अयोध्या जिले में यादगार रहेगा एसएसपी आशीष तिवारी का कार्यकाल

एसएसपी आशीष तिवारी का कार्यकाल अयोध्या जिले में रहेगा यादगार चुनौतियों से निपटने को हमेशा मिले तैयार।

राम जनम यादव

अयोध्या जिले में बतौर एसएसपी आशीष तिवारी का कार्यकाल महकमे सहित आमजन में रहेगा यादगार।उनके स्थानान्तरण की खबर से लोग एकाएक भौचक रह गये।उन्होंने पुलिस प्रणाली में अमूलचूल परिवर्तन कर महकमे को आमजन में विश्वास दिलाने को पुलिस बीट प्रणाली को चुस्त दुरुस्त किया था।जमीन सम्बन्धी विवादों को चिन्हित कर उसका निस्तारण कराने का भरसक प्रयास किया था।शासन ने कानपुर बिकरु कांड सहित कुछ अन्य प्रकरण से सबक लेकर कानून ब्यवस्था को और चुस्त दुरुस्त बनाने को मायावती सरकार में लागू की गई  डीआईजी स्तर के अधिकारी को एसएसपी के रूप में तैनात किये जाने की प्रक्रिया को अमल में लाकर  चित्रकूट में तैनात रहे पुलिस उपमहानिरीक्षक दीपक कुमार को अयोध्या का एसएसपी बनाया है।और यहां तैनात रहे एसएसपी आशीष तिवारी को पुलिस अधीक्षक रेलवे झांसी के पद पर भेजा है। 

   आशीष तिवारी ने गत वर्ष जून में अयोध्या के एसएसपी का कार्यभार संभाला था। उनका कार्यकाल निर्विवादित रहा है। आईआईटी के छात्र रहे आशीष तिवारी ने पुलिसिग को स्मार्ट बनाने में तकनीक का बेहतर इस्तेमाल किया। छह वेबसाइट और कई वाट्सएप ग्रुप बनाकर पुलिसिग को कागजों के ढेर से बाहर निकाला और इसी के बल कर जनता से संवाद का बेहतर रास्ता भी निकाला। गत वर्ष नवंबर माह में आए सुप्रीम फैसले के दौरान भी अयोध्या में सौहार्द की डोर अटूट बनी रही और अमन चैन रहा इसके पीछे आशीष तिवारी की कुशल रणनीति ही थी। फैसले के बाद राममंदिर को लेकर उपजी परिस्थितियों को उन्होंने बखूबी संभाला और बड़े-बड़े आयोजनों को सफलता पूर्वक संपन्न कराया। सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने के लिए उन्होंने ग्रीन ग्रुप भी बनाया। अयोध्या के साधु संतों राजनैतिक दलों से जुड़े लोगों ,समाज सेवियों,पत्रकारों,आमनागरिको ने उनके कार्यो की सराहना की है।

राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होने के साथ ही नगरी की सुरक्षा और उसके पर्यवेक्षण को लेकर शासन की प्राथमिकताएं भी बदलने लगी हैं। जिले में पहली बार डीआईजी स्तर के अधिकारी को यहां एसएसपी के रूप में तैनात किया गया है। चित्रकूट में तैनात रहे पुलिस उपमहानिरीक्षक दीपक कुमार को अयोध्या का एसएसपी बनाया गया है। यहां तैनात रहे एसएसपी आशीष तिवारी को पुलिस अधीक्षक रेलवे झांसी बनाया गया है।

आशीष तिवारी ने गत वर्ष जून में अयोध्या के एसएसपी का कार्यभार संभाला था। उनका कार्यकाल निर्विवादित रहा है। आईआईटी के छात्र रहे आशीष तिवारी ने पुलिसिग को स्मार्ट बनाने में तकनीक का बेहतर इस्तेमाल किया। छह वेबसाइट और कई वाट्सएप ग्रुप बनाकर पुलिसिग को कागजों के ढेर से बाहर निकाला और इसी के बल कर जनता से संवाद का बेहतर रास्ता भी निकाला। गत वर्ष नवंबर माह में आए सुप्रीम फैसले के दौरान भी अयोध्या में सौहार्द की डोर अटूट बनी रही और अमन चैन रहा इसके पीछे आशीष तिवारी की कुशल रणनीति ही थी। फैसले के बाद राममंदिर को लेकर उपजी परिस्थितियों को उन्होंने बखूबी संभाला और बड़े-बड़े आयोजनों को सफलता पूर्वक संपन्न कराया। सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने के लिए उन्होंने ग्रीन ग्रुप भी बनाया।