अंततः सांसद रितेश पाण्डेय बसपा छोड़ भाजपा में शामिल

24

कयासों अटकलों के बीच अंततःसांसद रितेश पाण्डेय बसपा छोड़ भाजपा में हुये शामिल। विधायक पिता क्या सपा से करेंगे किनारा।

=अम्बेडकरनगर से बसपा सांसद रितेश पांडेय के पहले समाजवादी पार्टी में जाने की चर्चाये काफी तेज थी। लंबे समय से पार्टी में उनकी नाराजगी इसी बात से लगाई जा रही थी कि उन्होंने काफी दिनों से अपनी गाड़ी से बसपा का नीला झंडा उतार दिया था और वे बिना किसी झंडे की गाड़ी लेकर चल रहे थे। अम्बेडकरनगर से लोकसभा चुनाव वे सपा के झंडे तले लड़ना चाहते थे। लेकिन सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कुर्मी बाहुल्य जनपद की इस लोकसभा सीट पर कुर्मी प्रत्याशी का कार्ड खेल सभी को चौका दिया है और यहां पर लालजी वर्मा का बिरादरी में खासा प्रभाव भी है और वे सपा से कटेहरी विधायक भी हैं।जिन्हें सपा ने इस लोकसभा सीट से पार्टी प्रत्त्याशी बनाया हुआ है।पिछला लोकसभा चुनाव भाजपा ने यहां से मुकुट बिहारी वर्मा को लड़ाया था। लेकिन उन्हे पटकनी देकर बसपा से रितेश पाण्डेय सांसद बने थे।माना जा रहा है कि मुस्लिम वोट खिसकने के डर से सपा कुर्मी वोटरों पर अपना दांव लगा रही हैं।

दिल्ली में भाजपा, जवाइनिग के बाद उनका लोकसभा टिकट भी पार्टी से पक्का माना जा रहा है। इसलिए इस्तीफ़ा देने के अलावा उनके पास कोई अन्य दूसरा विकल्प भी नही था। अम्बेडकर नगर जिले के जललालपुर विधान सीट से समाजवादी पार्टी से सांसद पिता राकेश पाण्डेय विधायक हैं। क्या अब वह भी पार्टी छोड़ेंगे लोगो मे यह चर्चा आम है। क्या बसपा सुप्रीमो इस सीट पर कोई बड़ा खेला कर सकती हैं।इसको लेकर अटकलों का बाजार गर्म है।

आज भाजपा केंद्रीय कार्यालय।नई दिल्ली पर भाजपा की राष्ट्रवादी विचारधारा एवं नीतियों से प्रभावित होकर आये अंबेडकर नगर लोकसभा सांसद श्री रितेश पांडेय जी ने भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री श्री तरुण चुघ जी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व चुनाव प्रभारी श्री बैजयंत पांडा जी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री भूपेंद्र सिंह चौधरी जी, उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक जी के समक्ष भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।