ईपीएस-95 पेंशनरों के साथ विश्वासघात

110

ईपीएस-95 पेंशनरों के साथ विश्वासघात

बजट में ईपीएस-95 पेंशनरों के साथ विश्वासघात किया गया है ।

लखनऊ I देशभर में लगभग 70 लाख ईपीएस-95 पेंशनर्स जिन्हें औसतन 1171 रू0 मासिक पेंशन मिल रही है जो केंद्र सरकार और राज्य सरकार के सार्वजनिक उपक्रमों प्राइवेट संस्थाओं कोआपरेटिव सेक्टर से सम्बध्द रहे हैं ,इस बजट में न्यूनतम पेंशन 7500 रू. महीना बढ़ने की आस लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे थे, क्योंकि उन्हें दो बार प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री ने आश्वासन दिया था तथा श्रम मंत्री बार-बार शीघ्र ही न्यूनतम पेंशन बढ़ाने का वायदा कर रहे थे ।

मोदी सरकार के इस कार्यकाल के अंतिम पूर्ण बजट में उनके लिए कोई घोषणा न होने से वह अपने को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। ईपीएस-95 पेंशनर पिछले 6 वर्षों से न्यूनतम पेंशन बढ़ाने की मांग को लेकर देशभर में आन्दोलन कर रहे हैं, उनके साथ केंद्र सरकार ने विश्वासघात किया है ।जिसके लिए अब बड़ा आंदोलन ही एक रास्ता बचा है ।

ईपीएस-95 पेंशनरों के साथ विश्वासघात