जातीय संरक्षण से बढ़ रहे अपराध-अखिलेश

राजेन्द्र चौधरी

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश अपराध प्रदेश बन गया है। उत्तर प्रदेश में अपराधिक घटनाओं की बाढ़ आ रही है लेकिन जीरो टॉलरेंस वाली भाजपा सरकार अपराधमुक्त होने का ढोल पीटकर खुद की वाहवाही करने में मगन है। महिलाएं, दलित, पिछड़े सभी सताए जा रहे हैं। बच्चियों की जिंदगी से अमानवीय खिलवाड़ विचलित करने वाला है। सत्ता संरक्षित अपराधियों में पुलिस प्रशासन का खौफ नहीं रह गया है। अपराधी पुलिस पर भी हमलावर हो रहे है।


भाजपा राज में जातीय संरक्षण से भी अपराध बढ़ रहे हैं। अलीगढ़ में दलित परिवार की बेटियां समुदाय विशेष के लोगों द्वारा छेड़खानी से तंग आकर पलायन करने को मजबूर हैं।पीलीभीत में कक्षा 12 की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना पर पुलिस की संवेदनहीनता की हद थी कि थाने में पीड़ित परिवार को नौ घंटे पुलिस बिठाए रखी। जहांगीराबाद में चारा लेने गई नाबालिग किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म हुआ। मऊ चित्रकूट थाना क्षेत्र में एक चार साल की बच्ची को बिस्कुट दिलाने का लालच देकर एक युवक ने दुष्कर्म किया। मोहम्मदी खीरी में एक 15 साल की किशोरी से पांच युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया, लड़की की हालत गम्भीर है।


कुशीनगर जनपद के नेबुआ नौरंगिया थाना क्षेत्र के बेलवा गांव में एक युवक ने घर में घुसकर पड़ोसी महिला की गर्दन चाकू से रेत दी। एक 14 साल के लड़के के बड़े भाई का हत्यारोपित मुख्यमंत्री जी की हेल्पलाइन में कार्यरत बताया जाता है। जिस दिन मुख्यमंत्री जी लखीमपुर खीरी के दौरे पर थे उसी दिन वहां दलित बालिका के साथ अपराधियों ने गैंगरेप किया।
उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था के सभी दावे खोखले साबित हो चुके हैं। बहन-बेटियों की अस्मिता से रोज खिलवाड़ हो रहा है। भाजपाई सत्ता के नशे में चूर हैं। भाजपा राज में महिलायें सुरक्षित नहीं है। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार की विदेशों तक में बदनामी हो रही है।