ग्रामीण महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ें-केशव प्रसाद मौर्य

160
ग्रामीण महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ें-केशव प्रसाद मौर्य
ग्रामीण महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ें-केशव प्रसाद मौर्य

ग्रावों /गांवों के पार्को में स्थित बाबा साहब डॉ0 भीमराव अंबेडकर एवं अन्य महापुरुषों की प्रतिमाओं को रखा जाये साफ एवं स्वच्छ ग्राम चौपालों के आयोजन से पूर्व ग्राम में चलाया जाये विशेष स्वच्छता अभियान चकमार्ग, चारागाह तथा सरकारी भूमि पर अवैध कब्जों की शिकायतों को प्राथमिकता के साथ निस्तारित किया जाये। प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण के महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ने हेतु प्रेरित किया जाये। मनरेगा के अन्तर्गत जल संरक्षण की दिशा में अधिक से अधिक कार्य कराये जाये। मनरेगा के अन्तर्गत कराये गये उत्कृष्ट कार्यो की अभिलेखीय डाक्यूमेंट्री तैयार की जाये। गौशालाओं में संरक्षित गौवंश के गोबर से समूह की महिलाओं द्वारा उपले तैयार कराये जांय। सरकारी कार्यालयों में आगन्तुकों व फरियादियों के साथ कार्मिकों द्वारा अच्छा व्यवहार किया जाय। ग्रामीण महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ें-केशव प्रसाद मौर्य

झांसी/लखनऊ। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक शुक्रवार प्रत्येक विकासखण्ड की दो ग्राम पंचायतों में आयोजित हो रही ग्राम चौपालों के आयोजन में चौपाल से एक दिन पूर्व सम्बन्धित ग्राम में 01 घण्टे का वृहद स्वच्छता अभियान चलाया जाये, साथ ही सम्बन्धित ग्राम में मुनादी कराकर चौपाल की सूचना ग्रामवासियों को दी जाये। उन्होने कहा कि ग्रामो में स्थित पार्को में बाबा साहब डॉ0 भीमराव अंबेडकर एवं अन्य महापुरुषों की प्रतिमाओं को साफ एवं स्वच्छ रखा जाये, जिससे हमारी युवा पीढ़ी को महापुरुषों के त्याग एवं बलिदान की जानकारी प्राप्त हो सके, चौपाल में अधिकारी इस कार्य का निरीक्षण भी सुनिश्चित करें।


उप मुख्यमंत्री ने कहा कि तहसील स्तर पर जिला प्रशासन के अधिकारी माह में एक बार जनप्रतिनिधियों के साथ समन्वय बैठक अनिवार्य रुप से अवश्य करें, जिससे आम जनमानस की शिकायतों का निराकरण सरकार की मंशा के अनुरुप पूर्ण हो सके। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना -ग्रामीण के अन्तर्गत लाभार्थियों का चयन पूर्ण पारदर्शिता के साथ किया जा सके, साथ ही लाभार्थीपरक योजनाओं के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन में बाधक बनने वाले भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध प्राथमिकता के साथ कार्यवाही अमल में लायी जाये, जिससे लाभार्थियों को इन योजनाओं का लाभ प्राप्त करने में किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।


उप मुख्यमंत्री ने भूमाफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही के अन्तर्गत निर्देश दिये कि चकमार्ग, चारागाह तथा सरकारी भूमि पर अवैध कब्जों की शिकायतों को प्राथमिकता के साथ विशेष अभियान चलाकर निस्तारित किया जाये, जिससे भूमाफियाओं के प्रयास पूर्णरुप से ध्वस्त हो सके। इस दौरान उन्होने कहा कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत हर घर नल जल योजना के तहत निर्माणाधीन परियोजनाओं का निर्माण कार्य निर्धारित समय सीमा के भीतर गुणवत्तापूर्ण तरीके से पूरा करते हुये ग्रामवासियो को निर्बाध शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाये, साथ ही ग्रामवासियों को पेयजल के सदुपयोग हेतु जागरुक भी किया जाये, जिससे वह जल संरक्षण के पुण्य कार्य में सहयोगी बन सके। उन्होने कहा कि पेयजल परियोजनाओं के निर्माण कार्य में प्रयोग निर्माण सामग्री की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाये तथा ग्राम में पाइपलाइन बिछाने हेतु खोदी गयी सड़कों के मरम्मत का कार्य भी कराया जाये, जिससे ग्रामवासियों को आवागमन में किसी प्रकार की असहजता का सामना न करना पड़े।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की समीक्षा के दौरान उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण के महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ने हेतु प्रेरित किया जाये, जिससे हमारे देश के मा0 प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में संचालित 02 करोड़ लखपति दीदी बनाने की योजना में भी इस जनपद का योगदान पूर्ण हो सके। उन्होने कहा कि विभिन्न विभागों के अन्तर्गत संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में योगदान देने वाली स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के योगदान की सूची तैयार की जाये, जिससे उन्हें भविष्य में और अधिक अवसर प्राप्त हो सकें।उन्होने कहा कि समूह के अन्तर्गत पुष्टाहार उत्पादन इकाई के माध्यम से पोषाहार तैयार करने वाली महिलाओं का खाद्य प्रसंस्करण विभाग में पंजीकरण कराकर समूह की महिलाओं को सोलर पावर से संचालित पुष्टाहार उत्पादन इकाई स्थापित करने हेतु सरकार की मंशानुरुप आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी जाये, जिससे ग्राम में विद्युत आपूर्ति की समस्या के कारण पोषाहार उत्पादन में आने वाली बाधाओं का निराकरण हो सके।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य झांसी सर्किट हाउस में आयोजित बैठक में विकास योजनाओ के क्रियान्वयन की समीक्षा करते हुए।

गौवंश संरक्षण की समीक्षा के दौरान उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि जनपद में सड़कों पर विचरण कर रहे गौवंश को गौशालाओं में संरक्षित कर उनका भरण पोषण किया जाये, जिससे अन्ना गौवंश की समस्या पर पूर्णरुप से विराम लग सके। उन्होने कहा कि गौशालाओं में संरक्षित गौवंश के गोबर के निस्तारण हेतु समूह की महिलाओं द्वारा गोबर के उपले तैयार कराकर मुक्तिधाम में अन्तिम संस्कार प्रयोग में लाये जायें, जिससे गोबर का सुव्यवस्थित तरीके से निस्तारण हो सके।


उपमुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि मनरेगा में संचालित योजनाओं में 60:40 के अनुपात का अनुपालन सुनिश्चित कर ग्रामीणों को आजीविका के संचालन में सुअवसर प्रदान किये जाये, जिससे ग्रामवासी अपनी आजीविका पूर्ण कर सम्मान के साथ अपना विकास कर देश की उन्नति में सहयोगी बन सके। उन्होने कहा कि मनरेगा के अन्तर्गत जल संरक्षण की दिशा में अधिक से अधिक कार्य कराये जाये, साथ ही मनरेगा के अन्तर्गत कराये गये उत्कृष्ट कार्यो की अभिलेखीय डाकूमेंट्री भी तैयार की जाये। उन्होने कहा कि मनरेगा में कार्य करने वाले श्रमिकों का भुगतान राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों की बीसी सखी के रूप में चयनित महिलाओं के माध्यम से कराया जाये। इसके साथ ही विद्युत सखियों द्वारा विद्युत बिल कलेक्शन किये जा रहे योगदान से आम जनमानस को जागरुक किया जाये तथा लोगों को विद्युत सखियों को सहयोग प्रदान करने हेतु प्रेरित भी किया जाये।


उप मुख्यमंत्री द्वारा सरकार की योजनाओं के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन में जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की गयी, साथ ही अधिकारियों को इसी लगन के साथ कार्य कर सरकार और जनप्रतिनिधियों के बीच समन्वय स्थापित करने हेतु निर्देशित भी किया गया। उन्होंने कहा कि समस्त विभागीय अधिकारी अपने विभाग से सम्बन्धित कार्य एवं उपलब्धि सम्बन्धी प्रविष्टियां सी एम डेशबोर्ड पर अनिवार्य रुप से दर्ज कराये, जिससे समीक्षा के समय जिला प्रशासन की प्रगति मा0 मुख्यमंत्री जी के समक्ष यथावत रुप से प्रस्तुत हो सके। विभागीय कार्यालयों में आने वाले फरियादियों की समस्याओं का समुचित समाधान ससमय गुणवत्तापरक तरीके से कराया जाये, साथ ही आगन्तुक फरियादियों के साथ कार्मिकों द्वारा अच्छा व्यवहार किया जाये, जिससे सरकार के सुशासन का संदेश अन्तिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक पहुंच सके। बैठक में सांसद झांसी-ललितपुर क्षेत्र अनुराग शर्मा, जिलाध्यक्ष जमुना प्रसाद कुशवाहा, जिला पंचायत अध्यक्ष पवन कुमार गौतम,जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश एस0,मुख्य विकास अधिकारी जुनैद अहमद सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे। ग्रामीण महिला लाभार्थियों को स्वयं सहायता समूह से जोड़ें-केशव प्रसाद मौर्य