विद्युत बिल एक निश्चित अन्तराल पर प्रेषित किए जाएं-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग के कार्यों के तहत स्मार्ट मीटर, बिलिंग और राजस्व प्राप्ति की समीक्षा की,ओवर बिलिंग, मीटर जम्पिंग आदि सम्बन्धी शिकायतों को प्राथमिकता से दूर किए जाने के निर्देश।उपभोक्ता को विद्युत बिल एक निश्चित अन्तराल पर प्रेषित किए जाएं। स्मार्ट मीटर स्थापना के कार्यों में तेजी लायी जाए। 
स्मार्ट मीटर की स्थापना में उत्तर प्रदेश अन्य राज्यों की अपेक्षा आगे।सौभाग्य योजना तथा दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना सहित अन्य अधूरे विद्युत कार्यों को पूरा करने के निर्देश।किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन उपलब्ध कराए जाएं और विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित होविद्युत समाधान शिविरों का व्यापक स्तर पर आयोजन करते हुए उपभोक्ताओं की समस्याओं व शिकायतों का समाधान किया जाए।


लखनऊ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर ऊर्जा विभाग के कार्यों के तहत स्मार्ट मीटर, बिलिंग और राजस्व प्राप्ति की समीक्षा की। उन्होंने मीटर जम्पिंग, ओवर बिलिंग आदि सम्बन्धी शिकायतों को प्राथमिकता से दूर किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि उपभोक्ता की संतुष्टि आवश्यक है। विद्युत समाधान शिविरों का व्यापक स्तर पर आयोजन करते हुए उपभोक्ताओं की समस्याओं व शिकायतों का समाधान किया जाए। इन आयोजनों के सम्बन्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित हो, जिससे उपभोक्ता को जानकारी प्राप्त हो सके।

उन्होंने कहा कि उपभोक्ता को विद्युत बिल एक निश्चित अन्तराल पर प्रेषित किए जाएं।मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि स्मार्ट मीटर स्थापना के कार्यों में तेजी लायी जाए। इन कार्यों में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि किसी प्रकार की गड़बड़ी या शिकायत की आशंका न रहे। उन्होंने कहा कि स्मार्ट मीटर की स्थापना में उत्तर प्रदेश अन्य राज्यों की अपेक्षा आगे है। उन्होंने विद्युत राजस्व प्राप्ति के सम्बन्ध में कहा कि उपभोक्ता का किसी भी प्रकार का उत्पीड़न न करते हुए यह कार्य किया जाए।

ज्यादा लम्बे समय से बकाया बिजली बिलों का ओ0टी0एस0 प्रणाली के अन्तर्गत समाधान किए जाने पर विचार करते हुए किस्तवार राजस्व प्राप्ति की जाए।मुख्यमंत्री ने सौभाग्य योजना तथा दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना सहित अन्य अधूरे विद्युत कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विद्युत सम्बन्धी कार्यों की थर्ड पार्टी जांच करायी जाए। उन्होंने कहा कि विद्युत के सम्बन्ध में किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। उन्हें प्राथमिकता से ट्यूबवेल कनेक्शन उपलब्ध कराए जाएं और विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित हो।

मुख्यमंत्री को प्रस्तुतीकरण के माध्यम से अपर मुख्य सचिव ऊर्जा अरविन्द कुमार ने स्मार्ट मीटर, बिलिंग तथा राजस्व प्राप्ति के सम्बन्ध में किए जा रहे कार्यों की प्रगति से अवगत कराया। इनके सम्बन्ध में मुख्यमंत्री जी ने आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा, ऊर्जा राज्यमंत्री रमाशंकर सिंह पटेल, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।