12 नवम्बर तक सड़कों के गड्ढामुक्ति करें-CDO

64
12 नवम्बर तक सड़कों के गड्ढामुक्ति करें-CDO
12 नवम्बर तक सड़कों के गड्ढामुक्ति करें-CDO

मुख्य विकास अधिकारी ने सड़कों के गड्ढामुक्ति एवं सेतुओं के निर्माण की समीक्षा की।सड़कों के गड्ढामुक्ति कार्य को 12 नवम्बर तक पूर्ण कर लिया जाये। 12 नवम्बर तक सड़कों के गड्ढामुक्ति करें -मुख्य विकास अधिकारी

प्रतापगढ़। मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया ने कल देर सायंकाल कैम्प कार्यालय के मानस सभागार में वित्तीय वर्ष 2023-24 में जनपद की सड़कों को गड्ढामुक्त कराये जाने एवं निर्माणाधीन सेतुओं के प्रगति की समीक्षा की। बैठक में लोक निर्माण विभाग के प्रान्तीय खण्ड के अधिशासी अभियन्ता ने बताया कि वर्ष 2023-24 में लोक निर्माण विभाग द्वारा 420 मार्ग जिनकी लम्बाई 878.59 किमी0 है को गड्ढामुक्त किया जाना है जिसके सापेक्ष 26 मार्ग को गड्ढामुक्त कर लिया गया है। खण्डवार समीक्षा में पाया गया कि प्रान्तीय खण्ड द्वारा 210 मार्ग के सापेक्ष 05 मार्ग, निर्माण खण्ड-1 द्वारा 65 मार्ग के सापेक्ष 03 मार्ग तथा निर्माण खण्ड-2 द्वारा 145 मार्ग के सापेक्ष 18 मार्ग गड्ढामुक्त किया गया है। अधिशासी अभियन्ता प्रान्तीय खण्ड द्वारा बताया गया कि वर्षा ऋतु के कारण कार्य की प्रगति प्रभावित है। गड्ढामुक्त कार्य की प्रगति सन्तोषजनक नही पायी गयी जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के समस्त अधिशासी अभियन्ताओं को निर्देशित किया कि लक्षित सभी मार्गो को शासन द्वारा निर्धारित समय सीमा दिनांक 12 नवम्बर 2023 तक पूर्ण कर लिया जाये।


ग्रामीण अभियन्त्रण विभाग की समीक्षा में बताया गया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में 04 मार्ग जिनकी लम्बाई 3.70 किमी0 है के गड्ढामुक्त का कार्य किया जाना है जिन्हें निर्धारित समय तक पूर्ण कर लिया जायेगा। सिंचाई विभाग की समीक्षा में अधिशासी अभियन्ता सिंचाई शारदा सहायक खण्ड-51 द्वारा बताया गया कि शारदा सहायक खण्ड-51 द्वारा 03 मार्ग जिनकी लम्बाई 22.867 किमी0 है के गड्ढामुक्ति का कार्य कराया जाना है जबकि सिंचाई खण्ड नोडल द्वारा 13 मार्ग के नवीनीकरण का कार्य कराये जाने की कार्ययोजना है जिसके सापेक्ष धनराशि अभी तक प्राप्त नही हुई है, धनराशि प्राप्त होने के उपरान्त गड्ढामुक्ति का कार्य प्राथमिकता पर पूर्ण कर लिया जायेगा।


वर्तमान वित्तीय वर्ष में उपलब्ध धनराशि के सापेक्ष 33 मार्ग को गड्ढामुक्त कराये जाने की कार्ययोजना तैयार की गयी है जिसके सापेक्ष 12 मार्ग गड्ढामुक्त कर लिया गया है। सहायक अभियन्ता द्वारा बताया गया कि उनके विभाग से यह निर्देश प्राप्त हुये है कि जिला पंचायत की सड़कों का सर्वे कराकर जितने मार्ग गड्ढायुक्त है उन्हें पैचलेस कराने के लिये अतिरिक्त धनराशि की मांग कर ली जाये, इस क्रम में सर्वे का कार्य कराया जा रहा है। अविलम्ब मांग पत्र प्रेषित कर दिया जायेगा। मुख्य विकास अधिकारी ने शासन द्वारा निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत सभी लक्षित मार्गो को पैचलेस कराने हेतु निर्देशित किया। मण्डी परिषद की समीक्षा में उप निदेशक मण्डी परिषद द्वारा बताया गया कि वर्ष 2023-24 में गड्ढामुक्तिकरण हेतु 14 मार्ग की कार्ययोजना तैयार कर परिषद मुख्यालय को प्रेषित कर दी गयी है परन्तु अभी तक कार्ययोजना की स्वीकृति प्राप्त नही हुई है। इस सम्बन्ध में बिना अनुमोदन के कार्ययोजना प्रेषित किये जाने पर मुख्य विकास अधिकारी ने अप्रसन्नता व्यक्त करते हुये अविलम्ब प्रेषित कार्ययोजना की प्रति अविलम्ब प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।


जनपद में निर्माणाधीन सेतुओं एवं पहुॅच मार्ग के प्रगति की समीक्षा की गयी जिसमें उप परियोजना प्रबन्धक सेतु निर्माण इकाई द्वारा बताया गया कि जनपद में स्वीकृत/निर्माणाधीन सेतुओ की संख्या 12 है जिसके सापेक्ष 05 सेतुओं पर पहुॅच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य के सेतु अंश का कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष सेतुओं के सम्बन्ध में बताया गया कि 02 नये स्वीकृत रेल उपरिगामी सेतु की जीएडी मुख्यालय से प्राप्त हो गयी है विस्तृत ड्राइंग होने पर कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा। अवशेष 05 सेतुओं के सम्बन्ध में बताया गया कि त्रिलोकपुर विसई-देवली मार्ग पर सई नदी घाट सेतु, खजुरी-बरेन्द्र मार्ग पर सई नदी खजुरी घाट सेतु एवं पहाड़पुर-रामनगर मार्ग के गांव पहाड़पुर के मध्य सई नदी ताला घाट सेतु का कार्य मार्च 2024 एवं छतरपुर-रायतारा मार्ग के तेजगढ़ घाट सेतु व ग्राम साकेत नगर-तुलसीराम का पुरवा मार्ग के मध्य सई नदी तुलसीघाट का पुरवा घाट सेतु का कार्य दिसम्बर 2024 तक पूर्ण हो जायेगा।


समीक्षा में बताया गया कि 05 सेतुओं जिनके सेतु अंश का कार्य पूर्ण हो चुका है के पहुॅच मार्ग के निर्माण हेतु भूमि के अधिग्रहण हेतु प्रभावित कृषकों के भूमि की रजिस्ट्री की कार्यवाही लोक निर्माण विभाग द्वारा की जा रही है। पहुॅच मार्ग निर्माण के लिये प्रभावित कास्तकारों की रजिस्ट्री की स्थिति सन्तोषजनक नहीं पायी गयी इस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड एवं निर्माण खण्ड-2 को निर्देशित किया कि मुख्य राजस्व अधिकारी/अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) से समन्वय स्थापित कर प्रभावित कास्तकारो की सूची सम्बन्धित तहसीलों से प्राप्त कर लें, साथ ही प्रत्येक सेतु के पहुॅच मार्ग के लिये प्रभावित कास्तकारों की रजिस्ट्री की अन्तिम तिथि तय कर 03 दिवस के अन्तर्गत अर्थ एवं संख्याधिकारी को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। इसके अतिरिक्त उप परियोजना प्रबन्धक को सेतुओं के पहुॅच मार्ग के कार्य की समय सारिणी निर्धारित कर प्राथमिकता पर पूर्ण एवं जनोपयोगी करने के निर्देश दिये गये। बैठक में मुख्य राजस्व अधिकारी राकेश गुप्ता, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी राजेश कुमार सिंह, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियन्ता व अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे। 12 नवम्बर तक सड़कों के गड्ढामुक्ति करें -मुख्य विकास अधिकारी