पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल

111
पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल
पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल

अखिलेश यादव और मजलिस प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पुलिस अभिरक्षा में हत्या होने पर सरकार पर सवाल उठाए।

प्रयागराज। प्रदेश के चर्चित माफिया अतीक अंसारी और उसके भाई अशरफ की पुलिस की मौजूदगी में तीन हमलावरों से तड़ातड़ा गोलियां बरसाकर हत्या कर दी। पुलिस ने तीनों हमलावरों को गिरफ्तार कर दिया है। पत्रकारों से बातचीत के दौरान हत्या किए जाने की वारदात कैमरों में कैद हो गई है और वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। भारी पुलिस बल की मौजूदी मेंं अतीक और अशरफ की हत्या होने पर विपक्षी दलों ने सरकार पर सवाल उठाए हैं। इस बीच मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ भी सक्रिय हो गए हैं और सभी पहलु की निगरानी के लिए अफसरों को कड़ी हिदायत दी गई है। पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल

पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल
पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल

अतीक अहमद और अशरफ के कातिल, तीनों आरोपी यूपी के तीन अलग-अलग जिलों से ताल्लुक रखते हैं।बड़ा माफिया बनना है। लवलेश तिवारी बांदा का रहने वाला है, अरुण मौर्य हमीरपुर का निवासी है।तीसरा आरोपी सनी कासगंज जनपद से है।

मेडिकल को ले जाते वक्त हुई हत्या

खबरों के मुताबिक माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को पुलिस बल की मौजूदगी में मेडिकल के लिए मेडिकल कालेज लाया गया था। पुलिस वैन से उतरने के दौरान वहां मौजूद मीडिया कर्मियों ने बातचत शुरू कर दी थी। मीडिया की तरफ से बातचीत की वीडियोग्राफी भी की जा रही थी। उसी दौरान एक हमलावर भीड़ से निकला और अतीक के सिर पर तमंचा सटाकर फायर कर दिया।गोली लगते ही अतीक जमीन पर गिर पड़ा और पुलिस व मीडिया कर्मियों में भगदड़ मच गई। बचने के लिए अशरफ भी जमीन पर लेट गया तब तीन हमलावर आए और तड़ातड़ फायरिंग करके दोनों की हत्या कर दी। खबरों में कहा गया है कि काल्विन अस्पताल के पास यह हमला हुआ है। इस हमले में कांस्टेबल भी घायल हुआ है जिसका नाम मान सिंह है। सिपाही को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मौके से तीनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है। घायल अतीक व अशरफ को अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया है। पुलिस ने जब हमलावर को दबोचा तो वह जय श्रीराम के नारे लगा रहा था।

शासन में हड़कंप, प्रयागराज में पुलिस तैनात

पुलिस अभिरक्षा में हत्या से शासन में हड़कंप मच गया है। प्रदेश में पुलिस विभाद के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है। सीएम योगी ने प्रमुख सचिव गृह को संजय प्रसाद को प्रयागराज भेजा है। सीएम ने प्रदेशा की कानून व्यवस्था को लेकर सूबे के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई है। प्रयागराज में हाई अलर्ट घोषित करके संवेदनशील इलाकों में पुलिस और पीएसी को तैनात कर दिया है। आरएएफ और स्वाट टीमों को भी शहर में तैनात किया गया है। यबपी पुलिस का कहना है कि तीन हमलावरों को गिरफ्तार करके पूछताछ ती जा रही है। हत्या के कारणों और साजिश की जांच की जा रही है। इस बीच सपा मुखिया अखिलेश यादव और मजलिस प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करके पुलिस अभिरक्षा में हत्या होने पर सरकार पर सवाल उठाए हैं। प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर रमित शर्मा ने कहा है कि कानून व्यवस्था सामान्य है। संवेदनशाील इलाकों में पुलिस गश्त को बड़ा दिया गया है। उन्होंने प्रयागराज में किसी तरह की घटना होने से इन्कार कर दिया है। इस बीच स्पेशल डीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने प्रदेश की पुलिस को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। पुलिस अभिरक्षा में हत्या सरकार पर सवाल