बन्धु एवं श्रमिक बन्धु की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में उपायुक्त उद्योग दिनेश कुमार चौरसिया द्वारा ऋण योजनाओं क्रमशः प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद योजना की अद्यतन प्रगति से अवगत कराया गया। जिलाधिकारी द्वारा भारतीय स्टेट बैंक में प्रेषित आवेदन पत्रों पर कार्यवाही न करने पर नाराजगी व्यक्त की गई और एलडीएम को निर्देश दिया गया कि प्रेषित आवेदन पत्रों को शाखा प्रबन्धकों एवं आवेदकों के साथ आगामी शनिवार को एक बैठक आयोजित किया जाये एवं बैठक में निस्तारित प्रकरणों से उसी दिन उनको अवगत कराया जाये। बैठक में निवेश मित्र पोर्टल की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सभी विभागों से समस्त स्वीकृति/अनापत्ति प्रमाण पत्र/अनुमोदन आनलाइन पोर्टल के माध्यम से ही जल्द से जल्द कराने का निर्देश दिया। उपजिलाधिकारी सदर एवं कुण्डा के अन्तर्गत 02 प्रकरण निस्तारण अवधि से ऊपर हो जाने पर इनको जल्द से जल्द निस्तारित कराने का निर्देश दिया गया।


व्यापारियों द्वारा विद्युत विभाग से सम्बन्धित प्रकरण उठने पर अधिशासी अभियन्ता विद्युत रानीगंज के अनुपस्थित रहने पर चर्चा नही की जा सकी जिससे जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता विद्युत के बिना किसी पूर्व सूचना के अनुपस्थित रहने पर स्पष्टीकरण जारी करने का आदेश दिया गया। इसके अतिरिक्त व्यापारियों द्वारा पार्किंग की समस्या एवं अतिक्रमण हटाने की समस्या उठायी गयी जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद मुदित सिंह को नियमित रूप से अतिक्रमण हटाने हेतु एक टीम बनाने का निर्देश दिया। अतिक्रमण के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को निर्देशित किया गया कि नो वेण्डिंग जोन में किसी तरह का अतिक्रमण न होने पाये। अतिक्रमण हटाने के पूर्व पहले माइक से इसकी घोषणा कर दी जाये तथा लोगों से संवाद स्थापित करने के बाद अतिक्रमण हटाने का अभियान चलाया जाये। पार्किंग के सम्बन्ध में जिलाधिकारी द्वारा अधिशासी अधिकारी मुदित सिंह को निर्देशित किया गया कि सभी व्यापार मण्डल के प्रमुखों के साथ विचार विमर्श कर वैकल्पिक प्रस्ताव प्रस्तुत करें।


श्रमिक बन्धु की बैठक में सहायक श्रमायुक्त द्वारा बताया गया कि कारखानों में तथा वाणिज्यिक अधिष्ठानों में कार्य करने वाले श्रमिकों के लिये श्रम कल्याण परिषद उत्तर द्वारा 8 योजनायें क्रमशः ज्योतिबा फुले कन्यादान योजना, डा0 ए0पी0जे0 अब्दुंल कलाम प्राविधिक शिक्षा सहायता योजना, गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार राशि योजना, दत्तोपंत ठंगड़ी मृतक अन्त्येष्टि सहायता योजना, राजा हरिश्चन्द्र मृतक आश्रित सहायता योजना, चेतन चौहान क्रीड़ा प्रोत्साहन योजना, महादेवी वर्मा पुस्तक क्रय आर्थिक सहायता योजना, श्रवण कुमार श्रमिक परिवार तीर्थ यात्रा योजना संचालित की जा रही है। जिलाधिकारी ने सहायक श्रमायुक्त को निर्देशित किया कि कारखाना संचालकों तथा उद्योग व्यापार मण्डल के साथ पृथक से बैठक करके योजनाओं की जानकारी उपलब्ध करायें तथा इसका व्यापक प्रचार प्रसार करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि कारखाना वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों में कार्य करने वाले श्रमिकों को न्यूनतम मजदूरी जो शासन द्वारा निर्धारित की गयी है अनिवार्य रूप से इसका भुगतान किया जाये। बैठक में पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) त्रिभुवन विश्वकर्मा, एलडीएम अमित वाजपेयी, उपायुक्त उद्योग दिनेश कुमार चौरसिया, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार, उपायुक्त जीएसटी राम भुवन सहित बैंकों के जिला समन्वयक और प्रबन्धक, उद्यमी अनुराग खण्डेलवाल, रोशनलाल ऊमरवैश्य, उमा प्रकाश अग्रहरि आदि उपस्थित रहे।