आखिर कब शुरु होगा निर्माण कार्य..?

93
आखिर कब शुरु होगा निर्माण कार्य..?
आखिर कब शुरु होगा निर्माण कार्य..?

आखिर कब शुरु होगा इंटरलाकिंग निर्माण कार्य?जबकि वित्तीय वर्ष 2021-22 की कार्य योजना मे था सम्मलित था कार्य। आपको बताते चलें कि मामला जनपद बाराबंकी के विकास खंड मसौली की ग्राम पंचायत बड़ागांव के मोहल्ला नालीपार का है। मोहल्ला नालीपार के कई रास्ते जर्जर व दयनीय अवस्था मे है जबकि विगत् वित्तीय वर्षों मे करोड़ों रुपए का धन राज्य सरकार व केन्द्र सरकार द्वारा ग्रामपंचायत बड़ागांव को आवंटित किया जा चुका है। विकास व साफ सफाई की द्रष्टि से दशकों से मोहल्ला नालीपार वंचित है। गौरतलब है कि प्रत्येक वर्ष ग्राम पंचायत बड़ागांव मे माह जनवरी मे धनुषयग मेले का आयोजन किया जाता है। जो तीन-चार दिन चलता है जिसमे सभी समुदाय के लोग एकत्र होकर श्री राम जी की बारात गांव के कई मोहल्लों से होते हुए निकालते है जिसमे मोहल्ला नालीपार भीआता है। आखिर कब शुरु होगा निर्माण कार्य..?

योगी सरकार में अधिकारी मस्त हैं और जनता त्रस्त है। जनपद बाराबंकी विकासखंड मसौली की ग्राम पंचायत बड़ागांव के मोहल्ला नाली पर में वर्ष 2021-22 की कार्य योजना में सम्मिलित कार्य को अभी तक पूरा नहीं कराया गया है। जब अधिकारी से बात की जाती है तो वह बताते हैं कि यह कार्य योजना में सम्मिलित नहीं है। जबकि कार्य का कराया जाना है कि 2022 की योजना में सम्मिलित है। जिसका एक्टिव कोड 53173910 है। इससे तो यही प्रतीत होता है कि योगी के अधिकारी को किसी का भय नहीं है। वह निर्भय होकर जनता को त्रस्त करने के कार्य में मस्त है। जबकि उक्त कार्य के न होने की शिकायत मुख्यमंत्री से लेकर विकासखंड तक की जा चुकी है फिर भी अधिकारियों के कान में जूं नहीं रेंग रहे हैं। अधिकारियों द्वारा बताया जाता है की धन न होने की वजह से कार्य नहीं हो पा रहा है। जबकि 27 नंबर 2023 को पांचवें वित्त में 934752 रुपए ग्राम पंचायत को प्राप्त हुआ तथा 25 नंबर 2023 को 15वें वित्त में प्राप्त हुआ है। आईजीआरएस संदर्भ संख्या 15176230259490 का संज्ञान लेते हुए बड़ा गांव श्री जयेश राम ग्राम विकास अधिकारी ने अपनी आख्या द्वारा अवगत कराया कि उक्त इंटरलॉकिंग मरम्मत का कार्य वित्तीय वर्ष 2023-24 की कार्य योजना में सम्मिलित नहीं है। ऐसी स्थिति में तत्काल कार्य का कराया जाना संभव नहीं है।

बताते चलें मोहल्ला नालीपार का रास्ता जहां से श्री राम जी की बारात का गुजरना होता है लगभग 80 मीटर का मार्ग अधिवक्ता जफर किदवाई के आवास के सामने से लेकर कर्बला/स्वo जाकिर शाह के घर तक जर्जर अवस्था व जल भराव की गाथा दशकों से सुनाता रहता है। रास्ता जर्जर होने से श्री राम जी बारात रहीम के दरवाजे न गुजर सकी। रास्ते की दुर्दशा व जल भराव के कारण से श्री राम जी की बारात पूर्ण भ्रमण नही कर सकी और आधे रास्ते से ही वापस जाना पड़ा। जबकि पूर्व मे जर्जर रास्ते को लेकर मोहल्ला नालीपार वासियों व अधिवक्ता जफर किदवाई ने ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव को मुख्यमंत्री महोदय को सम्बोधित करते हुए लिखित मे प्रार्थना पत्र दिया था। जिसके जवाब मे ग्राम विकास अधिकारी जैसराम द्वारा रास्ते को कार्य योजना के वर्तमान वित्तीय वर्ष मे सम्मिलित ना होना बताया है। जबकि वित्तीय वर्ष 2021-22 की कार्य योजना मे सम्मिलित होना बताया जा रहा है। जोकि यह एक जांच का विषय है। दशकों पड़े जर्जर रास्ते को लेकर ग्राम पंचायत बड़ागांव के मोहल्ला नालीपार वासियों ने व अधिवक्ता जफर किदवाई ने पुनः मुख्यमंत्री को प्रार्थना पत्र दिया है। आखिर कब शुरु होगा निर्माण कार्य..?